Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबेशकीमती जमीन पर सेटिंग का कब्जा

बेशकीमती जमीन पर सेटिंग का कब्जा

- Advertisement -
  • कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति, तालाब की पैमाइश करने के नाम पर लेखपाल पर कर रहा खानापूर्ति

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: घोसियान मोहल्ले में चर्च परिसर के पीछे स्थित तालाब की बेशकीमती जमीन पर सेटिंग से लगातार कब्जा हो रहा है। कार्रवाई के नाम पर पालिका प्रशासन भी खानापूर्ति करने में लगा हुआ है। जिसके चलते लगातार भूमि पर भराव करके कब्जा किया जा रहा है। एसडीएम के आदेश के बाद भी लेखपाल तालाब की पैमाइश करने को तैयार नहीं है।

क्योकिं तालाब की पैमाइश हुई तो सेटिंग का पूरा खेल खुलकर सामने आ जाएगा। शनिवार को भी भूमि पर भराव करने का कार्य जारी रहा। अधिकारियों तक शिकायत पहुंची तो पालिका टीम व लेखपाल मौके पर पहुंच गए। मगर टीम कार्रवाई करने के बजाए महज हाजिरी लगाकर लौट आई। टीम ने भूमि की पैमाइश करना भी जरूरी नहीं समझा।

घोसियान मोहल्ले में चर्च परिसर के पीछे एक विशाल तालाब हुआ करता था। मगर समय के साथ अधिकांश तालाब कब्जे का शिकार हो चुका है। तालाब के नाम पर कुछ ही भूमि बाक रह गई है। कब्जे का यह सिलसिला लगातार जारी है। अब भूमि के एक टुकड़े पर कुछ लोग अपना मालिकाना हक जता रहे हैं। भूमि की चार दीवारी करके भराव किया जा रहा है। पूर्व सभासद वकील समेत कुछ लोग इसकी शिकायत कर रहे हैं।

पालिका द्वारा कुछ महीने पहले कब्जे का काम रुकवा दिया गया था। मगर कब्जे का सिलसिला लगातार जारी है। भूमि पर लगातार भराव किया जा रहा है। जांच होने का इंतजार भी नहीं किया जा रहा है। सेटिंग का खेल यह है कि एसडीएम के आदेश के बाद भी लेखपाल तालाब की पैमाइश करने को तैयार नहीं है। क्योंकि पैमाइश होते ही सेटिंग का खेल खुलकर सामने आ जाएगा। शनिवार को भी भूमि पर भराव का काम जारी रहा।

एसडीएम तक शिकायत पहुंची तो अधिकारी ने पालिका को कार्रवाई के लिए कहा। पालिका टीम लेखपाल संग मौके पर पहुंची। मगर खानापूर्ति करके वापस लौट आई। तालाब की पैमाइश करना भी जरूरी नहीं समझा। पालिका प्रशासन की खानापूर्ति से सेटिंग की बू आ रही है। इस संबंध में एसडीएम सत्यप्रकाश का कहना है कि तालाब की भूमि पर कब्जा नहीं होने दिया जाएगा। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

गड़ीना में तालाब की जमीन कब्जा मुक्त कराने की मांग

फलावदा: ग्राम पंचायत गड़ीना के सदस्य इंद्रजीत पुत्र नानक द्वारा एसडीएम से की गई शिकायत में गांव के एक हिस्ट्रीशीटर तथा उसके भाइयों द्वारा तालाब पर लगातार कब्जे किए जाने का आरोप लगाया है। शिकायत में कहा गया है कि गांव में गंदे पानी की निकासी का संकट पैदा हो गया है।

इस संबंध में वह पहले भी शिकायत कर चुका है लेकिन सांठगांठ के चलते तालाब से अवैध कब्जे नहीं हट पा रहे हैं। ग्राम पंचायत के सदस्य इंद्रजीत ने तालाब से अवैध कब्जे हटाने की मांग उठाई है। एसडीएम मवाना अखिलेश यादव ने नायाब तहसीलदार को मौके पर जांच करके तालाब खाली कराने के निर्देश दिए है। इस संबंध में राजस्व निरीक्षक समर सिंह ने बताया कि रविवार को टीम तालाब की पैमाइश करेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments