Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपालिका के विकास कार्यों में जमकर हो रहा भ्रष्टाचार

पालिका के विकास कार्यों में जमकर हो रहा भ्रष्टाचार

- Advertisement -
  • ठेकेदार बेखौफ होकर निर्माण कार्यों में लगा रहे घटिया सामग्री
  • सेटिंग के इस खेल में ऊपर ये नीचे तक सभी हैं शामिल

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: सरधना में नगर पालिका द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्यों में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है। चारों ओर चल रहे विकास कार्यों में आए दिन घटिया समाग्री लगाने या बनते ही निर्माण टूटने के मामले सामने आ रहे हैं। अब तहसील रोड से सुलेमान शाह होते हुए गढ़ी खटिकान तक बन रहे रास्ते का मामला सामने आया। जिसमें बेहद घटिया सामग्री लगाई जा रही है।

इतनी कच्ची इंट की बच्चा भी देखकर बता दे की खराब है। मसाले से सीमेंट की गायब है। हालत यह है कि 14 इंच की दीवार रेत की तरह गिर रही है। सूत्रों की मानें तो भ्रष्टाचार का यह खेल सेटिंग से कमीशन बाजी के तहत हो रहा है। जिसमें ऊपर से लेकर नीचे तक सारी कड़ी जुड़ी हुई हैं। यही कारण है कि घटिया निर्माण होते हैं और पास होकर भुगतना भी कर दिया जाता है। मगर कोई देखने वाला नहीं है।

नगर निकाय के चुनाव का समय नजदीक है। ऐस में नगर में चारों ओर पालिका द्वारा विकास कार्य कराए जा रहे हैं। सड़क-नाली, नाला आदि के निर्माण चल रहे हैं। मगर इन निर्माण कार्यों में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है। ठेकेदार बेखौफ होकर निर्माण कार्यों में घटिया सामग्री लगा रहे हैं।

क्योंकि उन्हें कोई कुछ कहने वाला नहीं है। दरअसल निर्माण के खेल में ऊपर से नीचे तक कड़ी जुड़ी हुई है। कमीशन बाजी की सेटिंग इतनी पक्की है कि कोई कार्यों की जांच करने वाला नहीं है। निरीक्षण के नाम पर भी खानापूर्ति हो रही है। सेटिंग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कागजों में निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी हो जाता है और मानक पूरे होने का प्रमाण पत्र भी मिल जाता है।

27 1

जिसके बाद बिना किसी रुकावट से भुगतान भी हो जाते हैं। नगर में चल रहे जिस भी निर्माण कार्य पर चले जाएं निर्माण सामग्री देखकर अच्छे खासे आदमी को शर्म आ जाए। ऐसा ही एक और मामला फिर सामने आया है। तहसील रोड की तरफ से सुलेमान शाह को होते हुए गढ़ी खटीकान तक एक सड़क का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। इस निर्माण में बेहद घटिया सामग्री लगाई जा रही है।

निहायत ही पीली र्इंट और सीमेंट के नाम पर खानापूर्ति। 14 इंच की दीवर पैर मारते ही गिर रही है। ऐसे में स्वयं अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस निर्माण कार्य कितने दिन चल सकेगा। मगर इस नगर का दुर्भाग्य की समझेंगे कि कोई अधिकारी इस ओर ध्यान देने के लिए तैयार नहीं है।

या यूं कहिए कि सब आंखे बंद करके कमीशन की मलाई चाट रहे हैं। वरना ठेकेदार की हिम्मत नहीं की मानक से हटकर इतना खराब निर्माण कर दे। इस संबंध में ईओ शशि प्रभा चौधरी से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उनका मोबाइल स्वीच आॅफ था।

बोर्ड बैठक में कई बार उठ चुका मुद्दा

घटिया निर्माण कार्य का मुद्दा कई बार बोर्ड बैठक में उठ चुका है। मगर चेयरपर्सन से लेकर ईओ तक कान दबाकर बैठ जाते हैं। अशोक की लाट पर बनी सड़क एक साल के भीतर ही टूट गई। जिसको लेकर खूब हंगामा हुआ था। वर्तमान इस मार्ग की हालत खराब है। सराय अफगानान, मंडी चमारान, कहारान, कमराननवाबान समेत अधिकांश इलाकों में घटिया निर्माण को लेकर विरोध हो चुका है। मगर पालिका अधिकारी पूरी तरह से आंख बंद करके मलाई लपेट रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments