Sunday, February 25, 2024
HomeNational Newsक्या 11 सीटों पर सिमटेगी कांग्रेस!, राहुल गांधी की न्याय यात्रा से...

क्या 11 सीटों पर सिमटेगी कांग्रेस!, राहुल गांधी की न्याय यात्रा से पहले अखिलेश यादव का दांव, इंडिया गठबंधन में टूट का बढ़ा खतरा

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉटकॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक अभिनंदन और स्वागत है। उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन को तगड़ा झटका लगने की खबर मिल रही है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने 16 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है। इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस पार्टी को प्रदेश में केवल 11 सीटें ही दी हैं। इस घोषणा के बाद से जहां प्रदेश कांग्रेस नेता लगातार यह कह रहे थे कि प्रदेश में इतनी कम सीटें उन्हें स्वीकार नहीं हैं।

वे 20 से कम सीटों पर मानने के लिए तैयार नहीं हैं। उधर, कांग्रेस से अंतिम बातचीत के पहले ही अपने प्रत्याशियों की सूची जारी कर अखिलेश यादव ने अपनी तरफ से डील फाइनल कर दी है। इससे यूपी में इंडिया गठबंधन में टूट का खतरा बढ़ गया है।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के यूपी में प्रवेश से पहले ही अखिलेश यादव की इस कोशिश को कांग्रेस पार्टी के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है। इंडिया गठबंधन की ओर से यह प्रचारित किया जा रहा था कि सभी सहयोगी दल मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं।

सभी साथ मिलकर चुनाव प्रचार में उतरने की रणनीति अपनाएंगे। लेकिन, फिलहाल राहुल गांधी की यात्रा के यूपी में प्रवेश से पहले ही अखिलेश यादव ने अपनी सूची जारी कर यह साफ कर दिया है कि समाजवादी पार्टी अपनी रणनीति पर आगे बढ़ने के लिए तैयार है।

समाजवादी पार्टी नेता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि कांग्रेस पार्टी को बहुत सोच विचार के बाद 11 सीटें देनी तय की गई हैं। इसमें बढ़ोतरी की कोई गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा को इससे बहुत खुश नहीं होना चाहिए, क्योंकि, इंडिया गठबंधन अभी अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में 62 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। बसपा के इंडिया गठबंधन में आने की किसी संभावना को खारिज करते हुए चौधरी ने कहा कि बसपा का चरित्र संदेहजनक रहा है, ऐसे में उनका गठबंधन में आना संभव नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस के एक नेता का कहना है कि इस मामले पर केंद्रीय नेतृत्व अंतिम निर्णय लेगा। लेकिन, कांग्रेस देश के सबसे बड़े राज्य में 11 सीटों पर सिमटना स्वीकार नहीं करेगी। इससे पार्टी कुछ सीटों पर सिमट कर रह जाएगी और इससे भविष्य में पार्टी के मजबूत होने की संभावनाएं समाप्त हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि इससे बेहतर होगा कि हम अकेले चुनाव में उतरेंगे और हर सीट पर अपना जनाधार विकसित करेंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments