Tuesday, September 21, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarफैमिली कोर्ट जज के खिलाफ वकीलों में फूटा गुस्सा

फैमिली कोर्ट जज के खिलाफ वकीलों में फूटा गुस्सा

- Advertisement -
  • आक्रोश प्रकट करते हुए कचहरी में किया नोवर्क
  • बारसंघ के अध्यक्ष व महासचिव के खिलाफ टिप्पणी किये जाने से खफा हैं वकील

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगर: फेमिली कोर्ट के एक जज के द्वारा जिला बार संघ के अध्यक्ष और महासचिव के खिलाफ टिप्पणी के साथ साथ उनके खिलाफ शिकायत करने का मामला गरमा गया है। बुधवार को जिला बार और सिविल बार के अधिवक्ताओं ने जज के खिलाफ आक्रोश प्रकट करते हुए नो वर्क घोषित करने के साथ ही अपने चैम्बरों में तालाबंदी की। इन अधिवक्ताओं ने बार के पदाधिकारियों के साथ जज के खिलाफ कचहरी गेट पर धरना दिया और जज का यहां से तबादला किये जाने की मांग करते हुए आंदोलन की चेतावनी भी दी।

बता दें कि जिला बार द्वारा आरोप लगाया गया है कि फेमिली कोर्ट नम्बर 2 के जज द्वारा जिला बार संघ के अध्यक्ष और महासचिव को लेकर टिप्पणी करते हुए उनकी शिकायत ऊपर की गयी है। इसको लेकर जिला बार और सिविल बार का हाउस बुलाया गया, जिसमें जज के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पर चर्चा करने के साथ ही उनका तबादला किये जाने की मांग को लेकर आंदोलन की रणनीति बनाई गयी।

बुधवार को जिला बार संघ और सिविल बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ अधिवक्ताओं ने रोष प्रकट करते हुए इस प्रकरण में प्रदर्शन किया। बार में पूर्ण रूप से तालाबंदी करते हुए अधिवक्ता नो वर्क पर रहे। चैम्बरों को बन्द करते हुए अधिवक्ताओं ने बार पदाधिकारियों के साथ कचहरी गेट पर धरना दिया। सिविल बार एसोसिएशन के महासचिव बिजेन्द्र सिंह मलिक ने कहा कि जज का आचरण निंदनीय है।

उनको अपने पद की गरिमा के साथ कार्य करना चाहिए। बार के पदाधिकारियों के प्रति ऐसी टिप्पणी नहीं होनी चाहिए थी। बुधवार को बार ने संयुक्त रूप से आंदोलन का निर्णय लिया, यदि इसके बाद भी कार्यवाही नहीं होती है तो बड़ा आंदोलन भी छेड़ा जायेगा। इस धरने में सैंकड़ों अधिवक्ता मौैजूद रहे, सभी ने एक स्वर में कहा कि जज का जिले से तबादला किया जाये।

प्रदर्शन के दौरान जिला बार संघ के अध्यक्ष कलीराम और सिविल बार के अध्यक्ष सुगंध जैन ने संयुक्त रूप से कहा कि जब तक फेमिली कोर्ट नम्बर 2 के पीठासीन अधिकारी को यहां से नहीं हटाया जाता है, तब तक उनके न्यायालय का अधिवक्ताओं के द्वारा बहिष्कार रहेगा। उन्होंने कहा कि ये धरना परिवार न्यायालय कोर्ट नं 2 की कार्यशैली के विरोध में है, जिसमें उनके द्वारा सम्मानित अधिवक्ताओं के साथ लगातार र्दुव्यवहार किया जा रहा है। यह कार्यशैली ठीक नहीं है।

कार्यक्रम का संचालन जिला बार संघ के महासचिव अरूण कुमार शर्माव बिजेन्द्र सिंह मलिक महासचिव सिविल बार एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से किया। प्रदर्शन में मुख्य रूप से जिला बार संघ के अध्यक्ष कलीराम, महासचिव अरूण कुमार शर्मा, सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुगंध जैन, महासचिव बिजेन्द्र सिंह मलिक के अलावा आदेश कुमार, सतेन्द्र कुमार, राज सिंह रावत, सुधीर गुप्ता, सोहनलाल, ओमकार सिंह, श्यामवीर सिंह एडवोकेट सहित सैंकड़ों अधिवक्ता मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments