Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutलोकार्पण के बाद भी पुलिस हाईटेक थाने में शिफ्ट होने से वंचित

लोकार्पण के बाद भी पुलिस हाईटेक थाने में शिफ्ट होने से वंचित

- Advertisement -
  • आठ कदम की दूरी से आठ माह में भी नहीं बिजली कनेक्शन नही मुहैया

जनवाणी संवाददाता |

रोहटा: तीन बीघे में सात करोड़ रुपए की लागत से जिस रोहटा थाने का तीन दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में लोकार्पण किया था। उस थाने में सीएम के लोकार्पण के बाद भी पुलिस का नये थाने में एंट्री करना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। थाने में रंगाई-पुताई व सफाई के काम पूरा होने के बाद अभी इंटरलॉकिंग और बिजली कनेक्शन की समस्या मुंह बाए हुए खड़ी है। जिसे लेकर पुलिस थाने में प्रवेश करने से अंधेरे की वजह से कतरा रही है।

रविवार को जिस रोहटा थाने का लोकार्पण सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया था। उस तीन बीघे में सात करोड़ रुपए की लागत से बने नए थाने में अभी एंट्री करने में पुलिस के सामने कई समस्याएं खड़ी हैं। जिसके चलते इस वर्ष पुलिस नये थाने में शिफ्ट होने में अड़चन आ सकती हैं।

दरअसल मेरठ-बड़ोत रोड पर पूठखास गांव में तीन बीघा जमीन पर सात करोड रुपए की लागत से शासन स्तर से प्रदेश का दूसरा हाईटेक थाना बनाकर तैयार कर दिया है। लेकिन इसमें कुछ कमियों और खामियों के चलते पुलिस पिछले एक साल से एंट्री करने से बार-बार रुक जाती है।

पहले परिसर में इंटरलॉकिंग रंगाई-पुताई का काम अधर में रहने के कारण,तो अब परिसर में बिजली का कनेक्शन नहीं हो पाने के चलते पुलिस के लिए थाने में प्रवेश करना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। बताया गया कि लगभग नौ महीने पहले थाना बनकर तैयार हो चुका था और मार्च माह में पुलिस को इस थाने में प्रवेश करना था। इंटरलॉकिंग व टाइल्स व बिजली के कनेक्शन नहीं होने के कारण तब मामला टल गया था।

अब तीन दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने सात करोड़ रुपए की लागत से बने इस हाईटेक थाने में पुलिस के प्रवेश करने के लिए लोकार्पण तो कर दिया, लेकिन अभी भी पुलिस को इस नए थाने में प्रवेश करने में अड़चन खड़ी हो रही हैं।

थाना परिसर में इंटर लॉकिंग का काम अधूरा पड़ा है,तो वहीं दूसरी ओर आठ महीने पहले कार्यदाई संस्था निर्माण ईकाई की ओर से बिजली कनेक्शन के लिए आठ कदम की दूरी पर स्थित बिजलीघर में ऑनलाइन अप्लाई किया गया था। पिछले आठ माह में आठ कदम की दूरी पर स्थित बिजली घर से यहां बिजली का कनेक्शन नहीं हो पा रहा है।

इस बारे मे इंस्पेक्टर उपेंद्र सिंह ने बताया कि बिजली का कनेक्शन मुहैया नही हो पाने के कारण थाने में शिफ्ट होने में समस्या है।

हालांकि इस संबंध में बिजली ठेकेदार की ओर से बताया कि आठ महीने पहले अप्लाई किया जा चुका था। पावर कॉरपोरेशन विभाग की हिला हवाली के लेकर चलते बिजली कनेक्शन अभी तक चालू नहीं किया गया है। जबकि इसके विपरीत पावर कॉरपोरेशन के एक्सईएन योगेश कौशिक ने बताया कि उनके पास ऑनलाइन अप्लाई करके कनेक्शन के लिए आवेदन किया जाता है जो आवेदन किया गया था उसे विभाग की ओर से तय समय सीमा एक सप्ताह के अंदर वेरीफाई कर दिया गया था। इसमें विभाग की ओर से किसी तरह की कोताही नहीं की गई है। यह केवल कनेक्शन अप्लाई करने वाले के स्तर पर मामला लटका हुआ है। इसमें विभाग की कोई खामी या गलती नहीं है।

बहरहाल जो भी हो नये थाने में पुलिस के शिफ्ट होने में अब आठ माह से बिजली कनेक्शन के अप्लाई होने के बाद अभी तक लाइट चालू नहीं होने के कारण नए थाने में पुलिस के शिफ्ट होने में अड़चनें खड़ी हो गयी हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि इस वर्ष पुलिस का नये अपने थाने में प्रवेश करना मुश्किल हो सकता है। इसे लेकर एक तरह से मुख्यमंत्री के लोकार्पण के बाद भी बिजली पुलिस के सामने नए थाने में एंट्री के नाम पर अभी अंधेरा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments