Monday, December 6, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttarakhand Newsउत्तराखंड: स्वास्थ्य विभाग ने छेड़ा डेंगू के खिलाफ महाअभियान

उत्तराखंड: स्वास्थ्य विभाग ने छेड़ा डेंगू के खिलाफ महाअभियान

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: डेंगू से निपटने को लेकर देहरादून नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग बुधवार से महाअभियान शुरू करेगा। इस बाबत मेयर सुनील उनियाल गामा ने नगर व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर दिशा-निदेश दिए हैं।

चार बड़े वाहन करेंगे अभियान में सहयोग

बैठक में सहमति बनी है कि 27 अक्टूबर से नगर को चार जोन में बांटकर बल्लूपुर चौक से महाअभियान चलाया जाएगा। इसके लिए 40 स्प्रे फाॅगिंग एवं 40 एंटी लार्वा छिड़काव मशीनों से पूरे इलाके में दवाइयों का छिड़काव किया जाएगा। इसके अतिरिक्त चार बड़े वाहन में फाॅगिंग मशीनें व चार ट्रैक्टर टैंकर में एंटी लार्वा के छिड़काव में सहयोग करेंगे।

डेंगू बीमारी के प्रति जागरुक करने पर जोर

मेयर गामा ने आमजन को डेंगू बीमारी के प्रति जागरुक करने पर जोर दिया। मेयर ने कहा कि वह स्वयं महाअभियान की मॉनिटरिंग करेंगे और किसी भी स्तर पर लापरवाही पकड़ी गई तो संबंधित के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कैलाश जोशी, वरिष्ठ नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरके सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी सुभाष जोशी समेत नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग के कई अधिकारी उपस्थित रहे।

निजी लैब संचालक वसूल रहे डेंगू जांच का मनमाना शुल्क

वहीं डेंगू और मिलते जुलते लक्षणों वाले मरीज बढ़ने के साथ ही इसकी जांच के नाम पर कई निजी लैब संचालक मनमाना शुल्क वसूल रहे हैं। विभिन्न निजी पैथोलॉजी लैब में डेंगू की जांच का शुल्क अलग-अलग हैं। यही नहीं शुल्क के लिए लैब संचालक मोल-भाव करने को भी तैयार रहते हैं। ऐसे में आपसे कुछ कम शुल्क लिया जा सकता है।

इस बार देहरादून जिले में भी डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं। आजकल डेंगू से मिलते-जुलते लक्षणों वाला वायरल बुखार के भी मरीज ज्यादा आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण के भी कुछ लक्षण डेंगू बुखार जैसे होते हैं।

डॉक्टर बुखार के ज्यादातर मरीजों को भी डेंगू की जांच के लिए लिख रहे हैं। सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों और पैथोलॉजी लैब में डेंगू की जांच कराने वाले मरीजों की भीड़ बढ़ रही है।

लैब के शुल्क:

  • सहारनपुर चौक स्थित एक लैब के कर्मचारी ने रैपिड जांच का शुल्क 750 रुपये और एलाइजा जांच का 1100 रुपये बताया।
  • राजकीय दून मेडिकल अस्पताल के समीप स्थित एक लैब के कलेक्शन सेंटर के कर्मचारी ने बताया कि एलाइजा जांच का शुल्क 1400 रुपये है।
  • पटेलनगर स्थित एक निजी अस्पताल के कर्मी में एलाइजा जांच 1040 रुपये में होना बताया। 
  • कारगी चौक स्थित एक लैब के कर्मचारी ने बताया कि अगर लैब पर आएंगे तो एलाइजा जांच के 1200 रुपये और होम कलेक्शन के 1400 रुपये लगेंगे। 

सरकारी अस्पतालों में डेंगू की रैपिड और एलाइजा जांच निशुल्क की जाती है। पिछले लगभग दो साल पहले सरकार ने निजी लैब में डेंगू की जांच का शुल्क तय किया था।

इस बार ऐसे कोई आदेश नहीं मिले हैं। फिर भी निजी लैब संचालकों से कहा गया है कि डेंगू की जांच के लिए मनमाना शुल्क नहीं वसूला जाए। अगर कोई मनमाना शुल्क वसूलता है तो उन पर नियमानुसार कार्रवाई भी की जाएगी।
   -सुभाष जोशी, जिला वेक्टर जनित रोग अधिकारी

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments