Sunday, July 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatमंजिल थी नजदीक, आ गया मौत का झपट्टा

मंजिल थी नजदीक, आ गया मौत का झपट्टा

- Advertisement -
  • डौला गांव निवासी फतेह मोहम्मद मजदूरी करके कर रहा था परिवार का पालन पोषण
  • फतेह का पूरा परिवार हो गया खत्म, गांव में छाया मातम

जनवाणी संवाददाता |

बागपत/अमीनगर सराय: रिश्तेदारी से खुशनुमा माहौल में अपने घर की ओर रवाना हुआ फतेह का परिवार को बालैनी टोल के निकट यानी घर से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर मौत का झपट्टा आया और अपने साथ ले गया। हादसा इतना दर्दनाक था कि पूरा परिवार ही खत्म हो गया। हादसे के बाद डौला गांव में मातम छा गया।

12 11

डौला निवासी फतेह मोहम्मद अपनी तीन बच्चियों व गर्भवती पत्नी को लेकर सिवालखास रिश्तेदारी में गया था। वहां से वह देर शाम डौला के लिए चले। वह अपने घर पहुंचने से महज 10 किलोमीटर दूर ही रह गए थे और उन्हें मौत का झपट्टा अपने साथ ले गया। परिजनों को जब इस हादसे की जानकारी हुई तो कोहराम मच गया। परिजनों के साथ ग्रामीण भी घटनास्थल पर पहुंचे। गांव में मातम छा गया। ग्रामीणों ने बताया कि फतेह 4 भाई है। सभी मजदूरी करके परिवार को पालन पोषण करते है। फतेह का पूरा परिवार खत्म हो गया।

कैंटर चालक पकड़ा

हादसे के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कैंटर को कब्जे में ले लिया और उसके चालक मेरठ निवासी इरशाद को भी गिरफ्तार कर लिया। सीओ ने बताया कि हादसे की जांच शुरू कर दी है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments