Sunday, August 7, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutयाकूब की परेशानी बढ़ी मोहित त्यागी जेल गया

याकूब की परेशानी बढ़ी मोहित त्यागी जेल गया

- Advertisement -
  • पुलिस को खबर तक नहीं लगी, एसीजेएम की कोर्ट में सरेंडर किया

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पुलिस दो महीने से याकूब कुरैशी और उसकी फैक्ट्री के मैनेजर मोहित त्यागी को नहीं पकड़ पाई और मैनेजर पुलिस की आंख में धूल झोंकते हुए एसीजेएम छह की अदालत में सरेंडर करके जेल चला गया। वहीं मैनेजर की लोअर कोर्ट में लगा जमानत प्रार्थनापत्र खारिज हो गया। अब जमानत पर सुनवाई सोमवार को होगी।

31 मार्च को हापुड़ रोड स्थित अल फहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड मीट फैक्ट्री में छापामारी कर करीब पांच करोड़ कीमत का मीट पकड़ा था। पुलिस ने इस मामले में याकूब कुरैशी, उनकी पत्नी शमजिदा, बेटा फिरोज और इमरान, मैनेजर मोहित त्यागी समेत 17 आरोपी बनाए है। याकूब कुरैशी, फिरोज, इमरान और मैनेजर मोहित त्यागी की अग्रिम जमानत निरस्त कर दी गई थी।

पत्नी शमजिदा को जमानत मिल गई थी। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि पुलिस की जांच के बाद सामने आया कि मीट फैक्ट्री के अंदर बड़ी संख्या में शामली के कैराना स्थित मीम एग्रो फूडस प्राइवेट लिमिटेड के पैकेट मिले है। अह फहीम से मीम एग्रो का कनेक्शन है। मीम एग्रो के निदेशक का नाम भी शमजिदा बेगम है।

अब याकूब के खिलाफ अब पुलिस हर तरह के हथकंडे अपनाने की सोच रही है। वहीं मैनेजर मोहित त्यागी भी उसी दिन से फरार चल रहे थे। पुलिस ने इन लोगों पर दबाव बनाने के लिये कुर्की के आदेश तक चस्पा कर दिये थे। गुरुवार को पुलिस को चकमा देकर मोहित त्यागी ने एसीजेएम छह की अदालत में सरेंडर कर दिया और अदालत ने उसे जेल भेज दिया।

पुलिस का कहना है कि अब मोहित त्यागी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी कि फैक्ट्री के संचालन में कौन कौन शामिल है और हाजिरी रजिस्टर में कितने लोगों की रोज हाजिरी लगती है। मोहित के जेल जाने से पुलिस को झटका लगा है। दरअसल पुलिस ने मोहित की तलाश में ज्यादा ध्यान नहीं दिया। यही कारण है पुलिस मोहित के करीब भी कभी नहीं पहुंच पाई थी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments