Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut10 जून को लक्ष्य बनाकर नौचंदी मेले की तैयारियां

10 जून को लक्ष्य बनाकर नौचंदी मेले की तैयारियां

- Advertisement -
  • दुकानों का आवंटन शुरू कराने के लिए डीएम ने एडीएम एफ को जारी किया निर्देश

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: प्रांतीयकृत मेला नौचंदी शुरू करने के लिए 10 जून का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी तिथि के आसपास मेले में पहला बाजार लगने की पूरी संभावना रहेगी। बुधवार श्याम कलक्ट्रेट स्थित कार्यालय में डीएम दीपक मीणा ने मेला आयोजन के संबंध में समिति से जुड़े अधिकारियों की एक बैठक ली। जिसमें चुनाव आयोग से मिली मंजूरी के उपरांत मेले का जल्दी से जल्दी शुभारंभ करने की संभावना पर विस्तार से चर्चा की गई।

फिलहाल चार जून तक अधिकारी मतगणना के कार्य में व्यस्त रहेंगे, इसके उपरांत नई सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इन सभी परिस्थितियों की दृष्टिगत ज्येष्ठ दशहरा के अवसर पर 10 जून से मेला शुरू करने की बात पर सहमति हुई। हालांकि इसकी अधिकृत रूप से घोषणा नहीं की गई। जिला अधिकारी दीपक मीणा ने एडीएम एफ सूर्यकांत त्रिपाठी को निर्देशित किया कि वे 10 जून को ही लक्ष्य बनाकर दुकानों का आवंटन तत्काल करने की प्रक्रिया शुरू कर दें।

मेले के संबंध में विभिन्न कार्यों के लिए टेंडर छोड़ो जाने की प्रक्रिया भी शुरू करने के संबंध में अपर मुख्य अधिकारी भारतीय धामा को निर्देशित किया गया। उनसे कहा गया कि टेंडर की प्रक्रिया यथाशीघ्र शुरू कराई जाए। नोडल अधिकारी सीडीओ नूपुर गोयल को निर्देशित किया गया कि वह मेले का भव्य रूप से आयोजन करने की दिशा में सभी सहयोगियों से विचार विमर्श करके रूपरेखा तैयार कर लें। बैठक के दौरान जिला स्तरीय विभिन्न अधिकारी उपस्थित रहे।

दो माह पहले हो चुका परंपरागत उद्घाटन

मेला नौचंदी को दो वर्ष पहले प्रांतीयकृत मेले में शामिल किया जा चुका है। यह मेला होली के बाद पड़ने वाले दूसरे रविवार से शुरू किए जाने की पुरानी परंपरा रही है। बीते कुछ बरसों से मेला हालांकि शुरू होने में थोड़ा विलंब होने लगा है। लेकिन मेले का परंपरागत उद्घाटन करने के लिए अभी तक होली के बाद पड़ने वाला दूसरा रविवार ही निर्धारित रखा जाता है। इस वर्ष भी सात अप्रैल को मेले का परंपरागत उद्घाटन किया जा चुका है।

इस बीच लोकसभा चुनाव 2024 के दृष्टिगत आचार संहिता लागू होने के कारण मेले के आयोजन में दो माह से अधिक का विलंब होने वाला है। इस बीच जिला प्रशासन का यही प्रयास रहा कि चुनाव आयोग से मेले के आयोजन के संबंध में अनुमति मिल जाए, लेकिन विभिन्न कारणों से मेला आयोजन के संबंध में अनुमति मिलने में काफी विलंब हुआ है। हाल ही में मिली अनुमति के बाद जिला प्रशासन की ओर से मेले के आयोजन की तैयारी में एकाएक तेजी आ गई है। एक उल्लेखनीय तथ्य यह भी है कि नौचंदी मेले का एक वर्ष नगर निगम और एक वर्ष जिला पंचायत के माध्यम से आयोजन कराया जाता है। इस वर्ष जिला पंचायत के जरिये मेला लगने वाला है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments