Wednesday, September 22, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliकंसंट्रेटर तो आ गए पर न तो टेक्नीशियन है और न ही...

कंसंट्रेटर तो आ गए पर न तो टेक्नीशियन है और न ही जनरेटर

- Advertisement -
  • जलालाबाद पीएचसी पर न वार्ड ब्वॉय, न सफाईकर्मी

जनवाणी ब्यूरो |

जलालाबाद: नगर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र वर्तमान में मेडिकल स्टाफ की कमी से जूझ रहा है। केन्द्र पर वार्ड ब्वॉय, सफाई कर्मचारी तक की नियुक्ति नहीं हुई हे। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा के निर्देश पर आक्सीजन कंस्ट्रेटर तो आ गए लेकिन उनको संचालित करने के लए टेक्नीशियन तथा जनरेटर नहीं है जिससे वे शो-पीस बने हुए हैं।

जलालाबाद 40 हजार की आबादी का कस्बा है। कस्बे में लम्बे अरसे के बाद वर्ष 2019 में स्थानीय विधायक तथा प्रदेश सरकार मे कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने अपने चुनावी वादे को पूरा करते हुए प्राथमिक स्वास्थय केन्द की स्थापना कराई। फरवरी 2020 विधिवत रूप से इसे प्रारम्भ कर दिया गया।

इससे पूर्व यहां अग्रेजों के शासन काल में वर्ष 1914 में बनी एक छोटी सी डिस्पेंसरी जिला परिषद के अधीन कार्य करती थी, वह भी वर्षों पूर्व बन्द हो गई थी परन्तु कस्बे के लोगों की मांग पर थानाभवन सामुदायिक स्वस्थय केन्द्र से कभी-कभी चिकित्सक या फिर फॉर्मेशिष्ट मरीजों को दवाईयां व हल्की फुल्की स्वास्थ्य सेवाएं देकर चले जाते थे। फरवरी 2020 में प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र शुरू होने के बाद केंद्र पर एक चिकित्सक, एक फॉर्मेशिष्ट व एक स्टाफ नर्स की नियुक्ति की गई थी।

जिसका लाभ यहां की गरीब जनता को मिलने लगा परन्तु इतनी बड़ी आबादी पर बने प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र पर लोगों को परेशानी होने लगी, जब यहां पर नियुक्त चिकित्सक को अस्थायी रूप से जिल स्वास्थय विभाग द्वारा कोविड 19 के चलते अन्य स्थानों पर लगाया जाता रहा जिससे यहां के लोग चिकित्सक व पर्याप्त चिकित्सा के अभाव में इधर-उधर जाने लगे।

आक्सीजन कंसंट्रेटर तो हैं पर टेक्नीशियन नहीं

कोविड महामारी में प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र पर कोविड टीकाकरण अभियान गत मार्च माह से प्रारम्भ हुआ तो अन्य स्वास्थय सेवाएं बाधित हो गई। इसका कारण केंद्र पर मौजूद चिकित्सा प्रभारी डा. विक्रम सिंह ने बताया कि प्राथमिक स्वस्थय केन्द्र पर मेडिकल स्टाफ की कमी है, जो है वह टीकाकरण में जुटा है।

कई माह से स्टाफ बढ़ाने के लिए लिखा जा चुका है परन्तु अभी तक स्टाफ की नियुक्ति नहीं की गई है। वार्ड ब्वॉय व सफाई कर्मचारी की स्थाई नियुक्ति नहीं होने के बावजूद अस्थाई सफाई कर्मचारी के द्वारा निज प्रयास से कार्य कराया जा रहा है। दो आक्सीजन कंसंट्रेटर भेजे गये हैं परन्तु टेक्नीशियन व जनरेटर के अभाव में उनका उपयोग नहीं हो रहा है। फिलहाल कंसंट्रेटर अभी पैक रखे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments