Monday, May 17, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut... और जब इस देशी जुगाड़ की डीजीपी ने जानकारी ली

… और जब इस देशी जुगाड़ की डीजीपी ने जानकारी ली

- Advertisement -
0
  • कोरोना संक्रमण के चलते सभी थानों में लगाया जा सकता है यह देशी जुगाड़

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए थाना देहली गेट में भाप लेने के लगाए गए देशी जुगाड़ की चर्चा लखनऊ तक पहुंच गई है। शनिवार को डीजीपी ने एसएसपी अजय साहनी से फोन पर बात कर देशी जुगाड़ के बारे में जानकारी ली। संभावना है कि यह देशी जुगाड़ अब प्रदेशभर के सभी थानों में लगाए जाएंगे। ताकि पुलिसकर्मियों समेत आम लोग भी इसका लाभ उठा सकें।

शहर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के केस और आॅक्सीजन की कमी के चलते देहली गेट थाना पुलिस ने मंगलवार को भाप लेने के लिए थाने में देशी स्टीमर लगाया था। ताकि पुलिसकर्मी थाने में ही स्टीम ले सकें और इसी के साथ आमजन भी थाने में पहुंचकर भाप ले सकें। देहली गेट थाना प्रभारी राजेंद्र त्यागी के इस देशी जुगाड़ की चर्चा अब लखनऊ तक पहुंच गई है।

जिसके चलते शनिवार को डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने एसएसपी अजय साहनी से फोन पर बात करके देशी जुगाड़ के बारे में जानकारी प्राप्त की है। डीजीपी के भाप लेने वाले देशी जुगाड़ के बारे में जानकारी लेने से प्राप्त हो रहा है कि इस तरह के जुगाड़ प्रदेश के सभी थानों में लगाएं जाएंगे। ताकि थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों व आमजन को इसका फायदा मिल सकें।

देहली गेट थाना प्रभारी राजेंद्र त्यागी ने शहर में आॅक्सीजन व रेमडेसिविर इंजेक्शनों की मारामारी के चलते देहली गेट थाना में एक देशी तरीका इख्तयार किया है। जिसमें उन्होंने एक प्रेशर कुकर से स्टीम बनाना शुरू किया है और उसे एक पाइप से ज्वाइंट कर दिया है। इसी के साथ पाइप में चार टोटी लगाई है, ताकि एक साथ चार पुलिसकर्मी स्टीम ले सकें।


पुलिस लाइन में बनेगा कोविड अस्पताल, जल्द होगा शुरू

कोरोना संक्रमण के बीच लगातार ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों पर अब कोरोना संक्रमण का खतरा मंडराने लगा है। प्रदेश में कुछ पुलिस कर्मियों के संक्रमित होने के बाद एसएसपी अजय साहनी ने पुलिस लाइन में कोविड-19 बनाने के निर्देश दिए हैं। ताकि कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों को समय पर उपचार मिल सकें। कोविड-19 अस्पताल में उपचार की सभी व्यवस्थाएं कराई जाएंगी और जल्द ही यह कोविड अस्पताल शुरू किया जाएगा। कोविड अस्पताल को बनाने के लिए तैयारी युद्ध स्तर पर शुरू हो गई है।

पुलिस लाइन में फिलहाल पुलिस कर्मियों के लिए एक अस्पताल है, लेकिन इसमें प्राथमिक उपचार की ही सुविधाएं है। गंभीर बीमारी से ग्रसित पुलिसकर्मियों को मेडिकल कॉलेज या फिर निजी अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, लेकिन अब कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे केस को लेकर पुलिस विभाग भी गंभीर हो चुका है और मौजूदा हालात को देखते हुए पुलिस लाइन में कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी की जा रही है। जिसे जल्द ही तैयार किया जाएगा। हालांकि हाल ही में प्रदेश में पंचायत चुनाव हुए है।

पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण कराने के लिए जिला पुलिस के अलावा पीएसी व अर्द्धसैनिक बल की भी ड्यूटी लगाई हुई है। माना जा रहा है पंचायत चुनाव कराकर लौटे पुलिसकर्मियों में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाएं जा सकते हैं। यही नहीं नाइट कर्फ्यू व लॉकडाउन में प्रशासन की गाइड लाइन का पालन कराने के लिए भी जिला पुलिस दिन-रात सड़कों पर घूम रही है।

ऐसे में कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों के इलाज के लिए अब पुलिस विभाग ने पुलिस लाइन में ही सभी सुविधाओं से लैस कोविड अस्पताल बनाने की कवायद शुरू की है। ताकि संक्रमित पुलिसकर्मियों को समय पर उचित इलाज मिल सकें। वहीं प्रतिसार निरीक्षक का कहना है कि पुलिस लाइन में कोविड अस्पताल जल्द ही तैयार किया जाएगा। जिसके लिए युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू कर दी गई है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments