Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेडिकल में नर्सेस स्टाफ का हंगामा, बाद में समझौता

मेडिकल में नर्सेस स्टाफ का हंगामा, बाद में समझौता

- Advertisement -
  • ड्यूटी लगाए जाने को लेकर तमाम नर्सेज स्टाफ गया था सीएमएस से जताने नाराजगी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: एलएलआरएम मेडिकल के नर्सिंग स्टाफ ने गुरुवार को मेडिकल में जमकर हंगामा हुआ। उन्होंने शिफ्ट बहिष्कार की चेतावनी तक दे दी। बाद में सभी नर्सेज सिस्टर प्रधानाचार्य कक्ष पर जमा हो गयीं। वहां भी काफी हंगामा हुआ, लेकिन बाद में प्रधानाचार्य डा. आरसी गुप्ता से बातचीत के बाद मामला निपट गया। दरअसल, हुआ यह है कि आज कुछ सिस्टम मेडिकल के सीएमएस धीरज राज बालियान के आफिस में कुछ सिस्टर जमा थीं। ड्यूटी लगाए जाने को लेकर कुछ नाराजगी थी। उसी दौरान वहां अचानक निरीक्षण को प्रधानाचार्य आ गए।

सीएमएस कार्यालय में इतनी ज्यादा संख्या में नर्सेज देखकर उन्होंने नाराजगी जतायी। उसको लेकर नर्सेज भी नाराजगी जताते हुए सीधे प्रधानाचार्य कक्ष की ओर कूच कर दिया। वहां हंगामा सरीखे हालात बन गए, लेकिन बाद में प्रधानाचार्य डा. आरसी गुप्ता के वहां आने के बाद मामला निपट गया। मेडिकल कॉलेज के मीडिया प्रभारी डा. वीडी पांडे ने बताया कि गुरुवार दोपहर में परमानेंट नर्सिंग स्टाफ जो नर्सिंग इंचार्ज के पद पर पदोन्नति हो चुकी है उनको मॉर्निंग, इवनिंग, नाइट तीनों शिफ्ट में ड्यूटी कराने के लिए प्रधानाचार्य ने मैट्रन को आदेशित किया था।

परंतु नव पदोन्नत नर्सिंग इंचार्ज ने नाइट ड्यूटी करने से मना कर दिया तथा रोष व्यक्त किया। प्रधानाचार्य ने कड़ा रुख अपनाते हुए तीन शिफ्ट में ड्यूटी लगाने को कहा तथा मैट्रन को आदेशित किया कि नर्सिंग संगठन के प्रतिनिधि के साथ मिलकर प्रभावी कार्य व्यवस्था को बनाए रखने हेतु मॉर्निंग, इवनिंग एवं नाइट ड्यूटी लगाकर आगामी एक माह का ड्यूटी रोस्टर शीघ्र मेडिकल कालेज प्रधानाचार्य के समक्ष प्रस्तुत करें। यदि कोई भी नर्सिंग इंचार्ज नाइट ड्यूटी करने से माना करता है तो उसके विरुद्ध उचित विधिक कार्रवाई की जाएगी।

वक्फ प्रॉपर्टी पर फिर रार, डीएम से गुहार

मेरठ: शहर में वक्फ प्रॉपर्टियों को लेकर रार लगातार बढ़ती जा रही है। कबाड़ी बाजार स्थित वक्फ प्रॉपर्टी संख्या 526 पर दो पक्षों के आमने सामने आने के बाद मामला पेचीदा हो गया है। इस संबध में एक पक्ष ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर वक्फ बोर्ड के आदेशों का पालन कराने की अपील की है। कबाड़ी बाजार स्थित स्मिथ गंज में वक्फ प्रॉपर्टी संख्या 526 के तहत दुकान संख्या-13 को लेकर दो पक्षों में रार है। दोनों की अपनी अपनी दलीलें हैं।

इस मामले में फरहीन खानम पत्नी मो. फैसल ने उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के विधि अधिकारी अब्दुल मुबीन खां के हवाले से जिलाधिकारी को एक पत्र भेजा है। इस पत्र में कहा गया है कि यह वक्फ सरकारी अभिलेखों में वक्फ अलल खैर एवं वक्फ संख्या 526 मेरठ के रूप में पंजीकृत है। विधि अधिवक्ता के अनुसार फरहीन खानम ने बोर्ड को पत्र भेजकर पहले ही अवगत करा दिया था

कि उक्त किरायेदारी वाली दुकान पर जुनैद अहमद नामक व्यक्ति द्वारा कब्जा करके अपना ताला लगा दिया है। विधि अधिकारी के अनुसार इस प्रकरण में बोर्ड के निरीक्षक द्वारा स्थलीय निरीक्षण भी कर लिया गया है तथा जांच आख्या भी प्रस्तुत की जा चुकी है। विधि अधिकारी ने जिलाधिकारी से मांग की है कि वो इस प्रकरण में संज्ञान लेकर जुनैद अहमद पक्ष द्वारा दुकान में डाले गए ताले को खुलवाकर फरहीन खानम को कब्जा दिलाने का कष्ट करें।

प्रशासन भाजपा के दबाव में

फरहीन खानम ने आरोप लगाते हुए कहा है कि इस मामले में प्रशासन कुछ भाजपा नेताओं के दबाव में है। फरहीन के अनुसार मामले की फाइल कभी अपर सर्वे वक्फ आयुक्त तो कभी सीडीओ और कभी जिलाधिकारी कार्यालय में भटक रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि कुछ भाजपा नेताओं के दबाव मेंकब्जे की कार्रवाई रुकी हुई है। फरहीन खानम ने यह भी आरोप लगाया कि जुनैद पक्ष इस मामले में पैरवी पर उनके पति को जान से मारने की धमकी दे रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments