Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजान बचाने को भागे युवक की हादसे में मौत

जान बचाने को भागे युवक की हादसे में मौत

- Advertisement -
  • दर्दनाक वाकिया…ढाबा संचालक ने खराब सब्जी बताने पर युवक से की मारपीट
  • जान बचाकर भागे युवक को एनएच-58 पर आ रहे ट्रक ने कुचला

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शनिवार देर रात दिल्ली-देहरादून बाइपास स्थित शिवा टूरिस्ट ढाबे पर एक युवक की जमकर पिटाई की। आरोप है कि ट्रक चालक ने सब्जी को खराब बता दिया था, जिसके बाद उसे पीटा गया। ये मारपीट ढाबे पर काम करने वाले कर्मचारियों द्वारा की गई। जिस दौरान युवक को पीटा जा रहा था, तभी युवक जान बचाने के लिए सड़क की तरफ को दौड़ा और युवक ट्रक के नीचे आ गया तथा उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

बता दें कि दिल्ली-देहरादून बाइपास स्थित शिवा टूरिस्ट ढाबा ग्राहकों के साथ मारपीट और खराब खाना परोसने के नाम पर बदनाम हो रहा है। कई बार खराब खाने और मारपीट की शिकायत थाने में पहुंची, मगर कोई कार्रवाई नहीं होने पर शिवा ढाबा के कर्मचारियों का हौसला इतना बुलंद हो गया कि उन्होंने शनिवार देर रात एक टूरिस्ट बस के ग्राहक ने जब सब्जी खराब होने की बात कही तो ढाबे के कर्मचारी आग बबूला हो गए और ग्राहक को गाली-गलौज करते हुए लाठी-डंडों से पीटने लगे।

16 21

वहीं, पास के ही एक गांव के कुछ दबंग भी वहां बैठे थे, जिन्होंने ग्राहक के साथ जमकर मारपीट की। ढाबे के कर्मचारियों और दबंगों से अपनी जान बचाकर भाग रहा ग्राहक सड़क पर ट्रक के नीचे आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। ढाबे में बैठे सभी ग्राहक अपने-अपने वाहन लेकर मौके से भाग निकले। वहीं, ग्राहक की टूरिस्ट बस भी वहां से निकल गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची परतापुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

17 19

ट्रक व ट्रक चालक को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया हैं। शिवा टूरिस्ट ढाबे को भी बंद करा दिया। सीसीटीवी फोटो पुलिस ने निकाले हैं, जिसके माध्यम से पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई। मरने वाला कौन हैं? उसकी शिनाख्त अभी नहीं हो पाई हैं। पुलिस उसका पता करने में लगी हैं।

कैसे बन गया अवैध ढाबा?

मेरठ विकास प्राधिकरण (मेडा) ने ढाबे की बिल्डिंग पर सील लगाई थी। सील लगाने के बाद भी ये ढाबा बनकर तैयार हो गया। प्राधिकरण इंजीनियरों ने भी इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। ये सील दो वर्ष पहले लगी थी, तब ये ढाबा बना था। सील लगने के बाद निर्माण पूरा कर ढाबे को चालू कर दिया गया। लगभग दो वर्ष पहले परतापुर के दिल्ली देहरादून बाइपास स्थित शिवा टूरिस्ट ढाबे का निर्माण अवैध रूप से कराया जा रहा था।

15 19

जब इस बात की जानकारी मेरठ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को लगे तो उन्होंने टीम के साथ पहुंचकर निर्माणाधीन ढाबे पर सील लगा दी। कुछ दिन बाद ढाबे के मालिक ने मेरठ विकास प्राधिकरण के कर्मचारियों से सांठगांठ कर निर्माण दोबारा से शुरू करा दिया और अवैध तरीके से शिवा टूरिस्ट ढाबे का उद्घाटन कर दिया।

पहले भी हो चुकी है मारपीट की घटनाएं

दो माह पहले हरिद्वार से नोएडा लौट रहे दंपत्ति व उसके बेटे के साथ भी शिवा टूरिस्ट ढाबा के कर्मचारियों ने मारपीट की थी। लहूलुहान पीड़ित जब थाने पहुंचे तो पुलिस ने तहरीर लेकर उन्हें वहां से नोएडा भेज दिया और ढाबे के कर्मचारियों पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके अलावा दूसरी मारपीट की घटना शिकंजी का ठेला लगाने वाले कन्नौज के एक व्यक्ति को पीट-पीटकर वहां से भगा दिया था। पुलिस को इसकी तहरीर दी गई थी, लेकिन पुलिस ने इसमें कोई कार्रवाई नहीं की। ऐसे कई मामले मारपीट के सामने आ चुके हैं, लेकिन इसमें पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments