Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअपने पार्षदों की नाराजगी दूर करने पहुंचे महापौर

अपने पार्षदों की नाराजगी दूर करने पहुंचे महापौर

- Advertisement -
  • पार्षदों की अपर नगर आयुक्त से नोकझोंक, सुनाई खरी खोटी
  • भूमिया के पुल नाले के निर्माण में धीमी गति पर जताई नाराजगी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सवाल अपनी पार्टी के नाराज पार्षदों का था तो नाराजगी दूर करने के लिए महापौर हरिकांत अहलूवालिया सवेरे ही भूमिया के पुल नाले का निरीक्षण करने पहुंच गये। उन्होंने धीमी गति से हो रहे निर्माण कार्यों पर नाराजगी जताई तथा एक सप्ताह में निर्माण पूरा करने के निर्देश दिये। महापौर के सामने ही भाजपा पार्षदों ने अपर नगर आयुक्त को खरी खोटी सुनाई। महापौर ने भाजपा पार्षदों को समझा-बुझाकर शांत किया।

ओडियन नाले पर लगातार निगम द्वारा सफाई का कार्य किया जा रहा है इसके बावजूद ओडियन नाले का जलस्तर बिल्कुल भी नीचे नहीं उतर रहा है। इसकी बड़ी वजह भूमिया के पुल पर बनी पुलिया के बराबर मे नई पुलिया बनाना है। ठेकेदार ने कमीशन के लिए यहां आधा अधूरा निर्माण इस प्रकार से कर दिया है कि गंदा पानी गलियों में ही भर रहा है। भूमिया के बड़े नाले में गली सेठान सराय लाल दास की दर्जनों गलियों का पानी पहुंचता है। लेकिन जब ओडियन नाले का जलस्तर ही नीचा नहीं हो रहा है तो गलियों में पानी बैक मार रहा है और गलियों में ही जमा हो रहा है।

अब दो महीने से स्थिति बहुत ही डांवाडोल बनी हुई है। यहां की सभी गलियों में गंदा पानी भरा हुआ है। लोगों का पैदल चलना भी मुहाल हो गया है। गंदगी व मलबा गलियों में ही भरा होने से लोग घरों में कैद होकर रह गये हैं। यह क्षेत्र नगर निगम के वार्ड-69 में आता है। यहां भाजपा पार्षद पंकज गोयल दूसरी बार भी भाजपा के कोटे से पार्षद चुने गये हैं। बेहद व्यावहारिक तथा सभी की समस्याओं में खड़े रहने वाले भाजपा पार्षद निगम अधिकारियों से इस नाले की सफाई नहीं करा पा रहे हैं। लगातार शिकायत करने के बाद भी नगर निगम के एक भी सफाई कर्मचारी की यहां ड्यूटी नहीं लगाई गई

तथा यहां से कूड़ा उठवाने के लिए भी कोई इंतजाम नहीं किया। अब भी यहां के लोग नर्क जैसी जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं। भाजपा पार्षद पंकज गोयल के साथ-साथ भाजपा पार्षद राजीव काले ने भी इसका विरोध किया। क्योंकि जहां सराय लाल दास, गली सेठान में गंदा पानी भर रहा है, वहीं ब्रह्मपुरी की गलियों में भी गंदे पानी की वजह से नागरिकों का जीवन नर्क बन गया है। भाजपा पार्षद पंकज गोयल ने क्षेत्रवासियों के साथ यहां से पलायन करने की भी चेतावनी दी। जनवाणी ने अपने 30 मई के अंक में इस समस्या को विस्तार छापा।

इसका यह असर हुआ कि महापौर हरिकांत अहलूवालिया गुरुवार की सुबह 9 बजे ही नगर निगम के अधिकारियों को साथ लेकर भूमिया के पुल पहुंच गये। उन्होंने भूमिया के पुल पर धीमी गति से हो रहे निर्माण कार्यों पर नाराजगी जताई। मौके पर ही भाजपा पार्षद पंकज गोयल ने विरोध करते हुए कहा कि अगले महीने बकरीद का त्यौहार आ रहा है। उनके वार्ड में मिली जुली आबादी है। लोग घरों में पशुओं का कटान करेंगे। फिर इन नालियों में गंदा खून बहेगा। नालियां पहले ही चॉक हो रही हैं और गलियों में गंदा पानी भर रहा है।

फिर बकरीद पर कटान के बाद तो यहां और भी बुरी स्थिति हो जायेगी। इसकी सबसे बड़ी वजह डिपो प्रभारी द्वारा भूमिया के पुल पर बनी पुलिया के बराबर में नई पुलिया बनाने से हो रहा है। महापौर ने भी इसपर सख्त नाराजगी जताई। महापौर के सामने ही भाजपा पार्षद पंकज गोयल व राजीव काले की अपर नगर आयुक्त से नोकझोंक भी हुई। महापौर ने दोनों पक्षों को शांत कराया तथा निर्माण जल्द पूरा करने के निर्देश दिये।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments