Saturday, May 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएसटीएफ का दारोगा बनकर ठगने वाला गिरफ्तार

एसटीएफ का दारोगा बनकर ठगने वाला गिरफ्तार

- Advertisement -
  • दारोगा बनकर करता था रौब गालिब, आरोपी के पास बाइक और परिचय पत्र किए बरामद

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: फर्जी परिचय पत्र बनवाकर खुद को एसटीएफ का दारोगा बताकर रौब दिखाने व मोटी रकम वसूली करने वाला शातिर अपराधी अमित शर्मा को भावनपुर से एसटीएफ ने गिरफ्तार कर उसके पास से बाइक व परिचय पत्र आदि बरामद किये हैं।

एएसपी एसटीएफ ब्रजेश सिंह ने बताया कि एसटीएफ उत्तर प्रदेश को विगत कुछ समय से दारोगा पुलिस की फर्जी आईडी कार्ड बनवाकर अपने को एसटीएफ का दरोगा बताकर लोगो पर रोब दिखाकर उनसे मोटी रकम वसूल करने वाले के बारे में सूचनायें प्राप्त हो रही थी।

16

इस सम्बंध में कुलदीप नारायण, पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ मेरठ द्वारा बृजेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ फील्ड यूनिट मेरठ के नेतृत्व में आरोपी अमित शर्मा को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्त अमित शर्मा ने पूछताछ पर बताया कि उसने कुछ समय पहले पुलिस में भर्ती होने का काफी प्रयास किया, परंतु नौकरी नहीं मिली।

मेरे खर्च बढ़ते गये फिर मैंने एक बार अखबार में पढ़ा कि एक व्यक्ति फर्जी पुलिस अधिकारी बनकर काफी लोगों से पैसा कमा लिया है। इस पर मैं भी सोचा कि क्यों न फर्जी तरीके से पुलिस अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करूं। जिसके बाद एक दुकान से पुलिस वर्दी खरीदी और फिर वर्दी में फोटो खिचवाकर पुलिस आईडी कार्ड बनवा लिया।

एसटीएफ के पुलिस कर्मी हमेशा प्राइवेट कपड़ों में ही रहते हैं इस लिए मैं भी प्राइवेट ड्रेस में रहने लगा और लोगों को एसटीएफ का उपनिरीक्षक बताने लगा। मैं कई बार लोगों से ठगी करता रहा और बचता रहा। मैं इसी तरह के कई अपराधों में जेल जा चुका हूं।

डा. मलय शर्मा, पत्नी को अग्रिम जमानत

सुशीला जसवंत राय अस्पताल में चल रहे विवाद से जुड़े एक मामले में जिला जज रजत सिंह जैन ने डा. मलय शर्मा और उनकी पत्नी डा. मृदुला शर्मा को अग्रिम जमानत दिए जाने के आदेश दिए हैं। एडवोकेट अमित दीक्षित ने बताया कि मामला सुशीला जसवंत राय अस्पताल से जुड़ा है। जिसमें डा. मलय शर्मा पर श्रेया मेडी केयर सेंटर प्राइवेट लिमिटेड की लीज डीड गैर कानूनी रूप से करने और उसमें उनकी पत्नी डा. मृदुला शर्मा का भी होने का आरोप है। न्यायालय ने दोनों को दो-दो लाख लाख रुपये के जमानती तथा इतनी ही धनराशि के निजी बंधक पत्र पर छोड़े जाने के आदेश दिए हैं। इस संबंध में डाक्टर दंपति के खिलाफ मुकदाम थाना सिविल लाइन में 420, 406, 120 आईपीसी में दर्ज है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments