Saturday, May 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutयाकूब की फैक्ट्री का मांस का सैम्पल फेल, बढ़ी मुसीबतें

याकूब की फैक्ट्री का मांस का सैम्पल फेल, बढ़ी मुसीबतें

- Advertisement -
  • डीएम से ली जाएगी मांस नष्ट करने की अनुमति
  • फैक्ट्री मैनेजर के घर दबिश, याकूब के घर नोटिस चस्पा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी की अलफहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में मिला मीट का सैम्पल फेल निकला है। इससे याकूब की मुसीबतें बढ़ गई है। वहीं, अब पुलिस फैक्ट्री में मिले मांस को नष्ट करने के लिये जिलाधिकारी से अनुमति मांगेगी। वहीं, पुलिस ने मीट फैक्ट्री के मैनेजर मोहित त्यागी के घर दबिशें दी, लेकिन वो फरार मिला। वहीं, याकूब कुरैशी की तलाश में कई टीमें लगा दी गई है।

बसपा के पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी के मीट प्लांट के सैंपल फेल हो गए हैं। यानी एक्सपोर्ट होने वाले मीट में कीडे और फंगस मिलने का बड़ा मामला सामने आया है। नियम कानूनों को ताक पर रखकर मीट प्लांट संचालित किया जा रहा था। इस मामले में जब पुलिस प्रशासन की टीम ने छापेमारी की तो एफडीए विभाग ने मीट के सैंपल लिए थे। जो अब रिपोर्ट आने के बाद फेल साबित हुए हैं।

अब खाद्य विभाग डीएम के. बालाजी से मीट को नष्ट करने की अनुमति लेगा। इससे पहले डीएम की अनुमति से 6720 किलो मीट नष्ट किया गया था। वहीं, एनबीडब्ल्यू जारी होने के बाद याकूब समेत पत्नी और दो बेटे फरार हैं। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए याकूब और उसके परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ एनबीडब्ल्यू नोटिस जारी करवा लिया। एसीजेएम की कोर्ट ने कल एनबीडब्ल्यू नोटिस जारी किए हैं। जिसके बाद पुलिस ने रात को ही दबिश दी।

हालांकि दबिश के दौरान याकूब के घर में केवल नौकर मिले। परिवार के लोग जा चुके थे। उधर, अन्य विभाग भी याकूब कुरैशी के अवैध धंधों पर अपनी पैनी निगाह बनाए हुए हैं। याकूब कुरैशी के माय सिटी हॉस्पिटल को सील कर दिया गया है। पुलिस ने भी याकूब का गैर जमानती वारंट उसकी कोठी पर चिपका दिया है। जिसके बाद अब उसकी तलाश में दबिश दी जा रही हैं।

वहीं, मीट प्लांट में मौजूद अवैध मीट के नमूने फेल होने से हड़कंप मच गया है। इस मीट को पैकेज करके विदेश भेजा जाने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन मीट में फंगस और कीड़े मिले हैं। जिसके बाद खाद्य विभाग में भी हड़कंप का माहौल है। और याकूब की मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ती हुई नजर आ रही है।

याकूब के खिलाफ कार्रवाई की सीएम से मांग, पत्र लिखा

प्रदेश राज्यमंत्री श्रम कल्याण परिषद सुनील भराला ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर याकूब कुरैशी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि याकूब कुरेशी, मंत्री व मीट कारोबारी के विरुद्ध एक मुकदमा दर्ज कराया गया था। जब उसने डेनमार्क के एक कार्टूनिस्ट का सिर काट कर लाने वाले के तौल के बराबर सोना व 51 करोड़ के इनाम की घोषणा की थी।

यह घोषणा उसनेसार्वजनिक रूप से मेरठ में एक बड़ी रैली में की थी, जिसके पूरे साक्ष्य जमा कर आए थे। यह मुकदमा देहलीगेट में दर्ज हुआ था। कराई गई थी। उस समय याकूब उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यक कल्याण व हज राज्यमंत्री थे। याकूब समय समय पर राजनीतिक पार्टी बदलता रहा और अपने अवैध मीट कारोबार से कमाये अकूत धन का दुरुपयोग कर अपने रसूख को बनाए रखने में कामयाब रहा। 15 साल तक भी उत्तर प्रदेश सरकार के शासन द्वारा मुकदमे की कारवाई को आगे बढ़ाने के आदेश करने की हिम्मत नहीं हुई।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments