Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutविशु हत्याकांड में पुलिस की हत्यारोपी से मुठभेड़

विशु हत्याकांड में पुलिस की हत्यारोपी से मुठभेड़

- Advertisement -
  • गांव में वर्चस्व और टशनबाजी को लेकर हुई थी हत्या, देर रात पुलिस ने किया गिरफ्तार, दूसरा फरार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: हस्तिनापुर क्षेत्र मवाना गणेशपुर नहर के पास बुधवार देर रात हस्तिनापुर पुलिस और एसओजी टीम की विशु हत्याकांड के आरोपियों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान बाइक सवार हत्यारोपियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। जिसमें पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक हत्यारोपी पैर में गोली लगने से घायल हो गया। वहीं, दूसरा आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। पुलिस की गिरफ्त में आये हत्यारोपी अनस ने बताया कि उसने विशु की हत्या टशनबाजी व वर्चस्व को लेकर की थी।

19 16

होली वाले दिन विशु ने कई लोगों के साथ मारपीट की थी। इसका बदला लेने के लिए उसने और गांव के शहनजीब व एक अन्य ने विशु की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मुठभेड़ में घायल विशु के हत्यारोपी अनस को अस्पताल में भिजवाया। वहीं, पुलिस ने हत्यारोपियों से एक बाइक और पिस्टल बरामद की है। तीन दिन पूर्व थाना क्षेत्र के गांव पलड़ा में रामवीर के इकलौते पुत्र 24 वर्षीय विशु की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

झूठे मुकदमे दर्ज कराने का आरोप

ग्रामीणों ने राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर से कहा कि पुलिस ने मवाना थाने में 30 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, हस्तिनापुर थाने में 15 लोगों के खिलाफ नाम दर्ज मुकदमे कराय हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस के उच्च अधिकारियों से बात करेंगे।

राज्यमंत्री और एमएलसी पहुंचे पलड़ा

बुधवार को राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर और एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पलड़ा गांव पहुंचे। पीड़ित परिवार के लोगों को सांत्वना देकर हर संभव मदद का आश्वासन दिया। राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर ने एसपी देहात कमलेश बहादुर और एसडीएम मवाना अखिलेश यादव से बातचीत करते हुए कहा कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाए और मामले का खुलासा कर मुख्य आरोपियों को जेल भेजा जाए। एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज ने भी उचित कार्रवाई कराने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर उनके साथ आकाश गुर्जर, अंकित गुर्जर, मनीष गुर्जर आदि मौजूद रहे।

युवक की गर्दन काटकर हत्या, शव जंगल में फेंका

रोहटा: क्षेत्र के एक गांव के जंगल में सिर कटी युवक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने के प्रयास किए, लेकिन शिनाख्त नहीं हो सकी। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात में पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

थाना क्षेत्र के गांव चिंदौड़ीखास निवासी अक्षय उर्फ लाला का कैथवाड़ी संपर्क मार्ग पर ट्यूबवेल है। ट्यूबवेल के पास ईख के खेत में बुधवार सुबह कुछ कुत्ते घूमते हुए दिखाई दिए। कुत्तों के खेत में घुसने को बार-बार देख वहां से गुजर रहे ग्रामीण भी वहां पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि खेत में एक गर्दन कटी लाश पड़ी है। जिसे कुत्ते नोंच रहे हैं। ग्रामीणों ने इसकी सूचना रोहटा पुलिस को दी।

सूचना मिलने पर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और खेत में पड़ी लाश की गर्दन तलाश करने का प्रयास किया। हालांकि कई घंटों की मशक्कत के बाद भी शव से गायब गर्दन नहीं मिली। पुलिस ने आसपास के ग्रामीणों को बुलाकर शव की पहचान कराने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद पुलिस ने शव का अज्ञात में पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

थाना प्रभारी रविंद्र कुमार सिंह ने बताया कि शव दो दिन पुराना लग रहा है और हत्या करके यहां फेंका गया है। फिलहाल युवक के शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है। मामला दर्ज कर जांच पड़ताल की जा रही है। मामले का शीघ्र खुलासा कर दिया जाएगा।

शव देख बौखलाए एसओ पकड़ा गया सफेद झूठ

चिंदौड़ीखास के जंगल में बुधवार को मिले गर्दन के युवक कटे शव के मामले में एसओ रोहटा बौखला गए। जब उनसे मीडिया कर्मियों ने इस बाबत पूछताछ की तो उन्होंने कहा कि वे सूचना पर मौके पर बाद में पहुंचे थे। इससे पहले कल्याणपुर पुलिस चौकी इंचार्ज ने शव को अज्ञात में पंचनामा भरकर भेज दिया था। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि युवक की गर्दन नहीं काटी गई है।

केवल पहचान मिटाने के लिए चेहरा जलाया गया है। जबकि मौके पर पड़ा गर्दन कटा शव इस बात के साफ दिखाई दे रहा था। दोनों प्रकरण को लेकर एसओ का झूठा बयान सामने आया। फिर बाद में फोटो जारी किया गया। जिसमें खुद एसओ गर्दन कटे शव के सामने खड़े होकर उसकी जांच कर रहे हैं। दोनों प्रकरणों को लेकर बौखलाए एसओ का सफेद झूठ पकड़ा गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments