Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutभगत सिंह मार्केट: चला बुलडोजर, व्यापारियों का भारी विरोध

भगत सिंह मार्केट: चला बुलडोजर, व्यापारियों का भारी विरोध

- Advertisement -
  • बड़ी संख्या में व्यापारी सड़कों पर उतरे, मौके पर पुलिस बल रहा तैनात

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: भगत सिंह मार्केट अतिक्रमण हटाने पहुंची नगर निगम की टीम को भारी विरोध का सामना करना पड़ा। बड़ी संख्या में व्यापारी सड़कों पर उतर आये। विरोध करते हुए व्यापारी कर रहे थे कि किसी भी तरह की तोड़फोड़ नहीं होने देंगे। नगर निगम की कार्रवाई को रोक दिया। सभी दुकाने भी बंद कर दी है।

मौके पर भारी पुलिस बल भी मौजूद है। व्यापारी किसी भी हाल में तोड़फोड़ से इनकार कर रहे हैं। वहीं अधिकारियों से इस संबंध में व्यापारियों की बातचीत जारी है। सुबह 11.30 बजे सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र सिंह और सहायक नगर आयुक्त ब्रजपाल सिंह भारी पुलिस बल के साथ भगत सिंह मार्केट पहुंचे।

दुकानों के पक्के स्लैब और छज्जे तोड़ने शुरू कर दिये। वैसे ही व्यापारी एकत्र हो गए। भाजपा नेता कमल दत्त व्यापारियों के साथ मौके पर पहुंचे तथा हंगामा शुरू कर दिया। करीब 15 मिनट तक हंगामा होता रहा। फिर बैठकर बातचीत की। इसके बाद ढाई फिट से ज्यादा छज्जा आगे रहा तो तोड़ा जाएगा।

व्यापारी उसे खुद तोड़े या फिर नगर निगम तोड़ेगी। इसके बाद नगर निगम टीम तो लौट गई, लेकिन व्यापारियों ने खुद ही अतिक्रमण तोड़ना आरंभ कर दिया। नगर निगम की कार्रवाई रुक गई। अधिकारियों ने व्यापारियों को हाईकोर्ट के आदेश का हवाला दिया तो व्यापारी अपनी जिद पर अड़ गए।

हंगामा चल ही रहा था कि इतने में संयुक्त व्यापार संघ के अध्यक्ष अजय गुप्ता और भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा पहुंच गए। व्यापारियों ने अनिश्चित काल के लिए बाजार बंद करने की घोषणा कर दी। हंगामा बढ़ते देख नगर आयुक्त मनीष बंसल भी भगत सिंह मार्केट पहुंचे।

04 10

व्यापारियों के साथ बातचीत की। व्यापारियों से नगर आयुक्त ने स्पष्ट कहा कि अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हाईकोर्ट का आदेश है। व्यापारियों ने स्वयं अतिक्रमण हटाने की बात रखी। कहा कि दुकानों की तोड़फोड़ न की जाए। जिस पर नगर आयुक्त मनीष बंसल ने कहा कि व्यापारी स्वयं अतिक्रमण हटा लें।

नगर निगम की टीम मौजूद रहेगी, जिसके बाद दुकानदार स्वयं अतिक्रमण हटा रहे हैं। मालूम हो कि 14 दिसम्बर को हाईकोर्ट में जिलाधिकारी के. बालाजी को कार्रवाई के संबंध में शपथ पत्र दाखिल करना है।

नेताओं की फौज भी नहीं कर सकी व्यापारियों की मदद

महानगर में व्यापारी संगठनों की भारी भरकम फौज के बाद भी भगत सिंह मार्केट में ध्वस्तीकरण को नहीं रोका जा सका। विरोध के नाम पर मौके पर पहुंचे व्यापारी नेताओं का पूरा जोर बजाय अफसरों को बैक फुट पर लाने के खुद के शक्ति प्रदर्शन पर अधिक रहा।

यूं कहने को कई व्यापारी नेता वहां पहुंचे थे, लेकिन बजाय अफसरों पर प्रेशर के ज्यादातर व्यापारियों की नजर में एक दूसरे पर खुद को इक्कीस साबित करने की कोशिश में लगे रहे। वहीं, दूसरी ओर जो व्यापारी नेता मौके पर पहुंचे थे, उनमें से कई के भगत सिंह मार्केट में कुछ प्रतिष्ठानों में साझेदारी भी है।

दरअसल उनकी सारी कवायद के पीछे अपनी साझीदारी वाले प्रतिष्ठानों को बचाना भर ज्यादा नजर आ रहा था। वहीं, दूसरी ओर प्रशासन की बात की जाए भगत सिंह मार्केट के अवैध निर्माण व कब्जों पर कार्रवाई को लेकर हाईकोर्ट में डीएम मेरठ से व्यक्तिगत हलफनामा दाखिल करने को कहा है।

14 दिसंबर तक यह हलफनामा दाखिल किया जाना है। व्यापार संघ के महामंत्री दलजीत सिंह ने बताया कि हाईकोर्ट के आदेशों का पालन कराने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में नगर निगम की टीम अतिक्रमण हटाने के लिए भगत सिंह मार्केट पहुंची अतिक्रमण हटाने के नाम पर उन दुकानदारों का भी उत्पीड़न शुरू कर दिया जो कानून के दायरे में अपना कार्य कर रहे थे उत्पीड़न को लेकर टीम संयुक्त व्यापार संघ मौके पर पहुंचे।

अधिकारियों को आड़े हाथ लिया और कहा कि टीम संयुक्त व्यापार संघ अतिक्रमण मुक्त मेरठ की कल्पना करती है, लेकिन उत्पीड़न युक्त कार्रवाई किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी। अधिकारियों से वार्ता के बाद टीम को बुलडोजर को रोकना पड़ा और व्यापारी हित में मैनुअल अतिक्रमण हटाने का काम शुरू हो सका। अजय गुप्ता, दलजीत सिंह, नीरज त्यागी, अंकित, मन्नू, सुधांशु, राजीव गोयल, अशोक रस्तोगी, रजनीश कौशल, आलोक रस्तोगी आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments