Saturday, June 19, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliजलालाबाद पीएचसी को दिलाया जाएगा सीएचसी का दर्जा

जलालाबाद पीएचसी को दिलाया जाएगा सीएचसी का दर्जा

- Advertisement -
0
  • कैबिनेट मंत्री ने किया जलालाबाद पीएचसी का निरीक्षण
  • सीएमओ को चार आॅक्सीजन कंसंट्रेटर लगाने के निर्देश

जनवाणी संवाददाता |

जलालाबाद/गढीपुख्ता: उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने जलालाबाद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को जल्द ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा दिलाने और डाक्टरों के साथ स्टाफ पूरा कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने खंडहर हो चुकी पुरानी डिस्पेंसरी के जीर्नोद्धार की व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी को कहा है। वहीं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर फिलहार चार आॅक्सीजन कंसंटेÑटर 24 घंटे में लगाने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए हैं।

गुरुवार को कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने डीएम जसजीत कौर और सीएमओ डा. संजय अग्रवाल के साथ जलालाबाद पीएसी का निरीक्षण किया। उन्होंने कोविड टीकाकरण एवं अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली। दो साल पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पीएचसी का शुभारंभ किया था। कैबिनेट मंत्री ने कहा मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप इस अस्पताल को जल्द ही सीएचसी का दर्जा दिलाए जाने का प्रयास किया जाएगा और डाक्टर्स व स्टाफ के लिए मुख्यमंत्री से वार्ता की जाएगी।

अभी पीएचसी में मौजूद बैड पर चार आॅक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था 24 घंटे में करने और स्टाफ बढ़ाने के लिए सीएमओ को निर्देश दिए हैं। कैबिनेट मंत्री ने पीएचसी के बराबर में ही खंडहर हो चुकी 1914 में शुरू हुई डिस्पेंसरी का भी निरीक्षण किया। साथ ही डीएम जसजीत कौर से इस डिस्पेंसरी के जीर्णोद्धार की व्यवस्था के निर्देश दिए। इस मौके पर एसीएमओ केपी सिंह, चिकित्सा प्रभारी जलालाबाद विक्रम सिंह, मुकेश कुमार, रवि मलिक, सुप्रिया, डा. मुकेश शास्त्री, बोबी शर्मा, हरिओम उपाध्याय, सुनहरा सिंह, नरेश शर्मा आदि शामिल रहे।

पीएचसी पर अव्यवस्थाएं देख नाराज हुए कैबिनेट मंत्री

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने गुरुवार को गढ़ीपुख्ता के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया। जहां फार्मासिस्ट मरीजों को दवाई देता मिला। जिस पर सीएमओ डा. संजय अग्रवाल ने बताया कि प्राथमिक केन्द्र पर डा. विकास की ड्यूटी लगाई गई थी लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए अब उनकी ड्यूटी कोविड एल-2 हॉस्पिटल में लगी है। कैबिनेट ने सीएमओ डा. संजय अग्रवाल को डा. विकास की ड्यूटी स्थायी रूप से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर ही लगाए जाने के निर्देश दिए।

नामित सभासद सुकमाल सिंह ने कैबिनेट मंत्री को बताया कि केन्द्र पर पेयजल, शौचालयों की उचित व्यवस्था नहीं है और चिकित्सकों के आवास भी खस्ताहाल है। कैबिनेट मंत्री ने स्वास्थ्य केन्द्र की अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जताते हुए नगर पंचायत ईओ अंशुमान सिंह को तुरंत पानी, पंखे तथा चिकित्सकों के आवासों की मरम्मत करने के निर्देश दिए।

व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा ने आवास ठीक होने तक उनके खाली पड़े मकान में चिकित्सकों के रहने की पेशकश की। इस मौके पर डीएम जसजीत कौर, सीएमओ डा. संजय अग्रवाल, नरेश कुमार सैनी, सुखमाल सिंह, नरेन्द्र गोयल, बब्बल कुरैशी, भूपेंद्र चैधरी, अनुकूल गिरी, नीरज जैन, नरोत्तम गर्ग, टेकचंद मित्तल, तौसीफ कुरैशी, रणकुमार तोमर आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments