Monday, June 17, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorसाहित्यिक चोरी को रोकने के लिए किया कार्यशाला का आयोजन

साहित्यिक चोरी को रोकने के लिए किया कार्यशाला का आयोजन

- Advertisement -
  • साहित्यिक चोरी का पता लगाने के विभिन्न सॉफ्टवेयर के बारे में भी दी जानकारी

जनवाणी ब्यूरो |

बिजनौर: वर्धमान कॉलेज बिजनौर में शोध एवं विकास समिति के तत्वाधान में साहित्यिक चौर्य एवं विद्युतीय संसाधन नामक विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का शुभारंभ कॉलेज प्राचार्या प्रो.सीएम जैन, मुख्य वक्ता डा. जेऐ सिद्विकी ने मां सरस्वती के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

कार्यक्रम में कॉलेज प्राचार्य सीएम जैन ने महाविद्यालय परिवार की ओर से मुख्य वक्ता डा. जेऐ सिद्विकी का स्वागत किया तथा इस कार्यशाला की महत्ता पर अपने विचार व्यक्त किए।

डा.जेऐ सिद्विकी ने कार्यशाला के विषय पर अपने व्याख्यान में साहित्यिक चौर्य एवं विद्युतीय संसाधनों के अर्थ पर प्रकाश डालते हुए बताया कि साहित्यिक चोरी की रोकने के लिए सबसे पहले स्वयं के प्रति ईमानदार होना बहुत आवश्यक है।

साहित्यिक चोरी का पता लगाने के उन्होंने विभिन्न सॉफ्टवेयर के बारे में भी विस्तृत से जानकारी प्रदान की। इस कार्यशाला का संचालन डा. यश्वेंद्र ढाका और संयोजन डा. अलका साहू ने किया।

इस अवसर पर कार्यशाला में डा.राजीव जौहरी, डा. धर्मेंद्र यादव, डा. मनीष कुमार गुप्ता, डा. राजीव कुमार, डा. शान्तनु सिंह काकरान, डा. अवनीश कुमार अरोडा, डा. विपिन देशवाल, डा. आरती, डा. संध्या रस्तौगी,डा. मकुश कुमार, डा. प्रमोद धामा, डा. देवेंद्र गंगवार, डा. राजेश यादव, डा.ओपी सिंह आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments