Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकैंट और निगम क्षेत्र में सफाई व्यवस्था चौपट

कैंट और निगम क्षेत्र में सफाई व्यवस्था चौपट

- Advertisement -
  • सफाई में पिछड़ा कैंट क्षेत्र, लगे गंदगी के अंबार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कैंट में कमांडर का आवास वीवीआईपी क्षेत्र में आता हैं। उसके आसपास के इलाके में कूड़ा घर बना दिया। माल रोड से सटा हुआ वीआईपी बीसी लाइन हैं, जहां पर कैंट के अधिकारियों का आना जाना हैं, लेकिन यहां सफाई व्यवस्था ठप पड़ी हैं। एक सौ मीटर की दूरी पर बीसी लाइन में दो कूड़ा घर बना दिये हैं। यही नहीं, यहां सफाई करने के लिए कैंट के सफाई कर्मी आते नहीं हैं, इसलिए भी यहां पर गंदगी के कई-कई दिनों तक ढेर लगे रहते हैं।

07 11

आवारा पशु सड़क तक कूड़ा गिरा देते हैं, जिससे यहां आवामन में भी दिक्कत हो रही हैं। यहां रहने वाले लोगों का तो जीना दुश्वार हो गया हैं। ये हालात तो यहां सफाई की हैं, वहीं आबू नाले की सफाई के लिए कैंट ने मशीन भी खरीदी हैं। भारी-भरकम खर्च भी कर दिया, फिर भी आबू नाले की सफाई नहीं की जा रही हैं, जिसमें झाड़-फूस खड़े हैं। गंदगी से नाला पटा हुआ हैं। पेड़ इसमें उगा हुआ हैं।

ये नाला कम से कम 15 फीट गहराई में था, लेकिन इसमें कूड़ा इतना अट गया हैं कि ऊपर का हिस्सा दो फीट नीचे रह गया हैं। ये हालत नाले में गंदगी की हो गई हैं। जब पोर्क लेन मशीन नाले की सफाई के लिए खरीदी गई है तो सफाई क्यों नहीं की जा रही हैं। कम से कम इसका हर रोज सफाई में उपयोग होना चाहिए, जो नहीं हो रहा हैं।

शहर में भी लगे गंदगी के ढेर

शहर में भी गंदगी के अंबार लगे हैं। कमेला रोड, हापुड़ अड्डा, लोहिया नगर, जाकिर कॉलोनी चौक, पिलोखड़ी रोड ऐसे इलाके हैं, जहां पर कई-कई दिनों तक कूड़ा उठाने के लिए निगम कर्मी नहीं आते हैं। शहर की हालत भी इतनी खराब है कि कोई नगर निगम के अफसर ध्यान नहीं दे रहे हैं। सफाई कराने के सिर्फ ढोल ही पीट रहे हैं, सफाई कहीं दिखाई नहीं दे रही हैं। वार्डों में सफाई को लेकर पहले भी हंगामा हो चुका हैं। सफाई कर्मियों की लंबी फौज हैं, फिर सफाई क्यों नहीं हो रही हैं? ये भी बड़ा सवाल हैं।

08 10

अफसरों को क्रास चेकिंग के लिए सफाई में नहीं लगाया जा रहा हैं। प्राइवेट कंपनी के पास भी सफाई का टेंडर हैं, ये कंपनी भी सफाई के नाम पर खानापूर्ति करने से बाज नहीं आ रही हैं। इसी को लेकर पार्षद भी हंगामा कर रहे हैं, लेकिन इनकी भी कोई सुनवाई नहीं हो रही हैं। बोर्ड बैठक में सफाई व अन्य विकास के मुद्दों पर चर्चा होने की बजाय मारपीट जैसी घटनाएं हो रही हैं।

सफाई कर्मियों पर ठंड का असर

सफाई कर्मियों पर भी ठंड का असर दिखाई दे रहा हैं। सुबह आठ से नौ बजे की बीच जनवाणी ने शहर में दौरा कर देखा तो कहीं भी सफाई कर्मी सफाई करते हुए नहीं दिखे। जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए थे। शहर में ऐसी जगह कूड़े के ढेर लगे हुए है, जहां पर आम आवागमन ज्यादा होता हैं। लगता है नगर निगम के सफाई कर्मियों पर ठंड का असर पड़ रहा हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments