Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएटीएस, इंटेलिजेंस ने उत्तरदायी से की पूछताछ

एटीएस, इंटेलिजेंस ने उत्तरदायी से की पूछताछ

- Advertisement -
  • पुलिस ने बताया कि प्लॉस्टिक के पैलेट बन रहे थे फैक्ट्री में

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: लोहिया नगर के एम पॉकेट में मंगलवार को गोदाम फैक्ट्री में होने वाले बड़े विस्फोट के मुख्य आरोपी गौरव गुप्ता से एटीएस टीम ने शुक्र वार को एक बार फिर पूछताछ की। वहीं एलआईयू और लोकल इंटेलीजेंस टीम ने भी खानापूर्ति की पूछताछ की और निकल गई। पुलिस ने आरोपी से पूछताछ के बाद टॉयगन के पैलेट बनाने और उसमें सफेद पाउडर भरने की बात कही है। लेकिन एटीएस टीम ने सफेद पाउडर के रुप में मिलने वाले पाउडर को विस्फोटक स्वीकार किया है। वहीं पुलिस ने पटाखे बम बनाने जैसी बात को सिरे से नकार दिया।

लोहिया नगर में गोदाम में हुए विस्फोट के आरोप में लोहिया नगर पुलिस ने जागृति विहार 428/7 निवासी गौरव गुप्ता पुत्र योगेन्द्र गुप्ता को गुरुवार रात सिविल लाइन क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। गौरव गुप्ता और गोदाम मालिक संजय गुप्ता के खिलाफ लोहिया नगर थाना पुलिस ने धारा 304, 268, 269, 285, 286 व 7 क्रिमिनल्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने गौरव गुप्ता से पूछताछ के बाद बताया कि वह टॉय गन में यूज पैलेट बनाने का काम करता था। सफेद पाउडर के बारे में उसने बताया कि वह उसमें भरा जाता था। ताकि वह आपस में चिपके नहीं।

विस्फोट की इस बड़ी घटना को पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने पटाखा बनाने की बात को सिरे से नकार दिया। शुक्रवार को गौरव गुप्ता से एटीएस टीम ने थाना लोहिया नगर में पहुंचकर गोदाम में मिलने वाले विस्फोटक से संबंधित जानकारी जुटाई। आरोपी से टीम ने विस्तृत पूछताछ की। वहीं एलआईयू व आईबी ने भी गौरव गुप्ता से विस्फोट से जुड़े कई बातों पर जानकारी कर सवाल किये। एटीएस टीम ने आरोपी से हुई पूछताछ के बाद स्वीकार किया है कि गोदाम या फैक्ट्री में होने वाला विस्फोट विध्वंसक था। जो केमिकल या साबुन फैक्ट्री के संचालित होने से नही हो सकता।

मौके पर मिला विस्फोटक जांच के लिए आगरा लैब के लिए भेजा है। आरोपी ने स्वीकार किया कि उसने इन पैलेट की सप्लाई बड़ौत, सहारनपुर सहित कई जिलों में की है। जो काफी बड़ी मात्रा में थे। पुलिस ने आरोपी गौरव गुप्ता को मीडिया के सामने पेश नहीं किया। बल्कि उससे बातचीत भी नहीं करने दी। उसे गोपनीय तरीके से रखकर पूछताछ की। लोहिया नगर में विस्फोट की घटना में सिस्टम पर कई सवाल ऐसे हैं जो खुद उसे कटघरे में खड़ा करते दिखाई देते हैं। पुलिस ने आरोपी गौरव गुप्ता को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments