Friday, January 27, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsसमाजवादी सरकार के कामों पर ही अपना ठप्पा लगा रही भाजपा: अखिलेश...

समाजवादी सरकार के कामों पर ही अपना ठप्पा लगा रही भाजपा: अखिलेश यादव

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने राजनीति को मजाक बना कर रख दिया है। उत्तर प्रदेश में विकास की गतिविधियों को शून्य करने के साथ ही राज्य को दशकों पीछे कर दिया है। भाजपा सरकार बने 6 साल हो रहे हैं, भाजपा सरकार ने एक भी काम नहीं किया है।

उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार ने या तो खुद कुछ करने के बजाय समाजवादी सरकार के कामों पर ही अपना ठप्पा लगा दिया है या फिर समाजवादी पार्टी की सरकार के कामों को बर्बाद करने का काम किया है। भाजपा सरकार की अकर्मण्यता के चलते प्रदेश में न तो बाहरी उद्यमी आ रहे है और नहीं पूंजी निवेश हो रहा है।

महज जनता को गुमराह करने के लिए प्रदेश में कई इन्वेस्टर्स समिट और कई इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन हो चुके हैं। अब विदेशी उद्यमियों को आमंत्रित कर ग्लोबल समिट का नया राग छेड़ दिया गया है। जब वहां कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला तो अब देश के विभिन्न राज्यों और उससे भी परे अपने राज्य के जनपदों में ही निवेशक ढंढ़ने का अभियान चल रहा है। इस सबका नतीजा वही ढाक के तीन पात का होना है।

फिलहाल देशी-विदेशी उद्यमियों के स्वागत के लिए भाजपा सरकार खूब सजावट कर रही है पर यह सजावट बहुत मंहगी साबित होने वाली है। हजारों पेड़ काटे जाने हैं जिससे पर्यावरण को क्षति पहुंचेगी। इनमें रूद्राक्ष के भी कीमती पेड़ है। सरकारी खर्चे पर महंगे पेड़ पौधे दिखावे के लिए लगाए तो जा रहे हैं परन्तु उसके बाद उनके रखरखाव की कोई योजना नहीं है। जो पेड़ पौधे लगे हैं उन पर छिड़काव एवं पत्तियों धुलाई की तरफ भी सरकार का ध्यान नहीं जा रहा है। पेड़ों की पत्तियों की धुलाई के लिए सरकार के पास पर्याप्त संसाधन नहीं है।

ग्लोबल समिट में आने पर भाजपा अपना कौन-सा बड़ा काम दिखाएगी क्योंकि उसने कुछ तो किया नहीं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर का इकाना स्टेडियम, गोमती रिवरफ्रंट, आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस-वे, आईटी सिटी यह सब तो समाजवादी सरकार की ही देन है। समाजवादी सरकार में जो उद्यम लगे उनके अलावा भाजपा राज में कौन उद्यम लगा? कितने और किन नौजवानों को रोजगार मिला? सच तो यह है कि पहले लगे कई उद्योग अब बंद हो गए हैं।

अगर बदले की भावना से भाजपा सरकार नहीं चलती तो जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर, ग्लोबल समिट का एक महत्वपूर्ण और आकर्षक भागीदार बन सकता था। समाजवादी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना को भाजपा ने बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। गोमती रिवरफ्रंट को अब सजाने की बात करने वाले इसकी जांच कराने के नाम पर क्या-क्या ऊल-जुलूल बातें नहीं करते रहें?

आखिर भाजपा सरकार कैसे उम्मीद करती है कि देशी-विदेशी उद्यमी उत्तर प्रदेश में पूंजी निवेश करने आएंगे जबकि यहां की कानून व्यवस्था बद-से-बदतर होती जा रही है। सुरक्षा निवेश की पहली शर्त होती है पर यहां तो न तो आदमी की जिंदगी सुरक्षित है और नहीं महिलाओं-बच्चियों की इज्जत। उत्तर प्रदेश के बैंकों में न तो तिजोरी सुरक्षित है नहीं लोगों के लाॅकर।

राजधानी में ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ी हुई है। रोजाना शहर में जाम लगा रहता है। विदेशी उद्यमी अपनी यात्रा में भाजपा के जाम की परेशानी झेलने को बाध्य रहेंगे ही। इसी तरह विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में भी कोई सुधार नहीं हुआ है। कई खास मौंकों पर बिजली आपूर्ति बाधित होने की घटनाएं होती रहती है।

भाजपा सरकार सिर्फ जनता को धोखा दे रही है, उसके अलावा कुछ नहीं कर रही है। भाजपा सरकार जानबूझकर चंद उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने की साजिश में ही जनता की गाढ़ी कमाई लुटाकर अपनी वाहवाही का नाटक करने जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments