Thursday, January 27, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएसपी सिटी समेत 303 लोग कोरोना पॉजिटिव

एसपी सिटी समेत 303 लोग कोरोना पॉजिटिव

- Advertisement -
  • 14 पुलिस कर्मी, जिला अस्पताल की महिला डाक्टर, तीन लैब टेक्नीशियन भी संक्रमित, प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

जनवाणी संवाददाता

मेरठ: शहर में कोरोना ने अपनी रफ्तार पकड़ ली है। गुरुवार को जिले में कोरोना का बम विस्फोट हो गया। जहां कल 92 संक्रमित मिले थे। गुरुवार को यह आंकड़ा बढ़कर 303 पर जा पहुंचा। यानी 10 गुणा अधिक बढ़ गया।

अगर लोगों की यही लापरवाही रही तो एक दिन में 1000 का आंकड़ा पार करने में देरी नहीं लगेगी। महत्वपूर्ण बात यह है कि एसपी सिटी विनीत भटनागर समेत 14 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि गुरुवार को 7239 सैंपल जांच के लिये भेजे गये। जिसमें 7237 की रिपोर्ट आयी। जिसमें से 303 कोरोना संक्रमित मिले हैं। यह आंकड़ा चौकाने वाला है। अब जिले में एक्टिव केस की संख्या 640 जा पहुंची है।

मेरठ में यह आंकड़ा अचानक तेजी से बढ़ा है। यह बहुत ही चिंता का विषय है। वहीं, उसके लिये हम सभी जिम्मेदार है। अभी लोग लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिना मास्क के बाजारों में जा रहे हैं। बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही है।

अगर यही लापरवाही रही तो स्थिति काफी भंयकर हो सकती है। वहीं, एक दिन में कोरोना के इतनी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। उधर, जिला अस्पताल की डा. अलका समेत चार स्टाफ के कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। इसकी पुष्टि सीएमओ ने की है।

बताया गया कि डा. अलका के अलावा जिला अस्पताल के लैब में कोरोना की जांच करने वाले लैब टेक्नीशियन भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। यहां जांच पड़ताल प्रभावित हो सकती है। क्योंकि यहां हर रोज 50 से 100 लोगों का कोरोना टेस्ट हो रहा था। यह कार्य प्रभावित हो सकता है।

इसमें टेक्नीशियन कहां से आएंगे? पहले ही स्वास्थ्य विभाग के पास टेक्नीशियन की कमी चल रही है। वहीं, 24 घंटे के अंदर पॉजिटिव आए मरीजों में एसपी सिटी विनीत भटनागर समेत 14 पुलिस कर्मी भी संक्रमित मिले हैं। एसपी सिटी की मुंबई (महाराष्ट्र) की टेÑवल हिस्ट्री रही है। बताया गया कि एसपी सिटी महाराष्ट्र में किसी कार्य से गए थे, जहां से कोविड संक्रमण होने की बात कही जा रही है।

एसपी सिटी के साथ 14 पुलिस कर्मियों को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई हैं। हालांकि इसकी अधिकृत रूप से सूचना अभी जारी नहीं की गई है।
निजी चिकित्सालयों में कोविड उपचार को शासन ने दरें की निर्धारित

डीएम के. बालाजी ने बताया कि नीति आयोग, भारत सरकार के सदस्य की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा की गयी संस्तुतियों के क्रम में निजी चिकित्सालयों द्वारा कोविड-19 से संक्रमित मरीजो के उपचार के लिए शासन द्वारा दरें निर्धारित की गयी है।

उन्होंने बताया कि सुपर स्पेशिलिटी की सुविधा वाले अस्पतालों को कोविड-19 अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने पर मरीजों से निजी चिकित्सालयों द्वारा कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए आइसोलेशन बेड (आॅक्सीजन एवं सहयोगी सुविधाओं के साथ) के लिए प्रतिदिन की दर एनएबीएच एक्रीडेटेड चिकित्सालय के लिए 10 हजार रुपये तथा नॉन-एक्रीडेटेड चिकित्सालयों के लिए आठ हजार रुपये की दर निर्धारित की गयी है। जिसमें कम गंभीर रोगियों के लिए आॅक्सीजन एवं अन्य आवश्यक सहयोगी उपचार सम्मिलित है।

आईसीयू बेड (बिना वेंटीलेटर) के लिए प्रतिदिन की दर एनएबीएच एक्रीडेटेड चिकित्सालय के लिए 15 हजार रुपये तथा नॉन-एक्रीडेटेड चिकित्सालयों के लिए 13 हजार रुपये की दर निर्धारित की गयी है। इस श्रेणी में हाइपरटेंशन एवं अनियंत्रित डायबटीज से पीड़ित को-मॉर्बिडिटीज रोगी सम्मिलित है।

आईसीयू बेड (वेंटीलेटर सहित) के लिए प्रतिदिन की दर एनएबीएच एक्रीडेटेड चिकित्सालय के लिए 18 हजार रुपये तथा नॉन-एक्रीडेटेड चिकित्सालयों के लिए 15 हजार रुपये की दर निर्धारित की गयी है। इस श्रेणी में इनवेसिव मैकेनिकल वेंटीलेशन तथा नॉन-इनवेसिव मैकेनिकल वेंटीलेशन जैसे एचएफएनसी एवं बाई लेवल पीएपी की आवश्यकता वाले रोगियों का उपचार सम्मिलित है।

को-मॉर्बिड रोगियों का उपचार तथा अल्प अवधि की हीमो डायलिसिस की सुविधा भी पैकेज में सम्मिलित है। उक्त दर निर्धारण पीडियाट्रिक के ऊपर लागू है। अपर मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन चिकित्सा के कार्यालय पत्र द्वारा यह आदेश एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 (यथा संषोधित) एवं उत्तर प्रदेश लोक स्वास्थ्य एवं महामारी अधिनियम-2020 के संगत प्राविधानों के अंतर्गत जारी किया गया है।

उक्त आदेशों का उल्लंघन एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 (यथा संशोधित) एवं उत्तर प्रदेश लोक स्वास्थ्य एवं महामारी अधिनियम-2020 की संगत धाराओं के अंतर्गत दंडनीय है।

जांच की शासन ने निर्धारित की दरें: डीएम

डीएम के. बालाजी ने बताया कि शासन द्वारा कोविड वायरस के संक्रमण की आरटीपीसीआर जांच के लिए ली जाने वाली फीस निर्धारित की गयी है। निजी चिकित्सालय द्वारा निजी प्रयोगशाला को प्रेषित सैम्पल की जांच की दर अथवा किसी व्यक्ति द्वारा प्रयोगशाला पर जाकर कोविड-19 की जांच कराने पर 700 रुपये जीएसटी सहित, निजी प्रयोगशाला द्वारा स्वयं एकत्र किये गये सैम्पल की दर 900 रुपये जीएसटी सहित तथा यदि राज्य सरकार के विहित प्राधिकारी द्वारा निजी प्रयोगशाला को सैम्पल प्रेषित कराये जाने पर दर 500 रुपये जीएसटी सहित देनी होगी। उन्होंने बताया कि निजी प्रयोगशाला के एंटीजन टेस्ट की दर 250 रुपये व ट्रूनॉट की दर 1250 रुपये (घर से सैंपल कलेक्शन के लिए 200 रुपये मात्र अतिरिक्त) होगी। आम जनमानस को बेहतर एवं सर्वसुलभ चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए निजी चिकित्सालयों एवं निजी चिकित्सकों द्वारा रेडियो डायग्नोस्टिक सेंटरों को संदर्भित एचआर सीटी स्कैन की जांच करने की दर (पीपीई किट एवं सैनिटाइजेशन व अन्य व्यय सहित) शासन द्वारा निर्धारित कर दी गयी है। 16 स्लाइस तक 2,000 रुपये, 16 स्लाइस से 64 स्लाइस तक 2,250 रुपये तथा 64 स्लाइस से अधिक 2,500 रुपये निर्धारित किये गये हैं। अपर मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन चिकित्सा कार्यालय पत्र द्वारा यह आदेश एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 (यथा संषोधित) एवं उत्तर प्रदेश लोक स्वास्थ्य एवं महामारी अधिनियम-2020 के संगत प्राविधानों के अंतर्गत जारी किया गया है। उक्त आदेशों का उल्लंघन एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 (यथा संषोधित) एवं उत्तर प्रदेश लोक स्वास्थ्य एवं महामारी अधिनियम-2020 की संगत धाराओं के अंतर्गत दंडनीय है।

केरल, महाराष्ट्र से मेरठ में ओमिक्रॉन की एंट्री

शहर में ओमिक्रॉन की एंट्री के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं। साथ ही कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए विभाग की ओर से दवाओं और आॅक्सीजन के पर्याप्त इंतजाम कर लिए गए हैं।

11 हजार पैकेट दवाओं के तैयार किये गए हैं। जांचें भी दोगुना बढ़ाएं जाने का फैसला किया गया है। ओमिक्रॉन के पांचों मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री केरल, महाराष्ट्र और विदेश की आई हैं।

सीएमओ डा. अखिलेश कुमार के मुताबिक होम आइसोलेशन किट कई दिनों से बनाए जा रहे। 100 किटें निगरानी समितियों को दी जा रही हैं और 10-10 किटें एएनएम के जरिए बांटी जाएंगी। आॅक्सीजन की व्यवस्था पूरी है। शहर में आॅक्सीजन की व्यवस्था पूर्ण हैं। पूरी क्षमता के साथ चालू हालत में हैं और लेवल वन प्लस अस्पतालों में लगभग हर दूसरे बेड पर आॅक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध रहेंगे।

वैकल्पिक व्यवस्था के लिए आॅक्सीजन सिलेंडर भी रहेंगे। लेवल दो के अस्पताल में उच्च क्षमता की तमाम सुविधाएं रहेगी। उधर, जिला अस्पताल में आॅक्सीजन प्लांट चालू हैं। मेडिकल में भी आॅक्सीजन प्लांट चालू हैं। प्राइवेट संस्थानों में आॅक्सीजन प्लांट चालू हालत में हैं। सीएमओ ने उम्मीद जतायी है कि इस बार आॅक्सीजन की किल्लत नहीं होगी। कैंट अस्पताल में आॅक्सीजन प्लांट पर भी जनरेटर चालू करने के लिए कहा गया है। क्योंकि कैंट अस्पताल में आॅक्सीजन प्लांट बंद पड़ा हुआ है।

इस तरह अस्पतालों में आॅक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है। मास्क, सैनिटाइजर, वार्ड की साफ सफाई, चादरों, कम्बल और किसी तरह के सामान की कमी नहीं होने पाए। प्राथमिकता के आधार पर इलाज के कुछ सर्जिकल ग्लब्स, पीपीई किट और दूसरी चीजें खरीदी जा रही हैं।

बिना मास्क के 93 लोगों के चालान, 46500 जुर्माना वसूला

शहर में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के चलते जिले की पुलिस भी अलर्ट हो गई। वहीं, कमिश्नर के आदेश के बाद गुरुवार को जिला पुलिस ने बिना मास्क के 93 लोगों के चालान काटे और उनसे 46500 रुपये का जुर्माना वसूला है। पुलिस की यह कार्रवाई अब लगातार चलेगी। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि नियमों की अनदेखी के कारण लोगों पर कार्रवाई की गई है।

कोरोना के नियमों का पालन करवाने के लिए बार-बार पुलिस की तरफ से जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि अगर लोग कोरोना संक्रमण को नजरअंदाज करेंगे तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। यदि कोई भी कर्मचारी या व्यक्ति कोविड के नियमों का पालन नहीं करेगा तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिला पुलिस ने लोगों से अपील कर कहा कि घर से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग करें।

अगर बिना मास्क के कोई पाया गया तो उसका चालान कर जुर्माना वसूला जाएगा। एसएसपी ने कहा कि समाज के एक जिम्मेवार नागरिक होने के नाते कोविड-19 के निदेर्शों की पालना खुद भी करें और अपने साथियों को भी जागरूक करें।

इसी के साथ शहर के बाजारों में दुकानदारों से भी अपील कर कहा जा रहा है कि वह नो मास्क, नो सर्विस लागू करके कोविड-19 के निदेर्शों का पालन करावाएं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments