Sunday, July 25, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliक्रय केंद्र पर गेहूं नहीं खरीदने की शिकायत पर पहुंचे कैबिनेट मंत्री

क्रय केंद्र पर गेहूं नहीं खरीदने की शिकायत पर पहुंचे कैबिनेट मंत्री

- Advertisement -
  • छोटे किसानों को भी लाभावित करने के नए आदेश पर हुए शांत

जनवाणी संवाददाता |

थानाभवन: बड़े किसानों से गेहूं खरीद नहीं किए जाने का आरोप लगाते हुए किसानों ने कृषि उत्पादन मंडी के क्रय केंद्र पर हंगामा किया। किसानों की सूचना पर कैबिनेट मंत्री भी जिलाधिकारी के साथ वहां पहुंचे। मंत्री ने छोटे किसानों को भी लाभान्वित किए जाने के नए आदेश के बारे किसानों को बताया जिसके बाद किसान शांत हुए थे।

गुरुवार को किसानों की शिकायत पर कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, डीएम जसजीत कौर व जिला खाद्य विपणन अधिकारी निहारिका सिंह के साथ थानाभवन की कृषि मंडी में स्थित गेहूं क्रय केंद्र पर पहुंच गए। किसानों ने आरोप लगाया कि वह पिछले 24 घंटे से अपना गेहूं बेचने के लिए गेहूं क्रय केंद्र पर बैठे हैं।

बहुत परेशान है कोई सुनने को तैयार नहीं है। किसानों ने यह भी आरोप लगाया कि हम बड़े किसान है हमारे पास गेहूं ज्यादा है लेकिन एक किसान से 30 कुंतल गेहूं से ज्यादा नहीं लिया जा रहा है। वहीं कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने किसानों को समझाया कि सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है।

कई किसानों को लगता है कि यदि उनका 100 कुंतल गेहूं हो उसे तुरंत एक दिन में तोला जाए। मुख्यमंत्री ने इस प्रकार की व्यवस्था बनाई है वह छोटे लघु सीमांत किसानों एवं जितने भी किसान हैं सबके साथ पारदर्शिता अपनाई जाए। बिचौलियों की प्रथा समाप्त हो, किसान का समय से भुगतान हो और सभी किसानों का गेहूं समय से खरीद जा सके। उन्होंने कहा गेहूं खरीद 15 जून तक की जाएगी। 15 जून के बाद जैसी भी स्थिति होगी समय उसी हिसाब से समय बढ़ा दिया जाएगा।

वहीं विपणन निरीक्षक अमित यादव ने बताया कि पश्चिमी यूपी में सरकार के निर्देशानुसार एक किसान प्रतिदिन 30 कुंतल से ज्यादा गेहूं नहीं बेच सकता। सरकार की यह मंशा है कि जो भी छोटे किसान है उनका गेहूं भी खरीदा जा सके। क्योंकि जो बड़े किसान है वह एक दिन में 50 या 100 कुंतल गेहूं बेचने के लिए ले आए और लिमिट है, 30 कुंतल की तो उसमें छोटे किसान लाभान्वित नहीं हो पाएंगे। लघु किसानों के हित को समझते हुए ये नियम बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को 15 जून तक के लिए टोकन बांट दिए गए है। बिना टोकन के गेहूं नहीं खरीदा जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments