Home Uttar Pradesh News Meerut कांग्रेसियों को प्रियंका से बड़ी उम्मीदें

कांग्रेसियों को प्रियंका से बड़ी उम्मीदें

0
कांग्रेसियों को प्रियंका से बड़ी उम्मीदें
  • क्रांतिधरा पर 29 सितंबर को होगा प्रियंका गांधी का आगमन, तैयारी जोरों पर

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: क्रांतिधरा पर प्रियंका गांधी की 29 सितंबर को होने वाली जनसभा से कांग्रेस नेताओं को बड़ी उम्मीदें हैं। रैली तैयारी में कांग्रेसी जुटे हुए हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की एक तरह से अग्निपरीक्षा हैं।

तैयारियों को लेकर कांग्रेस नेताओं की बैठकों का दौर शुरू हो गया है। बुधवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी क्रांतिधरा पर आ रहे हैं। वह तैयारियों की समीक्षा करेंगे तथा इसके बाद भीड़ जुटाने के लिए जिम्मेदारी भी सौंपेंगे। कांग्रेस नेताओं को प्रियंका गांधी से बड़ी उम्मीदें हैं, जिसके बाद इस रैली में भीड़ जुटाकर कांग्रेसी ताकत का एहसास करायेंगे।

कांग्रेस नेताओं का दावा है कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेंगे और सरकार भी बनाएंगे। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि ‘परिवर्तन का संकल्प, कांग्रेस ही विकल्प’ अभियान की शुरूआत मेरठ क्रांतिधरा से करेंगे। लंबे समय से मेरठ में कांग्रेस की हालत खस्ता है।

आसपास के जिलों में भी हाल यही है। मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत के बाद राजनीतिक दल भी किसानों की हिमायती होने और उनके साथ होने का एहसास दिलाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे है। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं सह-प्रभारी धीरज गुर्जर भी मेरठ में डेरा डाले हुए हैं। दो दिन पहले वह क्रांतिधरा पर आये थे। लगातार वह बैठक लेकर रैली में भीड़ जुटाने की रणनीति बना रहे हैं।

केंद्र और प्रदेश सरकार ने जनता से किये गए वायदे पूरे किये या फिर नहीं? इसको लेकर जनता के बीच छोटी-छोटी सभाएं भी कर रहे हैं। वेस्ट यूपी में किसान आंदोलन के जरिये भाजपा का बड़ा विरोध हो रहा है। इस विरोध को समझते हुए कांग्रेस भी किसानों की नब्ज टटोलेगी तथा वेस्ट यूपी में अपना अस्तित्व खड़ा करने की जद्दोजहद की जा रही है। क्रांतिधरा पर 29 सितंबर की रैली इसी कवायद का एक हिस्सा मानी जा रही है।

कांग्रेस का कभी मेरठ में डंका बजता था, लेकिन वर्तमान में कांग्रेस का अस्तित्व खत्म हो गया है। अब फिर से कांग्रेस ने वेस्ट यूपी का रुख किया हैं। वेस्ट यूपी में कांग्रेस अपनी कितनी जड़े जमा पाती है यह तो भविष्य के गर्भ में हैं, लेकिन इतना अवश्य है कि प्रियंका गांधी से कांग्रेस नेताओं को बड़ी उम्मीदें हैं कि प्रियंका गांधी की जनसभाओं से यूपी में अवश्यक ही कोई चमत्कार होगा। कितनी भीड़ जुटती हैं? रैली में ग्रामीण क्षेत्रों से लोग ज्यादा आते हैं या फिर शहर से? यह भी बहुत कुछ तय करेगा।

गांव में लगाई कई टीम

कांग्रेस नेताओं ने मेरठ व आसपास के गांवों में कई टीम लगाई है। यह टीम गांव-गांव घूमकर लोगों को कांग्रेस का एजेंडा बताएगी तथा रैली के लिए भीड़ इकट्ठा की जाएगी। अब इसमें कितनी कामयाबी कांग्रेस नेताओं को मिलती है यह अभी कहना मुश्किल होगा। किसानों के बीच भी प्रियंका ने पहुंच बनाने के लिए कांग्रेस नेताओं की एक टीम लगाई हैं। अब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू क्रांतिधरा पर ही डेरा लगाकर रहेंगे, जिसके बाद तैयारियों की हर रोज समीक्षा की जाएगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Reply