Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपेट्रोल पंप पर जांच करने गई टीम पर हमला

पेट्रोल पंप पर जांच करने गई टीम पर हमला

- Advertisement -
  • पेट्रोल पंप स्वामी और संयुक्त व्यापार संघ महामंत्री पर मुकदमा दर्ज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सिविल लाइन क्षेत्र सूरजकुंड मोहनपुरी रोड स्थित पेट्रोल पंप पर ब्राउजर की जांच करने गई आपूर्ति विभाग की टीम पर पंप स्वामी और संयुक्त व्यापार संघ महामंत्री सहित कई लोगों ने लोहे की रॉड और धारदार हथियार से हमला कर दिया। टीम के क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी का मोबाइल छीन लिया और सभी के साथ मारपीट की। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को थाने ले गई। आपूर्ति विभाग की टीम ने मारपीट और सरकारी कार्य में बाधा डालने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

खाद्य आपूर्ति विभाग की टीम को बुधवार सूचना मिली कि सूरजकुंड फिलिंग प्वाइंट से ब्राउजर के द्वारा अवैध रुप से डीजल लेकर बिक्री का कार्य कराया जा रहा है। उक्त सूचना पर तारावती जिला आपूर्ति निरीक्षक, जोगेन्द्र सिंह क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी, पशुपति देव क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी एवं पंकज कुमार क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी की संयुक्त टीम सुबह 11 बजकर 10 मिनट पर सूरजकुंं ड फिलिंग प्वाइंट पर जांच करने पहुंची। पेट्रोल पंप पर मैनेजर कुलदीप शर्मा मौजूद थे।

07 11

मौके पर गाड़ी नंबर यूपी-15क्यूटी 5897 ब्राउजर खड़ी मिली। टीम ने पंप मैनेजर से ब्राउजर से संबंधित कागजात मांगे। लेकिन मैनेजर ने कागजात देने से इनकार कर दिया। प्रशांत जैन पम्प के प्रोपराइटर हैं। टीम ने ब्राउजर से संबंधित जानकारी जिला आपूर्ति अधिकारी को दी । जिस पर जांच टीम के सहयोग के लिए क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी सुनील कुमार को मौके पर भेजा गया। जब वह पंप पर पहुंचकर जानकारी कर रहे थे।

तभी संयुक्त व्यापार संघ महामंत्री संजय जैन ने क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी सुनील कुमार का मोबाइल छीन लिया और गालियां देते हुए सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की। इसके साथ ही पंप पर मौजूद मैनेजर कुलदीप शर्मा, प्रशांत जैन, संजय जैन, संजय सैनी एवं अन्य अज्ञात लोगों ने टीम पर हमला कर दिया। क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी पंकज कुमार के साथ मारपीट की गई। महिला आपूर्ति निरीक्षक तारावती से अभद्रता की गई।

06 9

वहीं क्षेंत्रीय खाद्य अधिकारी जोगेन्द्र सिंह को भी जातिसूचक शब्द बोले गए सूचना पर सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को थाने बुला लिया। जिला आपूर्ति विभाग की टीम ने पेट्रोल पंप स्वामी व संजय जैन और पंप मैनेजर सहित आठ दस अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है। सभी के खिलाफ सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने धारा 147, 148, 149, 332, 353, 186 और 504 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

पेट्रोल पंप स्वामी ने दी तहरीर

आपूर्ति विभाग की टीम पर पेट्रोल पंप स्वामी ने मारपीट का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि जिलाधिकारी की अनुमति के बिना ये लोग जांच करने आये थे। हमें नहीं पता कि ये लोग क ौन हैं। आते ही लोहे की रॉड से हमला किया, लेकिन वह बाल-बाल बच गए।

आज जांच के लिए डीएसओ के यहां से टीम आई थी। उन्होनें कहा कि जांच करनी है। हमने कहा कर लो जांच। हमारी एक गाड़ी वहां खड़ी थी। जो इंडियन आयल का टैंकर है वो हमारा है। इसके अलावा एक गाड़ी और वहां खड़ी थी। जो तेल भरने आई थी। उन्होंने कहा कि इसे हम सीज करेंगे। हमने कहा कि यह हमारी गाड़ी नहीं है। थोड़ी देर में वो बोले कि वो गाड़ी आपने भगा दी। हमने कहा कि हमारी गाड़ी नहीं थी तो हम कैसे भगा देंगे। थोड़ी देर बाद प्रबन्धक से कहा कि अपने मालिक से बात कर लो। पचास हजार रुपये दिलवा दो। उसने हमसे कहा कि पचास हजार मांग रहे हैं। हमने कहा कि उनसे कहो कि हमारी हैसियत नहीं है। जैसी रिपोर्ट बनाना चाहो वैसी बनवा दो। जब साढ़े 12 बजे तक मामला नहीं निपटा तो हम वहां पहुचे। अभी मेरे पेट्रोल पंप की परसों जांच हुई थी। इसी मैडम ने की थी जांच। उनकी तरफ से 50 हजार की डिमांड आई। जो हमने डिनाई कर दी। उसी दौरान गर्मागर्मी हुई उनके एक आदमी के हाथ में टेंक में डिप लेने की रॉड हाथ में आई और मेरे बेटे के सिर पर मारना चाहा। मैने हाथ से रोक दिया। नहीं तो उसका सिर फट जाता। -संजय जैन, महामंत्री संयुक्त व्यापार संघ (नवीन गुट)

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments