Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutशहर नहीं देहात क्षेत्र की सड़कों का भी बुरा हाल

शहर नहीं देहात क्षेत्र की सड़कों का भी बुरा हाल

- Advertisement -
  • मेरठ-पौड़ी एनएच-119 पर हुए गहरे गड्ढे, वाहन चालकों को हो रही परेशानी

जनवाणी संवाददाता |

बहसूमा: एनएच-119 आज अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। इसके लिए यहां के स्थानीय पक्ष एवं विपक्ष के नेता जिम्मेदार है। यहां के लोग जागरूक होते हुए भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं, जोकि मजबूर हैं, बेबस हैं। सड़क इतनी जर्जर हो गई है कि सड़क पर डामर का नामोनिशान हीं नहीं दिख रहा है। जगह-जगह गहरे गड्ढे होने से अनेकों वाहन क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। वहीं, दुपहिया वाहन चालक सड़क पर फैले कीचड़ में फिसलकर गिरने से घायल हो रहें है।

32 2

मुख्यमंत्री ने लोगों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने के लिए अफसरों को निर्देंश दिए, लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही इस कदर हावी रही कि जरा-सी बरसात में गड्ढों में सड़क ढूंढना मुश्किल हो गया है।
हाइवे हो या शहर की सड़कें बदहाल हैं। इनमें देहात क्षेत्र की सड़कों का और बुरा हाल हैं। रोजना हजारों लोग इन मार्गों से जान जोखिम में डालकर मुश्किल भरा सफर तय करने को मजूबर हैं।

सबसे बड़ी बात है कि कस्बे में घरों से निकलने वाला गंदा पानी गड्ढों में भरकर पूरी सड़क पर फैल जाता है। जिस कारण से सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हो जाते है। जल निकासी न होने से यह समस्या वर्षों से चली आ रही है।
कभी-कभी अधिकारी में इसी मार्ग से क्षेत्र में भ्रमण पर जाते हैं। लेकिन वह चुपचाप निकल जाते हैं।

डामर का नहीं है नामोनिशां

एनएच-119 इन दिनों जगह-जगह गड्ढों में तब्दील हो गया है। जिससे रोड पर हर वक्त जाम के हालात पैदा हो रहे है। सड़क पर दूर-दूर तक डामर का नामोनिशां नहीं दिख रहा है। सड़क पर बने गड्ढों से वाहन चालकों को हिचकोले खाते हुए वाहन चलाना पड़ रहा है। हालत यह है कि आए दिन सड़क पर हादसे घटित हो रहे हैं।

इसके बावजूद विभाग सड़क की मरम्मत की सुध नहीं ले रहा है। इस मार्ग पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में छोटे-बड़े वाहन गुजरते हैं। सड़क खराब होने के कारण यहां पर आए दिन घटों जाम की स्थिति बनी रहती है। प्रशासन को शीघ्र ही इस समस्या का समाधान करना चाहिए ताकि वाहन चालकों व यात्रियों को इस परेशानी से राहत मिल सके।

गड्ढों से हो सकती है दुर्घटना

आवागमन के लिए पूरा शहर एकमात्र सड़क नेशनल हाइवे पर निर्भर है। साथ ही आने वाली वाहनों की आवाजाही भी इसी सड़क पर होती है। रोजना हजारों की संख्या में वाहन इस सड़क पर दौड़ते हैं, लेकिन जरा-सी बारिश के कारण सड़क पर बने बड़े-बड़े गड्ढों के कारण कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है। सड़क की मरम्मत जरूरी है।

कुंभकर्णी नींद में सोया विभाग

सैफपुर-फिरोजपुर रामराज के पास सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे होने के कारण वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन गड्ढों में गिरकर वाहन चालक घायल हो रहे हैं, लेकिन विभाग कुंभकर्णी की नींद सोया हुआ है। तीन दिन पूर्व भाकियू तोमर के पदाधिकारियों ने थाना प्रभारी का घेराव कर इसी मामले में डीएम के नाम ज्ञापन सौंपा था, लेकिन अभी तक अधिकारियों के सिर पर जूं तक नहीं रेंगी है।

एक साल पूर्व जहां पर गड्ढे बने हुए थे। गड्ढों कई लोगों की जान भी जा चुकी हैं। अधिवक्ता श्यामपाल एडवोकेट, अमरपाल ग्रेवाल, पूर्व प्रधान राजपाल चौहान, पूर्व मंत्री सरदार अमृतपाल सिंह, केपी धीमान, सन्नी चौधरी, कृष्णपाल सिंह, प्रधान इंतजार देशवाल आदि का कहना है कि उन्होंने कई बार विभाग को मामले से अवगत कराते हुए शिकायत भी कर चुके हैं, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। उनका कहना है कि यदि तीन दिन में समस्या का समाधान नहीं किया गया तो वह उच्चाधिकारियों को ज्ञापन सौंपते हुए शिकायत करेंगे।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

थाना प्रभारी राम औतार सिंह का कहना है कि तीन दिन पूर्व भारतीय किसान यूनियन तोमर के कार्यकर्ताओं ने एक ज्ञापन सौंपा था। जिसकी रिपोर्ट बनाकर उच्चाधिकारियों को समस्या का समाधान करने के लिए रिपोर्ट भेज दी गई है। उन्होंने ग्राम प्रधान को भी लिखित में सख्त आदेश दे दिए हैं।

क्या कहते हैं हाइवे के जेई

एनएच-119 के जेई आयुष चौधरी का कहना है कि उन्होंने गड्ढों को भरने के लिए पत्थर रोड़ी डलवा दी गई है, लेकिन पानी की निकासी न होने के चलते सड़क में गड्ढे बन रहे हैं। जब तक पानी की निकासी का प्रबंध नहीं किया जाएगा। तब तक सड़क टूटती रहेगी। उन्होंने बताया कि जल्द समस्या का समाधान किया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments