Tuesday, October 26, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutविदेश से आने वालों पर पैनी नजर, युद्ध स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग...

विदेश से आने वालों पर पैनी नजर, युद्ध स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग का काम

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: हालांकि अभी कोरोना के बदले रूप स्ट्रेन वायरस का कोई अधिकृत केस नहीं मिला है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश के बाद शहर में ब्रिटेन से आने वालों को स्वास्थ्य विभाग की टीमें ट्रेस कर रही हैं। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि कांटेक्ट ट्रेसिंग का काम युद्ध स्तर पर किया जा रहा है।

जहां तक कोरोना संक्रमण का सवाल है तो उस पर काफी हद तक प्रभावी नियंत्रण किया गया है, लेकिन इसके बावजूद हम लगातार काम कर रहे हैं। संक्रमण का खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. प्रशांत कुमार ने जानकारी दी कि सर्विलांस की टीमें लगातार ऐसे संक्रमितों के कांटेक्ट ट्रेसिंग में लगी हैं, जो नए संक्रमित मिल रहे हैं।

ऐसे संक्रमितों का जिनका किसी पुरानी चेन से कोई संबंध नहीं है। ऐसे संक्रमितों की टेÑवल हिस्ट्री खंगलाने के साथ साथ उनके संपर्क में आने वालों की भी सूची तैयार की जा रही है। ऐसे सभी लोगों के जो नए संक्रमितों के संपर्क में आए हैं, के सैंपल लेकर आरटी पीसीआर जांच के लिए मेडिकल की माइक्रो बॉयलोजी लैब भेजे जा रहे हैं। ऐसे लोगों का भी ब्योरा तैयार किया जा रहा है जो ब्रिटेन के अलावा किसी अन्य देश से भी आए हैं।

कोरोना का बच्चों, युवाओं पर बड़ा हमला, 66 नए केस

कोरोना संक्रमण ने बच्चों व युवाओं पर बड़ा हमला बोला है। वहीं, दूसरी ओर बुधवार को संक्रमण के 66 नए केस भी आए हैं। नए केसों में 15 बच्चे हैं, जबकि 11 युवा हैं। जो केस मिले हैं उनमें बड़ी संख्या ऐसे केसों की है जो किसी पूर्व की चेन से नहीं जुडे हैं। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने कोरोना अपडेट जारी करते हुए संक्रमण के नए 66 केसों की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि बुधवार राहत भरा रहा। किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई है। जबकि संक्रमितों में एक से बीस साल आयु वर्ग के 15 केस मिले हैं। इनमें तीन दयालपुर निवासी, गोलाबढ़ से एक व श्रद्धापुरी से दो केस मिले हैं। नयी बस्ती सरधना से एक केस।

दौराला बंगला कालोनी से तीन तथा एक केस गायत्रीपुरम दुल्हैड़ा से मिला है। 11 केस ऐसे हैं, जिनमें संक्रमित होने वाले सभी युवा हैं। सीएमओ ने बताया कि कांटेक्ट ट्रेसिंग पर सबसे ज्यादा जोर दिया जा रहा है। संक्रमित के संपर्क में आने वाले सभी लोगों के सैंपल लेकर टेस्टिंग के लिए मेडिकल स्थित माइक्रोबॉयलोजी लैब भेजे जा रहे हैं। बड़ी संख्या में सिम्टोमेटिक केस मिल रहे हैं। हालांकि इनमें से ऐसे केसों की संख्या अधिक है जो होम आइसोलेशन में रह सकते हैं। जिन केसों में तनिक भी स्थिति अधिक खराब मिलती है, उन्हें अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। कुछ केस ऐसे हैं जो प्राइवेट इलाज करा रहे हैं।

सरधना में आधा दर्जन लोग मिले कोरोना पॉजिटिव

क्षेत्र में रोजाना हो रही कोरोना जांच में नए केस निकल कर सामने आ रहे हैं। जांच के साथ कोरोना केस का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 108 लोगों की जांच कराई गई। रेपिड किट से हुई जांच में सभी निगेटिव मिले। मगर दो दिन पूर्व जांच के लिए लैब भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट आई तो पता चला कि आधा दर्जन लोग कोरोना पॉजिटिव हैं।

जिनमें धर्मपुरा मोहल्ला निवासी एक ही परिवार के पांच लोग शामिल हैं। इसके अलावा रार्धना गांव निवासी एक शिक्षक संक्रमित मिला है। यह शिक्षक खतौली स्थित एक विद्यालय में नौकरी करता है। जांच रिपोर्ट आने के तत्काल बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी को आइसोलेट करा दिया। साथ ही उनके परिवार को भी होम क्वारंटाइन कर दिया गया। इस संबंध में सीएचसी प्रभारी डा. राजेश कुमार का कहना है कि छह लोग पॉजिटिव मिले हैं। उनके संपर्क में आने वाले लोगों की भी जांच कराई जाएगी।

नोडल अधिकारी ने की कोरोना वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा

जनपद के नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरु प्रसाद ने बचत भवन में स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों के साथ कोरोना से बचाव के लिए बनाये गये टीके (वैक्सीन) के चरणबद्ध तरीके से लगाये जाने की तैयारियों की समीक्षा करते हुये कहा कि चरणबद्ध व व्यवस्थित ढंग से कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण कराया जाये। प्रथम चरण में सरकारी व प्राइवेट स्वास्थ्यकर्मियों को ही टीका लगाया जायेगा। उनके संज्ञान में आया कि जनपद में प्रथम चरण में 17756 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जायेगा।

नोडल अधिकारी ने कहा कि टीकाकरण के लिए आने वाली वैक्सीन के लिए कोल्ड चेन की पर्याप्त व्यवस्था समय से ही पूर्ण की जाये तथा वहां सीसीटीवी कैमरे भी लगाये जाये तथा कोल्ड चेन हैंडलर की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। टीकाकरण के लिए लाभार्थी का पूर्व पंजीकृत होना आवश्यक है। विगत दिनों में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या व मृत्युदर में भी कमी आयी है।

सभी सावधानी व सतर्कता बनाये रखे तथा कांट्रेक्ट ट्रेसिंग को ठीक प्रकार से किया जाये। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि प्रथम चरण में सरकारी व प्राइवेट स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण होगा, द्वितीय चरण में फ्रंटलाइन वर्क्स जैसे फोर्स, नगर निगम कर्मचारी आदि तथा तृतीय चरण में 50 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों का टीकाकरण होगा।

कोरोना वैक्सीन टीकाकरण के लिए 17756 लाभार्थी चिह्नित किये गये है तथा सभी का डाटा कोबिन पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। चिह्नित किये गये व्यक्तियों में 8425 सरकारी व 9331 प्राइवेट स्वास्थ्यकर्मी है। प्रथम टीके के 28 दिन बाद दूसरा टीका लाभार्थी को लगाया जायेगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण कुमार ने बताया कि प्रथम चरण में 40 स्थानों पर 60 सेशन होंगे एक सेशन में करीब 100 लोगों का ही टीकाकरण होगा।

टीकाकरण सोमवार, शुक्रवार व उससे अगले सोमवार को होगा। जिला स्तर पर इसके लिए कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है। जिसका नंबर 0121-2662244 है। उन्होंने बताया कि ब्लॉक स्तर पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किया जायेगा। संभवत: प्रथम चरण एक जनवरी 2021 से प्रारंभ होगा।

नोडल अधिकारी ने किया मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण

जनपद के नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने बुधवार को एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण कर वहां की जा रही व्यवस्थाओं को जांचा उन्होंने वहां कोविड वार्ड में समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि कोरोना मरीजों व मृत्यु दर में कमी आई है, लेकिन अभी सतर्कता व सावधानी अति आवश्यक है।

नोडल अधिकारी पी गुरुप्रसाद ने कहा कि मरीजों के इलाज में कोई कोताही न बरती जाए, उन्हें बढ़िया इलाज, भोजन व वातावरण उपलब्ध हो यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने वहां प्लाजमाथेरेपी से मरीजों के इलाज की व्यवस्थाओं को भी देखा तथा सीसीटीवी से की जा रही मॉनिटरिंग को भी देखा उनके संज्ञान में लाया गया कि गंभीर मरीजों के लिए वर्चुअल कंसल्टेशन भी की जाती है इसमें विशेषज्ञ अपनी राय देते हैं।

इस अवसर पर डीएम के. बालाजी, अपर जिलाधिकारी वित्त सुभाष चंद्र प्रजापति, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अखिलेश मोहन, प्रधानाचार्य एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज डा. ज्ञानेंद्र कुमार सहित अन्य चिकित्सक व अधिकारीगण उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments