Sunday, July 25, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकोरोना की दूसरी लहर, गांवों के लिए बनी कहर

कोरोना की दूसरी लहर, गांवों के लिए बनी कहर

- Advertisement -
  • छुछाई में संदिग्ध बुखार से एक सप्ताह में दर्जनों मौतें
  • काफी लोग चपेट में 21 लोग कोरोना पॉजिटिव
  • अतलपुर की स्थिति भी विस्फोटक, कार्रवाई में लगी टीम पर बरसे ग्रामीण

जनवाणी संवाददाता |

किठौर: कोरोना की दूसरी लहर ने गांवों में कहर मचा रखा है। संदिग्ध बुखार से खासी तादाद में दम तोड़ते लोग और हॉटस्पॉट घोषित होते गांव यह साबित कर रहे हैं कि अबाध गति से फैल रहे कोरोना ने अब देहात को भी बुरी तरह जकड़ लिया है। ऐसे में भी यदि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग नहीं चेता तो अभाव ग्रस्त जिंदगी काट रहे देहाती लोगों की हालत बदतर हो जाएगी और वो बेवक्त मारे जाएंगे।

कोरोना वैश्विक महामारी शहर कस्बों के साथ अब देहात में भी अबाध गति से फैल रही है। इससे गांवों में आए दिन मौतों के सिलेसिले जारी हैं। आलम ये है कि संदिग्ध बुखार में वक्त पर सही इलाज न मिलने से मरीज एक से डेढ़ सप्ताह में दम तोड़ देता है। यह हालात उन मरीजों के दिखे जो जांच में कोरोना पॉजिटिव दर्शाए गए।

बहरहाल किठौर थानार्न्तगत परीक्षितगढ़ के छुछाई और अतलपुर गांव प्रशासन द्वारा हॉटस्पॉट घोषित कर दिए गए हैं। आधा दर्जन से अधिक मकानों को पर सीलबंद की कार्रवाई करते हुए उनके घर से बाहर आगमन पर भी मौखिक पाबंदी लगाई गई है।

वजह छुछाई में गत सप्ताह संदिग्ध बुखार से करीब सुनील पुत्र जगदीश, शौदान सिंह, प्रहलाद सिंह पुत्र मांडे, गिरवर पुत्र मेहर सिंह, राजू पुत्र खजान सिंह समेत एक दर्जन लोगों की मौत हो चुकी हैं। जिससे गांव में दहशत व्याप्त है। ग्रामीणों की मांग पर गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच कैंप लगाया तो इस गांव के 21 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यही स्थिति अतलपुर गांव की है। यहां भी अधिकतर घरों में लोग संदिग्ध बुखार की चपेट में हैं और दर्जनभर कोरोना पॉजिटिव बताए गए हैं।

नजरबंद नहीं, वैक्सीनेशन कराओ सरकार

सोमवार को छुछाई पहुंची टीम ने जब मकानों को सीलबंद करना शुरू किया तो ग्रामीण भड़क गए। ग्रामीण संजय उर्फ कक्कू ने कहा कि कोरोना का इलाज नजरबंदी नहीं उपचार के लिए बनी दवा का वैक्सीनेशन है। संक्रमितों का वैक्सीनेशन करो। घर में नजरबंद होकर तो रोगी वैसे ही अधमरा हो जाता है।

ओमप्रकाश नागर ने कहा कि गांव में बुखार से मौत हो रही हैं। बहुत लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव हैं। ऐसे में हॉटस्पॉट घोषित कर घरों के आगे बल्ली लगाने से नहीं दवाई से काम चलेगा। वरना गांव में अभावग्रस्त जिंदगी काट रहे लोग महामारी में तड़प-तड़पकर बेवक्त मारे जाएंगे।

बोले-ग्राम प्रधान

छुछाई के ग्राम प्रधान जवाब सिंह का कहना है कि गांव में संदिग्ध बुखार से मौतों को लेकर स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया। टीम आई और जांच हुई हैं। कई लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। उनके घरों को सील कर दिया गया है। अफसरों से बात कर जल्द ही गांव में वैक्सीनेशन कराया जाएगा। अतलपुर के पूर्व प्रधान अक्षय का कहना है कि गांव में वैक्सीनेशन के लिए वह भी उच्चाधिकारियों से गुहार करेंगे।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments