Sunday, April 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutभ्रष्टाचार का खेल, कै से उखड़ी सड़क

भ्रष्टाचार का खेल, कै से उखड़ी सड़क

- Advertisement -
  • पीडब्ल्यूडी कर्मी खफा, दिया महत्वपूर्ण मार्ग का हवाला
  • निगम प्रशासन, पार्षद को पत्र भेज पुर्ननिर्माण की मांग

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: नगर निगम द्वारा बनवाई गई रोड एक माह भी नहीं चली और उधड़ गई। इस पर पीडब्ल्यूडी कर्मचारी खफा हो उठे। उन्होंने क्षेत्रीय पार्षद से लेकर नगर निगम अधिकारियों को खड़खड़ा डाला। उनका आरोप था कि इतनी महत्वपूर्ण सड़क होने के बावजूद संबधित ठेकेदार ने सड़क बनाने में गाइडलाइन को जरा भी फॉलो नहीं किया। नियमित वर्कचार्ज कर्मचारी संघ लो.नि.वि. के जनपद अध्यक्ष अहसान अली ने क्षेत्रीय पार्षद और निगम प्रशासन को लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि कैलाश प्रकाश स्पोटर््स स्टेडियम के सामने वाली रोड काफी क्षतिग्रस्त थी

जिसका निर्माण एक माह पहले नगर निगम द्वारा करवाया गया था। पीडब्ल्यूडी कर्मचारियों का आरोप है कि इस रोड पर जहां स्टेडियम है वहीं सीडीओ आवास व इर्द गिर्द अन्य अधिकारियों के कार्यालय भी हैं। इसके अलावा कुछ बड़े हॉस्पिटल भी इसी मार्ग के आस पास हैं। बताते चलें कि पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता व अधिशासी अभियंताओं के दफ्तर भी यहां से कुछ ही दूरी पर हैं। आरोप है कि इतनी महत्वपूर्ण सड़क होने के बावजूद संबधित ठेकेदार ने इसे हवा में ही बना डाला जिसके चलते सड़क एक माह भी नहीं टिक पाई और उधड़ गई।

पीडब्ल्यूडी कर्मचारियों का यह भी आरोप है कि सड्क निर्माण में बेहद ही घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। सड़क उधड़ने से वहां कंक्रीट फैल गई है जिससे आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं तथा दोपहिया वाहन चालक फिसल कर चोटिल हो रहे हैं। कर्मचारियों ने निगम प्रशासन से मांग की है कि यहां पर तय मानकों के अनुसार सड़क का पुर्ननिर्माण कराया जाए तथा पूर्व में जिस ठेकेदार ने सड़क बनाई है उसे ब्लैक लिस्टेड कर उससे रकम की रिकवरी कराई जाए।

बनते ही उखड़ गई सड़क, होनी चाहिए जांच

सड़क निर्माण में घटिया सामग्री लगाने से नगर निगम की खासी किरकिरी हो रही हैं। आखिर नगर निगम के इंजीनियर खराब सड़क बनने क्यों दे रहे हैं? पीएल शर्मा रोड अच्छी-खासी पहले से बनी थी। कहीं से भी नहीं टूटी थी, लेकिन इसके ऊपर नगर निगम ने फिर से सड़क का निर्माण कर दिया, लेकिन निर्माण के पांच दिन बाद ही ये सड़क टूट गई। एक जगह से नहीं, बल्कि कई जगह से क्षतिग्रस्त हो गई।

ऐसा लगता है कि तारकोल की जगह पानी तो मिलाकर सड़का का निर्माण नहीं कर दिया हैं। ये आरोप पीएल शर्मा रोड के व्यापारी लगा रहे हैं। व्यापारियों का कहना है कि इस घटिया सड़क निर्माण के मुद्दे को लेकर व्यापारियों का एक प्रतिनिधि मंडल कमिश्नर से मिलेगा तथा घटिया सड़क का निर्माण करने वाले ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट करने की मांग की जाएगी तथा जिस इंजीनियर की देखरेख में ये सड़क का निर्माण हुआ है, उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाए। क्योंकि ठेकेदार ने ये सब इंजीनियर की सेटिंग से किया हैं, तभी तो इसकी मरम्मत तक नहीं की गई।

व्यापारी नेता अंकुर बंसल ने बताया कि इस मामले में ठेकेदार और इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर व्यापारियों का एक प्रतिनिधि मंडल कमिश्नर से मिलेगा तथा सड़क निर्माण में जो भ्रष्टाचार हुआ, उसमें कार्रवाई की मांग की जाएगी। यही नहीं, कमिश्नर चौराहे से एसपी सिटी आवास से लेकर कमिश्नरी चौराहे तक सड़क का निर्माण उखड़ गया हैं। ये तो वीआईपी इलाके का हाल हैं, इसमें भी नगरायुक्त कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। नगरायुक्त के आवास से चंद कदम की दूरी पर सड़क उखड़ी पड़ी हैं, इससे भ्रष्टाचार साफ दिखाई दे रहा हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments