Friday, July 19, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsलखनऊ / आस-पाससमाजवादी विकास कार्यों को भाजपा बता रही अपना: अखिलेश यादव

समाजवादी विकास कार्यों को भाजपा बता रही अपना: अखिलेश यादव

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार के सत्ता में रहते पांच वर्ष पांच महीने हो चुके हैं पर उसके कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में विकास की एक भी ईंट नहीं रखी गई है। भाजपा सरकार समाजवादी सरकार के विकासकार्यों को ही अपना बताकर उनका नाम बदलने और लिखवाने के अलावा और कुछ नहीं किया है। भाजपा के अब तक के रिपोर्टकार्ड में केवल भाजपा के नेताओं की प्रतिमाएं खड़ी करने का ही काम है।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा राज में सर्वाधिक पीड़ित प्रदेश का किसान है। उसे हर तरह से छला जा रहा है। बाढ़ और सूखा दोनों से वह परेशान है पर सरकार केवल बयानबाजी से ही समस्याओं का समाधान कर देने की नौटंकी कर रही है। भाजपा सरकार अपने पिछले पूरे कार्यकाल में स्थितियों का केवल आंकलन कर पाई है। लगभग 52 जिलों पर सूखे की काली छाया मंडरा रही है। खरीफ फसल बुरी तरह प्रभावित है। बड़ी तादात में बोवाई नहीं हो पाई।

यादव ने कहा सूखा संकट से किसान उबरता उससे पहले ही नदियों का जलस्तर बढ़ने से बाढ़ की विभीषिका का सामना करना पड़ रहा है। वाराणसी-बलिया से गंगा के उफान से निचले इलाकों में संकट है। प्रयागराज में घरो में पानी घुस गया है। एक रात की बारिश में ही इटावा में मैनपुरी अण्डरब्रिज नाला बन गया, कई बसयात्रियों की जान मुश्किल में पड़
गई है।

अखिलेश यादव ने कहा बाढ़ और सूखा को अब प्राकृतिक आपदा कहकर भाजपा सरकार अपना बचाव नहीं कर सकती है। पांच साल से अधिक समय बीत जाने के बावजूद उसने कृषि संकट से उबरने और आपदा प्रबंधन के लिए कुछ नहीं किया है। जब संकट गहराया है तो समय रहते व्यापक इंतजाम करने के बजाय सरकार फिर तरह-तरह के बहाने बनाने लगी है। अपनी पुरानी आदत के अनुसार नए-नए वादे और नए-नए निर्देश जारी हो रहे हैं परन्तु इससे कोई भला होने वाला नहीं है।

यादव ने कहा तत्काल आवश्यकता तो यह है कि किसानों की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) मिले। ट्यूबवेल के बिजली कनेक्शन नहीं कटने के जबानी निर्देश से तो कुछ होने वाला नहीं। सरकार को किसानों के बिजली के बिल माफ करने चाहिए। बिजली बिल वसूली के लिए छापेमारी से उसे प्रताड़ित किया जा रहा है और दंडात्मक कार्यवाही की जा रही है।

अखिलेश यादव ने कहा किसान परेशानी में है उसके बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। सूखा-बाढ़ से प्रभावित किसान कर्ज में डूब रहा है उसके बकाया गन्ना मूल्य का तत्काल भुगतान सुनिश्चत किया जाना चाहिए।

यादव ने कहा भाजपा किसानों की कितनी हमदर्द है इसी से जाहिर है कि उसने अपने चुनावी वादे किसानों की आय दोगुनी करने को पूरा करने के लिए सन् 2022 तक कुछ भी नहीं किया है। किसान को सिर्फ धोखा दिया गया है। किसान को सम्माननिधि देने के बाद अब उल्टे उसको अपमानित कर वसूली की जा रही है। किसान के काम आने वाला डीजल 100 रूपए लीटर हो गया है। खाद, बीज, कीटनाशक, कृषि यंत्र आदि सब महंगा हो गया है।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार जनकल्याण के लिए नहीं सिर्फ सत्ता में बने रहने के लिए षड्यंत्र करती रहती है। सत्ता का दुरूपयोग किस हद तक किया जा सकता है, भाजपा से सीखा जा सकता है। भाजपा सरकार की प्राथमिकता में किसान नहीं बल्कि उसके पूंजीपति मित्र हैं। भाजपा ने जनसामान्य को भगवान भरोसे छोड़ दिया है। जनता भी अब भाजपा को 2024 में सबक सिखाने का काम करेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments