Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutहर्रा में बंदरों के हमले से महिला छत से गिरी, मौत

हर्रा में बंदरों के हमले से महिला छत से गिरी, मौत

- Advertisement -
  • बंदरों ने महिलाओं और बच्चों का घर से निकलना किया दूभर

जनवाणी संवाददाता |

सरूरपुर: क्षेत्र के कस्बा हर्रा में बंदरों के हमले में एक महिला की छत से गिरकर दर्दनाक मौत हो गई हादसे को लेकर जहां परिवार वालों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं कस्बे में कस्बा बंदरों के भारी आतंक से लोग काफी भयभीत बने हुए।
कस्बा हर्रा के वार्ड-14 में महफूज पत्नी स्व. तरीखत मंगलवार दोपहर घर के आंगन में बैठी हुई थी। इस दौरान बंदर बच्चों के दूध की बोतल उठा कर ले गया।

जिसे छुड़ाने के लिए महिला छत पर पहुंची तो बंदर बोतल लेकर भाग गया, लेकिन इस दौरान पीछे से आए दूसरे बंदर ने महिला पर हमला कर दिया। जिससे बचने की कोशिश में महिला छत से सीधे जमीन पर जा गिरी और गंभीर रूप से घायल हो गई। हालांकि कुछ देर बाद ही महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई। जिससे परिजनों में कोहराम मच गया। हालांकि बाद में महिला को गमगीन माहौल में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया।

14 14

कस्बे के लोगों ने बताया कि कस्बे के अंदर बंदरों का काफी आतंक मचा हुआ है, लेकिन नगर पंचायत प्रशासन इस ओर से आंख मूंद कर बैठा हुआ है। जबकि पर बंदरों ने कस्बे के लोगों का जीना मुहाल कर रखा है। खासतौर पर महिला और बच्चों को बंदर आए दिन निशाना बना रहे हैं। कस्बे के लोगों का कहना है कि अब तक बंदर कई लोगों को मौत के मुंह में पहुंच चुके हैं,

लेकिन नगर पंचायत प्रशासन की ओर से बंदरों को पकड़ने का कोई अभियान नहीं चलाया जा रहा है। जिसे लेकर कस्बे के लोगों में रोष बना हुआ है। उधर, नगर में इतना बड़ा हादसा होने के बाद भी नगर पंचायत प्रशासन ने इस मामले में कोई सुध नहीं ली इसे लेकर परिजनों में भारी आक्रोश बना हुआ है।

संदिग्ध अवस्था में स्पोर्ट्स कारोबारी की मौत

मेरठ: भावनपुर थाना के जयभीमनगर के मोहल्ला कमला नगर निवासी रजत शर्मा पुत्र राजपाल शर्मा की सोमवार रात संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। सुबह जब नौकर कमरे में गया तो रजत की मौत हो चुकी थी। इस पर उसने मृतक के चचेरे भाई रवि को फोन पर मामले की जानकारी दी। इसी बीच सूचना मिलते ही हसनपुर चौकी पुलिस ने मौके पर पहुंचे और मामले की जांच करते हुए शव पंचनामा भरते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

वहीं, मृतक के भाई रवि ने बताया कि उसका काफी समय से पत्नी प्रियंका के साथ तलाक को लेकर कोर्ट में मुकदमा चल रहा है। जिसके चलते उसकी पत्नी और उसका 12 वर्ष का बेटा मुम्बई में रहते हैं। जिसके बाद वह अपने नौकर संजीव के साथ कमला नगर में अकेला ही रहता है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसके शव को परिजनों के हवाले कर दिया।

सीडीए अधिकारी ने बेगमपुल से खरीदी थी शराब की बोतल, सीसीटीवी में कैद

कंकरखेड़ा : क्षेत्र में खड़ौली के बाग किनारे सीडीए के आडिटर अंकित पंवार का शव मिलने के बाद पुलिस मौत की गुत्थी को सुलझाने में जुटी है। हालांकि पीड़ित परिजनों ने अभी तक तहरीर पुलिस को नहीं दी है। मगर, पुलिस अपने स्तर से जांच पड़ताल कर रही है। आडिटर 14 जनवरी की शाम को बेगमपुल से शराब की बोतल खरीदी और वह टेंपो में बैठकर चले गए थे। यह सब सीसीटीवी फुटेज में कैद है।

मूलरूप से शामली के एलम गांव निवासी करीब 34 वर्षीय अंकित पंवार सीडीए में आडिटर थे। जिनकी पोस्टिंग उत्तराखंड के लैंसडाउन स्थित वेतन लेखा कार्यालय में थी। 19 जनवरी तक आडिटर की ट्रेनिंग के लिए अंकित मेरठ ट्रेनिंग हास्टल आए थे। 13 जनवरी की रात करीब साढ़े नौ बजे अंकित हास्टल से निकल गए थे। जिसके बाद 14 जनवरी की सुबह अंकित का शव दून हाइवे पर खड़ौली के पास द कलाम होटल के सामने बाग के किनारे पड़ा मिला था।

शरीर पर चोट के निशान नहीं थे। शिनाख्त के बाद पुलिस ने शव मर्चरी पहुंचा दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट न होने पर बिसरा सुरक्षित कर दिया। वहीं पु़लिस ने अपने स्तर से छानबीन शुरू की है। शव का अंतिम संस्कार गांव एलम में किया। इंस्पेक्टर देवेश सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज में आडिटर ने बेगमपुल से शराब की बोतल खरीदी और फिर वह टेंपो में बैठकर आगे निकले थे। रास्ते में कहां उतरे। कैमरों की फुटेज चेक की जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments