Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutफरवरी माह में बारिश से बढ़ेगी ठंड

फरवरी माह में बारिश से बढ़ेगी ठंड

- Advertisement -
  • जनवरी के बाद अब फरवरी में भी ठंड में होगा इजाफा

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: फरवरी के महीने में दिन में खिली धूप जरूर निकल रही है, लेकिन रात में पाला होने के कारण ठंड बढ़ रही है। हालांकि शनिवार की रात से ही मौसम विशेषज्ञों ने बारिश बता रखी है, लेकिन आगामी चार और पांच फरवरी को बारिश के साथ ठंड का एहसास बढ़ेगा। इसलिए बेहद सावधानी बरनते की आवश्यकता है। शनिवार को दिन में खिली धूप निकलने से मौसम गर्म जरूर रहा, लेकिन शाम होते-होते फिर से ठंड का एहसास बढ़ गया।

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से एक बार फिर से मौसम में ठंड बढ़ेगी। ठंड के बढ़ने का मुख्य कारण बारिश होना बना हुआ है। हालांकि बारिश होने से जहां कोहरे पर बे्रेक लगेगा। वही महानगर के प्रदूषण में भी काफी कमी आएगी। हालांकि तेज हवाओं के चलने के कारण प्रदूषण में गिरावट दर्ज हुई है, लेकिन ठंड का एहसास अब भी बना हुआ है। सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विवि के मौसम वैज्ञानिक डा. यूपी शाही की माने तो उनका कहना है कि रात से बारिश शुरू होगी और चार एवं पांच फरवरी को अच्छी बारिश होने की उम्मीद है।

08 1

जिससे मौसम शुष्क बना रहेगा। फरवरी के महीने में अभी ठंड कम नहीं होगी, लेकिन समय-समय पर ठंड अपना एहसास जरूर कराएगी। राजकीय मौसम वैधशाला पर शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 22.2 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 8.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 77 एवं न्यूनतम आर्द्रता 44 प्रतिशत दर्ज की गई। हवा का रुख सुबह शून्य रहा, लेकिन शाम को चार किमी प्रति घंटा की रफ्तार से आंका गया। उधर बारिश और हवा चलने के कारण प्रदूषण में भी कमी आई है।

डीएम साहब! एनएचएआई के पीडी करा देंगे बवाल

मोदीपुरम: महानगर में इस समय शांतिप्रय माहौल चल रहा है, लेकिन एनएचएआई के पीडी संतोष वाजपेई का नया फरमान कही बवाल न करा दे। हाइवे के नजदीक बने मकान, दुकान और प्रतिष्ठानों के संपर्क मार्गों को जेसीबी मशीन से उखाड़ देने का पीड़ी ने फरमान जारी कर दिया है। इनके फरमान जारी होने से लोगों में हड़कंप मच गया। पीडी का साफ कहना है कि बिना नक्सा पास कराए संपर्क मार्ग कैसे बना दिया है।

पहले एनएचएआई से एनओसी लेनी होगी। इसके बाद ही संपर्क मार्ग पर चलने की अनुमति देनी होगी। एनएच-58 पर अतिक्रमण करने वाले लोगों के खिलाफ वेस्टर्न यूपी टोलवे कंपनी ने अभियान चलाया है। यह अभियान चलाना तो वाजिब है, लेकिन एनएचएआई के पीडी संतोष वाजपेई द्वारा यह फरमान जारी करना कि हाइवे के नजदीक बने मकान, दुकान और प्रतिष्ठानों के संपर्क मार्गों को जेसीबी मशीन से उखाड़ देना कही बवाल न करा दे।

क्योंकि अतिक्रमण को लेकर सभी लोेग टोलवे कंपनी के साथ है, लेकिन जिन लोगों का हाइवे के किनारे मकान बने हुए है। उनके सम्पर्क मार्गों को उखाड़ना गैर वाजिब है। हालांकि पीडी के इस फरमान से टोलवे कंपनी के अधिकारी ओर कर्मचारी खुद हैरत में है, लेकिन पीडी के फरमान को आखिर पूरा करना उनकी मजबूरी है।

परतापुर से घाट तक चला अतिक्रमण हटाओ अभियान

शनिवार को टोलवे कंपनी ने रखरखाव और पेट्रोलिंग टीम के साथ परतापुर थाना पुलिस के सहयोग से परतापुर से लेकर घाट गांव तक हाइवे के आसपास हो रहे अतिक्रमण अभियान को चलाया। हालांकि कुछ स्थानों पर टीम का विरोध हुआ तो कुछ स्थान पर टीम का सहयोग कर लोगों ने अतिक्रमण हटा दिया। अतिक्रमण अभियान के दौरान रूट आपरेशन मैनेजर आरपी सिंह, टोलवे कंपनी के सीनियर आपरेशन मैनेजर शाहनावाज खान शामिल रहे।

अतिक्रमणकारियों को दिए नोटिस

हाइवे पर जिन लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। उनको नोटिस जारी किए गए हैं। बिना नक्शा पास किए संपर्क बने हुए हैं। उन पर जेसीबी मशीन चलाई जाएगी। पहले एनएचएआई से एनओसी लेनी होगी। एनएचएआई के पीडी के आदेश पर यह अभियान चलाया जा रहा है। -आरपी सिंह, रूट आपरेशन मैनेजर टोलवे कंपनी सिवाया

एनएचएआई के पीडी वेस्ट यूपी से नहीं है वाकिफ

भाकियू अराजनैतिक के जिलाध्यक्ष नवाब सिंह अहलावत का कहना है कि एनएचएआई के पीडी वेस्ट यूपी से अभी वाकिफ नहीं है। पहले हाइवे पर जिन लोगों का मुआवजा रुका हुआ। उनका मुआवजा दिया जाए। ग्रामीण क्षेत्र में चार गुणा और नगरीय क्षेत्र में दो गुना मुआवजा दिया जाना चाहिए। हाइवे पर अतिक्रमण हटाना ठीक है, लेकिन हाइवे पर बने मकान और दुक ानों के संपर्क मार्गों को उखाड़न गैर वाजिब है। अगर पीडी ने मनमानी की तो पीडी के कार्यालय का घेराव किया जाएगा और इस तानाशाही का सख्ती के साथ विरोध किया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments