Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutये लापरवाही ले सकती है किसी की जान

ये लापरवाही ले सकती है किसी की जान

- Advertisement -
  • डिवाइडर पर लगी लोहे की रेलिंग टूटकर सड़क ही ओर लटकी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: हम बात कर रहे हैं, मवाना रोड के आदर्श चौराहे की। आदर्श चौराहे से 10 कदम गंगानगर की तरफ जैसे ही चलते हैं तो डिवाइडर पर लगी लोहे की रेलिंग टूटी पड़ी है, जो तीन फुट सड़क की तरफ लटकी हुई है। इसमें बड़ी लापरवाही झलक रही है। कोई भी बाइक या कार इसकी चपेट में आए तो बड़ा हादसा हो सकता है। ये तस्वीर ‘जनवाणी’ फोटोजर्नलिस्ट ने अपने कैमरे में कैद की, जो खतरे को स्पष्ट दर्शा रही है, लेकिन यहां से तमाम अधिकारियों का आवागमन होता है, लेकिन नगर निगम के अधिकारियों को डिवाइडर की रेलिंग ठीक कराने का होश नहीं है।

यही वजह है कि इसी लापरवाही के चलते किसी की जान भी जा सकती है, लेकिन अधिकारी बेपरवाह बने हुए हैं। डिवाइडर की देखरेख की जिम्मेदारी नगर निगम की होती है, लेकिन यहां नगर निगम ने लगता है आंखें बंद कर ली है। निगम के अफसरों को नहीं तो कुछ सुनाई देता है और नहीं कुछ दिखाई देता है। निगम के सामने तारीफ के पुल बांधे जाते रहे बस यही उनको सुनना पसंद है। लापरवाही दिखाई नहीं देती। इसमें किसी की जान जा सकती है, लेकिन नगर निगम के अफसरों की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ता।

20 7

दरअसल, नियम यह है कि नगर निगम में जो भी विज्ञापन के होर्डिंग लगाते हैं उनकी जिम्मेदारी होती है कि वह डिवाइडर को दुरुस्त रखें। ऐसा एग्रीमेंट भी होता हैं, लेकिन यहां होर्डिंग तो खूब लगाए जाते हैं, लेकिन ठेकेदारों से अफसर डिवाइडर को ठीक कराने की का भी काम नहीं ले पाते हैं। यही वजह है कि अफसरों की लापरवाही आम जनता की जान पर बन जाती है। यहां से हर रोज मेयर हरिकांत अहलूवालिया भी निकलते हैं। उनका आवास गंगानगर में हैं, लेकिन उन्हें भी ये लोहे की रैलिंग दिखाई नहीं देती। जब हादसा हो जाएगा, किसी की जान चली जाएगी, उसके बाद सांत्वना देने के लिए तो मेयर सबसे पहले पहुंच जाएंगे, लेकिन इसको ठीक कराने के लिए उनके पास समय नहीं हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments