Monday, January 17, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutवेस्ट का रिमोट शाह के हाथ

वेस्ट का रिमोट शाह के हाथ

- Advertisement -
  • किसानों की नाराजगी दूर करने को भाजपा के शीर्ष नेता उतरे मैदान में

जनवाणी संवाददाता  |

मेरठ: वेस्ट यूपी का रिमोट केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को सौंप दिया गया है। वेस्ट यूपी पर भाजपा के शीर्ष नेताओं ने अपना फोकस कर दिया है। देखा जाए तो वेस्ट यूपी के किसानों की नाराजगी को दूर करने के लिए भी भाजपा के शीर्ष नेताओं को लगाया गया है। वेस्ट यूपी इसलिए भी भाजपा के लिए महत्वपूर्ण है की 17 जिलों में पिछले विधानसभा चुनाव में 109 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी, जो अपने आप में बड़ी जीत रही थी।

अब वेस्ट यूपी की कमान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को सौंप दी है। अमित शाह खुद टिकटों को लेकर सुपरविजन करेंगे। कहा जा रहा है कि वेस्ट यूपी के मौजूदा कुछ विधायकों के भी टिकट कट सकते हैं। इसी वजह से विधायकों में खलबली मची है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में सलावा में बड़ी जनसभा करके गए हैं। इसी तरह से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सहारनपुर में भी जनसभा की थी। भाजपा ने जो विजय यात्रा निकाली है, उसमें भी एक तरह से शक्ति प्रदर्शन ही किया गया है। अब भाजपा के शीर्ष नेता विपक्ष की घेराबंदी करने में जुटे हुए हैं। क्योंकि सपा और रालोद का वेस्ट यूपी में गठबंधन हुआ है।

इस गठबंधन के ‘चक्रव्यूह’ को तोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वेस्ट यूपी को स्पोर्ट्स स्टेडियम की सोगात दी। इस तरह की सौगात दर सौगात भाजपा दे रही हैं। आईटी पार्क की सौगात भी मेरठ को दी हैं। टिकटों का चयन भी हाई लेवल पर किया जाएगा।

क्योंकि भाजपा में विधायकों के खिलाफ तो नाराजगी है, लेकिन पार्टी के शीर्ष नेता जनसभाओं में नाराजगी को दूर करने के प्रयत्न भी कर रहे हैं। कई वादे किये जा रहे हैं, आरोपों के तीर भी चल रहे हैं। सियासत गर्मा रही है। देश के चुनावी महाभारत की सबसे बड़ी लड़ाई का शंखनाद होने में बस चंद दिन बाकी हैं, लेकिन रणभूमि में पहले ही रणभेरियां बज उठी हैं। सियासी योद्धा एक दूसरे को ललकारने में लगे हैं। ‘शब्दों’ के तीर से विरोधियों को छलनी करने का दांव तेज हो चुका है।

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के नाम पर बनने वाले खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला के दौरान भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विपक्षी दलों को निशाने पर लिया था। यह कार्यक्रम सरकारी था, लेकिन यहां की फिजा राजनीतिक ही रही। पूवार्चंल में सियासी पकड़ मजबूत करने के बाद अब बारी पश्चिम उत्तर प्रदेश की है।

चुनावी मैदान पर बीजेपी को बढ़त दिलाने की है। क्योंकि वेस्ट में किसानों की नाराजगी भाजपा से चल रही है, इसलिए जिम्मेदारी भी बीजेपी के सबसे बड़े योद्धाओं ने संभाली है कि किसानों की नाराजगी को दूर किया जाएगा। पीएम मोदी ने मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का शिलान्यास कर युवाओं को साधने की कोशिश की।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments