Tuesday, June 18, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअधिवक्ता आत्महत्या मामले में वकील सख्त

अधिवक्ता आत्महत्या मामले में वकील सख्त

- Advertisement -
  • बार एसोसिएशन की हुई बैठक, क्रमिक अनशन आज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बार एसोसिएशन के अधिवक्ता ओमकार तोमर के आत्महत्या मामले में अभी तक गिरफ्तारी न होने पर वकीलों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। इस बाबत मेरठ बार एसोसिएशन और जिला बार के अध्यक्ष और महामंत्री की एक बैठक पूर्व अध्यक्ष और महामंत्री के साथ पंडित नानकचंद सभागार के पुस्तकालय में हुई थी। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय हुआ कि प्रकरण में पुलिस प्रशासन ने अभी तक कोई भी गिरफ्तारी नही की है बल्कि अधिवक्ता परिवार के ऊपर ही उलटा मुकदमा कर दिया है।

मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महवीर त्यागी ने बताया कि अधिवक्ता परिवार के ऊपर दर्ज मुकदमा वापस लिये जाने की मांग की, इसी संबंध में बार काउंसिल उत्तर प्रदेश की कॉल पर इस प्रकरण के संबंध में आज शनिवार को पूरे प्रदेश में विरोध दिवस मनाया जाएगा। पुलिस ने अभी तक जो भी कार्रवाई इस संबंध में की है उसको भी पुलिस बार एसोसिएशन को अवगत कराएं।

आंदोलन को तेजी देने के लिये आज वकील जिलाधिकारी मेरठ के कार्यालय पर सुबह 10 बजे से क्रमिक अनशन पर रहेंगे, जो मांग पूरी न होने तक लागू रहेगा। इसके साथ सरकार से अधिवक्ता परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की गई। इसके बावजूद यदि पुलिस द्वारा कोई भी कार्रवाई नही की जाती है तो वकीलों द्वारा हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति पश्चिम उत्तर प्रदेश की आवश्यक बैठक बुलाकर उक्त मांगों के समर्थन में प्रस्ताव पारित कर समस्त जनपदों के माध्यम से उक्त आंदोलन में गति लाई जाएगी।

बैठक में पूर्व अध्यक्षगण चौधरी नरेंद्र पाल सिंह, एमपी शर्मा, अजय त्यागी, ओपी शर्मा, सुभाषचंद्र त्यागी, गजेंद्र पाल सिंह, उदयवीर राणा, राजेन्द्र जानी, महामंत्रीगण कुंवरपाल शर्मा, तरुण ढाका, संजय शर्मा, प्रबोध शर्मा, देवकीनंदन शर्मा, अजय मान, सुनील मालिक, सहित तमाम अधिवक्ता मौजूद रहे।

09 26

एसएसपी से मिला वकीलों का प्रतिनिधिमंडल

मेरठ बार एसोसिएशन की बैठक के बाद वकीलों ने एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था। जिसके बाद अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल एसएसपी मेरठ से शाम मिला। एसएसपी ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि दूसरे पक्ष की तरफ से आत्महत्या होने के कारण उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है, लेकिन दो दिन में सभी की गिरफ्तारी होने का आश्वासन एसएसपी ने वकीलों के प्रतिनिधिमंडल को दिया है। एसएसपी से मिलने वालों में मेरठ बार के अध्यक्ष महावीर त्यागी, महामंत्री सचिन चौधरी जिला बार के अध्यक्ष वीके शर्मा, महामंत्री मुकेश त्यागी, चौधरी नरेंद्र पाल सिंग, ओपी शर्मा, राजेन्द्र जानी, रण सिंह भड़ाना, अब्दुल जब्बार खान, नेपाल सिंह सोम आदि शामिल रहे।

अब गुर्जर समाज ने बढ़ा दी पुलिस की मुश्किलें

गंगानगर थानांतर्गत ईशापुरम निवासी एडवोकेट ओमकार तोमर और दादरी निवासी संजय मोतला के सुसाइड करने की घटना ने पुलिस को पहले से ही दबाव में ला दिया था अब गुर्जर सभा ने इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग करके पुलिस की मुश्किलें बढ़ा दी है। एक तरफ हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक नामजद हैं। वहीं, दूसरे मामले में मृतक एडवाकेट के दोनों बेटों को नामजद किया गया है।

10 27

गुर्जर सभा के अध्यक्ष भंवर सिंह ने पत्रकार वार्ता में कहा कि एडवोकेट ओमकार तोमर ने सुसाइड किया था। इसमें हुई नामजद रिपोर्ट में दादरी निवासी संजय मोतला को आरोपी बनाया गया था। पुलिस के दबाव के कारण संजय मोतला ने सुसाइड कर लिया था।

इससे समाज को बड़ी क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के द्वारा कराई गई नामजद रिपोर्टों की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए और इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो तथा पीड़ित परिवारों के सभी परिजनों के मनोदशा की भी जानकारी ली जाए। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। पत्रकार वार्ता में मुनेन्द्र भड़ाना, वीरेन्द्र कुमार, रामवीर डागर, ऋषिपाल, महेन्द्र सिंह और उदयवीर सिंह मौजूद थे।

शोक सभा में जुट लोग

गांव ऐंची खुर्द में दिवंगत अधिवक्ता ओमकार तोमर की शोकसभा में शुक्रवार को सैकड़ों की संख्या में आसपास के लोग व अधिवक्ता जुटे और दिवंगत आत्मा की शांति के लिये मौन रखकर प्रार्थना की। अधिवक्ता ओमकार तोमर की शुक्रवार को रस्मपगड़ी के दौरान शोकसभा में अधिवक्ताओं व आसपास के क्षेत्रीय लोगों का जमवाड़ा लगा रहा। इससे पूर्व बेटे लव तोमर, दिव्येश तोमर, भाई शिवकुमार आदि लोगों ने हवन पूजन किया और मंत्रोच्चारण के साथ आहुतियां प्रदान की।

इस दौरान बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर त्यागी ने पूर्व मंत्री प्रभुदयाल वाल्मीकि, संतोष सीना, पूर्व सपा जिलाध्यक्ष उदयवीर सिंह, कंवर पाल प्रधान, संजय जाटव, गुड्डू छुछाई, किशोर वाल्मीकि आदि लोगों ने पीड़ित परिवार के साथ खड़े होने की बात की। वहीं, अधिवक्ता की आत्मशांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। परिजनों ने शोकसभा से पूर्व ही विनम्र निवेदन किया कि यहां कई राजनीतिक दलों के लोग पहुंचे हैं लेकिन यहां कोई राजनीति नहीं होगी। जिसका वक्ताओं ने संबोधन में संयम रखा।

पुलिस असमंजस में

अधिवक्ता ओमकार तोमर और संजय मोतला के सुसाइड करने के मामले में पुलिस अभी फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। पुलिस पर विधायक दिनेश खटीक को गिरफ्तार करने का दबाव है तो वहीं संजय मोतला के सुसाइड करने के मामले में मृतक वकील के दोनों बेटों को भी गिरफ्तार करना होगा। पुलिस ने मामले की गंभीरता को लेते हुए इन दोनों प्रकरणों की जांच करा रही है।

पुलिस ने अधिवक्ता सुसाइड के मामले में ताबड़तोड़ दबिशें देकर आरोपियों के परिजनों को थाने में बैठा रखा है। उस वक्त बिगड़ गई जब एक आरोपी संजय मोतला ने पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली। एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि दोनों पक्षों की तरफ से दर्ज कराई गई रिपोर्ट की बारीकी से जांच की जा रही है।

संजय मोतला के घर पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान

दौराला: संजय मोतला की आत्महत्या के मामले में शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री दादरी गांव पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिवार को सांत्वना देते हुए हर संभव मदद व निष्पक्ष जांच कराने का आश्वासन दिया। वहीं, पुलिस मामले की जांच करने में जुट गई है। अधिवक्ता ओमकार की आत्महत्या के मामले में नामजद आरोपी संजय मोतला ने दो दिन पहले पुलिस उत्पीड़न से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी।

बृहस्पतिवार को मुकदमा दर्ज कराने के लिए संजय के परिजन व ग्रामीण थाने में ही धरने पर बैठ गए थे। घंटों जद्दोजहद के बाद पुलिस ने संजय के भाई सुशील की तहरीर पर ओमकार के दो बेटों समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री व सांसद डा. संजीव बालियान, जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन मनिंदरपाल सिंह, विमल शर्मा कार्यकर्ताओं के साथ दादरी गांव पहुंचे।

उन्होंने मृतक के परिवार को सांत्वना देते हुए कहा कि परिवार की हर संभव मदद की जायेगी। वहीं, इस मामले की निष्पक्ष जांच कराई जायेगी। जल्द इस मामले में पुलिस के बड़े अधिकारियों से वार्ता की जायेगी। उधर, मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच करने में जुट गई है। पुलिस सुसाइड नोट को जांच के लिए भेजने की तैयारी कर रही है।

परिजन बोले-आरोपियों की हो गिरफ्तारी

केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान के दादरी गांव पहुंचने पर भाई ओमवीर व सुशील ने संजय मोतला की आत्महत्या के मामले में नामजद किए गए आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि पुलिस ने ओमकार के बेटे द्वारा मुकदमा दर्ज कराए जाने के बाद उनके घर दबिश देनी शुरू कर दी। परंतु उनके द्वारा मुकदमा दर्ज कराने के बाद भी पुलिस ने अब तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर दबिश नहीं दी है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री के सामने गंगानगर पुलिस पर अभद्रता व उत्पीड़न करने का आरोप लगाया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments