Saturday, February 24, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutदिग्गजों का पसंदीदा रहा है भामाशाह मैदान

दिग्गजों का पसंदीदा रहा है भामाशाह मैदान

- Advertisement -
  • बल्ले और गेंद के माध्यम से भविष्य संवारने वाले कई दिग्गज क्रिकेटर टीम इंडिया का रह चुके हैं हिस्सा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: भामाशाह क्रिकेट मैदान का स्वर्णिम इतिहास रहा है। यहां अपने बल्ले और गेंद के माध्यम से भविष्य संवारने वाले कई दिग्गज क्रिकेटर टीम इंडिया का हिस्सा रह चुके हैं। जिनमें प्रवीण कुमार, भुवनेश्वर, सौरभ कुमार, करण शर्मा आदि के नाम शामिल हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों की अगर बात की जाए,

तो उन्होंने भी मेरठ की सरजमीं पर स्थित भामाशाह क्रिकेट मैदान में अपनी प्रतिभा का हुनर दिखाया है। इनमें राहुल द्रविड़, हरविंदर सिंह, जितेंद्र सोढ़ी, सुरेश रैना, पीयूष चावला, सुनील जोशी, मोहम्मद कैफ, युवराज सिंह, दिनेश कार्तिक, मुरली विजय, रविंद्र जडेजा, बालाजी, दिनेश मोंगिया, मनीष पांडेय, विनय कुमार, अभिमन्यु मिथुन समेत क्रिकेटरों की एक लंबी फहरिस्त मौजूद है।

यूपी टीम एक बार ही जीत सकी है रणजी ट्रॉफी

रणजी ट्रॉफी मुकाबला में यूपी टीम का रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं रहा है। वर्ष 2005 में केवल एक अवसर ऐसा आया है, जब यूपी टीम ने रणजी ट्रॉफी जीतने का गौरव हासिल किया है। रणजी ट्रॉफी के इतिहास की अगर बात की जाए, तो सबसे ज्यादा 41 बार मुंबई की टीम ने इसे अपने नाम किया है।

इसके बाद कर्नाटक टीम ने आठ बार और दिल्ली टीम में सात बार रणजी ट्रॉफी जीती है। मध्य प्रदेश और बड़ौदा की टीम में पांच-पांच बार रणजी ट्रॉफी पर कब्जा किया है। सौराष्ट्र, विदर्भ, बंगाल, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश के हिस्से में रणजी ट्रॉफी जीतने के क्षण दो-दो बार आए हैं।

04 22

दिन प्रतिदिन हो रहा बल्लेबाजी में सुधार

टीम बिहार के कोच प्रमोद कुमार का कहना है कि अभी तक खेले गए दो मैचों में टीम ने अपनी ओर से बेहतर प्रदर्शन किया है और दिन प्रतिदिन इसमें सुधार किया है। मुंबई टीम के खिलाफ खेलते हुए गेंदबाजों ने उसे 250 रनों तक सीमित रखा है। बिहार की टीम एक युवा टीम है जो दिन प्रतिदिन अपने प्रदर्शन में सुधार कर रही है। आने वाले समय में टीम बिहार अपने आप को साबित करेगी ऐसा विश्वास है।

हर मैच से कुछ न कुछ सीख रहे हैं

टीम बिहार के कप्तान आशुतोष अमन का कहना है कि रणजी मैच में टीम यूपी के साथ मुकाबले के लिए सभी खिलाड़ी पूरी तरह तैयार हैं। टीम ने अपने पिछले प्रदर्शनों से काफी कुछ सीखा है। मुंबई के साथ हुए मैच में बल्लेबाजों ने अपना बेहतर प्रदर्शन किया है। वहीं छत्तीसगढ़ के साथ हुए मैच से भी टीम के गेंदबाजों और बल्लेबाजों ने काफी कुछ सीखा है। हर दिन टीम बेहतर से बेहतर प्रदर्शन कर रही है। यूपी के साथ होने वाले मुकाबले को जीतने के लिए टीम बिहार अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगी।

क्रिकेट के अलग लेवल की अनुभूति कराता है आईपीएल

बिहार रणजी टीम के स्टार गेंदबाज वीर प्रताप सिंह का कहना है कि आईपीएल में खेलने से उन्हें क्रिकेट के एक अलग ही लेवल की अनुभूति प्राप्त हुई है। वीर प्रताप सिंह अलग-अलग वर्षों में डेक्कन चार्जर्स, सनराइजर्स हैदराबाद और केकेआर आईपीएल टीमों में खेल चुके हैं। आईपीएल मैचों के दौरान अर्जित किए गए अनुभव के बारे में उनका कहना है कि यह मुकाबला अंतरराष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट अनुभव प्रदान करता है। गेंद कहां डाली जानी है, किस प्रकार की गेंद डालने से बल्लेबाज परेशानी में डाला जा सकता है,

विकेट कैसे ली जा सकती है, यह सब तकनीक आईपीएल के माध्यम से उन्हें सीखने को मिली है। इसके अलावा बिना चोट खाए क्रिकेट खेलने, खास तौर से फील्डिंग करने की कला भी आईपीएल में सीखने को मिलती है। बिहार टीम के बारे में वीर प्रताप सिंह का कहना है कि टीम ने प्लेट चैंपियनशिप जीती है। टीम की यंग साइड है, अभी क्रिकेटर बहुत कुछ सीख रहे हैं। टीम का गेंदबाजी का पक्ष जहां मजबूत है, वहीं बाबुल, श्रवण, विपिन, सौरभ आदि बल्लेबाजों की मदद से टीम अपना बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments