Wednesday, February 21, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसरधना का मुख्य नाला चोक, क्यों न हो जलभराव?

सरधना का मुख्य नाला चोक, क्यों न हो जलभराव?

- Advertisement -
  • कस्बे में कई जगह बनी रहती है जलभराव की समस्या, शिकायत के बाद भी नहीं होती सुनवाई

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: नगर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह ठप पड़ी है। नगर के अधिकांश नाले गंदगी से अटे पड़े हैं। इतना ही नहीं मुख्य नाला भी पूरी तरह चोक है। मुख्य नाले का हालत तो यह है कि सिल्ट जमने के कारण उसका पता ही नहीं चल रहा है। पशु नाले के ऊंपर टहलते नजर आते हैं। ऐसे में नगर के दूषित पानी की निकासी बाधित होनी ही है। दूषित पानी की निकासी नहीं होने के कारण नगर में कई जगह जलभराव की समस्या बनी रहती है। जिसके चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। लगातार शिकायत के बाद भी प्रशासन इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं है।

कस्बे के दूषित पानी की निकासी मेरठ रोड स्थित नाले से होती है। वर्तमान में नाले ही हालत यह है कि गोबर से पूरी तरह चोक हो गया है। कस्बे के अंदर नाला कचरे से बंद पड़ा है। उससे आगे जाकर देखें तो गोबर इतना अट गया है कि नाला और सड़क में अंतर ही नजर नहीं आ रहा है। नाले में अटा गोबर सड़क से भी ऊपर जा रहा है। जिससे देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि दूषित पानी की निकासी कैसे हो रही होगी।

21 14

हालत यह है कि सिल्ट की इतनी मोटी परत जम गई है कि उसक पर पशु टहलते देखे जा सकते हैं। कस्बे के अंदर भी नालों का यही हाल है। नाले चोक होने के कारण नगर के दूषित पानी की निकासी बाधित हो रही है। नगर में आए दिन जगह-जगह जलभराव की समस्या पैदा हो रही है। जिसके चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मगर पालिका प्रशासन की नींद नहीं टूट रही है।

आदर्शनगर में जलभराव की समस्या हुई नासूर

आदर्शनगर छबड़िया रोड पर जलभराव की समस्या नासूर हो गई है। निकासी का रास्ता नहीं होने के कारण यहां नियमित रूप से जलभराव की समस्या बनी रहती है। ऐसे में बस्ती के लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लगातार शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। लोगों ने पालिका से समस्या का स्थाई समाधान कराने की मांग की है।

आदर्शनगर मोहल्ले के छबड़िया रोड पर जलभराव की समस्या सालों पुरानी हो गई है। क्योंकि यहां दूषित पानी की निकासी का कोई रास्ता नहीं है। पहले पानी की निकासी आसपास के खेतों में होती थी। मगर कुछ समय पहले खेत मालिकों ने अपनी जमीन की बाउंड्री करा दी। तभी से यह समस्या बनी हुई है। जिस नाले में बस्ती के दूषित पानी की निकासी करने का दावा पालिका प्रशासन करता है, वह आबादी से काफी ऊंचा है।

22 13

इस कारण पानी नाले तक नहीं पहुंचता है। यही कारण है कि बस्ती में नियमित रूप से जलभराव की समस्या बनी रहती है। ऐसे में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लगातार शिकायत करने के बाद भी पालिका प्रशासन इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं है। पालिका की अनदेखी का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। लोगों ने पालिका से शीघ्र समस्या का स्थाई समाधान कराने की मांग की है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments