Saturday, April 13, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमूकबधिर हत्याकांड में ग्रामीणों का थाने पर हंगामा

मूकबधिर हत्याकांड में ग्रामीणों का थाने पर हंगामा

- Advertisement -
  • दो आरोपी गिरफ्तार, भांग के बंटवारे को लेकर हुई हत्या
  • पुलिस ने नाम हटाने से किया इंकार, एसएसपी से मिलेंगे ग्रामीण

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/मोदीपुरम: जलालपुर गांव में मूकबधिर की हुई हत्या के मामले में बुधवार को परिजनों ने दलित समाज के साथ मिलकर इंचौली थाने पर जमकर हंगामा किया। आरोप है कि पुलिस अस्पताल ले जाने वाले युवक के खून से सने कपड़े देखकर उसे जबरन दोषी बना रही है।

परिजनों ने युवक को छोड़ने की बात कहते हुए मुकदमा वापस लेने को लेकर पुलिस को प्रार्थना पत्र सौंपा। परंतु, पुलिस ने इंकार कर दिया। जिस पर परिजनों ने गांव पहुंचकर पंचायत कर एसएसपी से मिलने की बात कही। वहीं पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या का कारण आरोपियों और मृतक के बीच भांग के बटवारे को लेकर हुआ झगड़ा बताया जा रहा है।

जलालपुर गांव निवासी 30 वर्षीय बिजेंद्र पुत्र स्व. ब्रजपाल की दीपावली के दिन हत्या कर दी गई थी। युवक की धारदार हथियार से वार करने के बाद आंख फोड़ दी गई थी। युवक रात भर तड़पता रहा। सुबह के समय एक दूधिया से जानकारी मिलने के बाद परिजन उसे अस्पताल लेकर जा रहे थे। परंतु, उसने रास्ते में दम तोड़ दिया था। इसके बाद परिजनों ने दो सगे भाई सोनू व सचिन और एक अन्य सोनू नाम के युवक को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।

09 23

परिजनों ने बताया कि पुलिस नामजद आरोपी के साथ उनके पड़ोसी मोहित उर्फ भीम को भी हिरासत में लेकर थाने ले आई। बिजेंद्र के परिजनों ने बताया कि पुलिस जबरन मोहित को फंसा रही है। पुलिस आरोपियों का साथ दे रही है। मोहित घायल बिजेंद्र को लेकर अस्पताल गया था। जिस कारण उसके कपड़ों पर खून लग गया था। परंतु, पुलिस उसके खून से सने कपड़ों को देखकर उसे आरोपी बना रही है, जो गलत है।

इस पर परिजन समाज के लोगों के साथ इंचौली थाने पहुंचे। मृतक की मां ईश्वरी ने पुलिस को मुकदमा वापस लेने के लिए प्रार्थना पत्र सौंपा। परंतु, पुलिस ने इंकार कर दिया। जिस पर गुस्साए परिजनों ने समाज के लोगों के साथ थाने पर हंगामा किया। परंतु, पुलिस ने कोई सुनवाई से इंकार कर दिया। जिस पर परिजन समाज के लोगों के साथ गांव लौट आए और पंचायत की।

पंचायत में मुकदमा वापस लेने के साथ-साथ बृहस्पतिवार को एसएसपी रोहित सिंह सजवाण से मिलने का निर्णय लिया गया। परिजनों का कहना है कि वह मोहित के खिलाफ कार्रवाई नहीं चाहते। मोहित निर्दोष है, पुलिस उसे छोड़ दे। यदि पुलिस ने मोहित को नहीं छोड़ा तो वह आंदोलन करने पर विवश होंगे। वही एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि बिजेन्द्र हत्याकांड में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

आरोपियों ने स्वीकार कर लिया है कि शराब पीने के बाद भांग के बंटवारने को लेकर झगड़ा हुआ और पास में रखी ईंट मारकर हत्या कर दी गई। बताया कि जिस युवक को परिजन निर्दोष बता रहे हैं उसके कपड़ों में खून का निशान मिला है। परिजनों का कहना है कि घायल बिजेन्द्र को इलाज के लिये ले जाते समय खून लगा था

10 23

जबकि आरोपी के भाई से पूछताछ में पता चला कि घटना वाले वक्त मोहित दूसरे कपड़े पहने था और इलाज के लिये ले जाते वक्त दूसरे कपड़े पहन लिये थे। फील्ड यूनिट ने खून का मिलान किया तो कपड़ों पर मृतक का खून ही निकला। जिन दो अन्य लोगों को नामजद किया गया है उनकी जांच चल रही है।

नशा करने के बाद हुआ झगड़ा

पुलिस ने बताया कि बिजेन्द्र शराब और भांग का नशा करता था। घटना वाले दिन चार युवकों का शराब पीने और भांग खाने के बाद बिजेन्द्र से झगड़ा हो गया था। इस पर आरोपी युवकों ने धारदार हथियार से हमला करके हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों के लिये सीडीआर निकलवाई गई है। उस आधार पर मुलजिम बनाये जाएंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments