Saturday, June 12, 2021
- Advertisement -
HomeUttarakhand Newsसीएम तीरथ गंगोत्री विधानसभा से लड़ सकते हैं चुनाव

सीएम तीरथ गंगोत्री विधानसभा से लड़ सकते हैं चुनाव

- Advertisement -
0
  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा जल्द हो जाएगा इस संबंध में अंतिम निर्णय

जनवाणी ब्यूरो |

ऋषिकेश: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत किस सीट से चुनाव लड़ेंगे इस पर अगले दो दिन में विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गंगोत्री विधानसभा सीट भी उनके चुनाव क्षेत्र के लिए प्रस्तावित सीट में शामिल है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक बुधवार को ऋषिकेश आगमन पर पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थ सिंह रावत के चुनाव क्षेत्र को लेकर संगठन दो दिन में इस पर चर्चा करेगा और जो भी निर्णय होगा उससे सबको अवगत करा दिया जाएगा। पूछे जाने पर उन्होंने स्वीकार किया कि गंगोत्री विधानसभा सीट भी मुख्यमंत्री के चुनाव लड़ने वाली संभावित प्रमुख सीट में शामिल है। इसके अतिरिक्त अन्य सीट पर भी विचार होगा।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि गंगोत्री विधानसभा सीट में उपचुनाव होना है, यह चुनाव कब होना है यह चुनाव आयोग को तय करना है। उन्होंने कहा कि थराली, पिथौरागढ़ और सल्ट विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में परिस्थिति ऐसी बनी जो दिवंगत विधायक के परिवार के सदस्य को चुनाव लड़ना पड़ा, क्योंकि इन सभी जगह उनका परिवार सक्रिय भूमिका में रहा है।

गंगोत्री सीट को लेकर प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उपचुनाव में परिवार का ही सदस्य चुनाव लड़े ऐसा कोई पार्टी का फार्मूला नहीं है। गंगोत्री से भी बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मुख्यमंत्री को चुनाव लड़ने का आग्रह कर रहे हैं। कौशिक ने बताया कि प्रदेश में जल्द ही भाजपा अपनी राजनीतिक गतिविधियां शुरू कर देगी। इस माह के अंतिम सप्ताह या अगले माह के प्रथम सप्ताह में प्रदेश कार्यसमिति और चिंतन बैठक बुलाई गई है।

दो दिन तक चलने वाली इस बैठक में संगठन के 40 वरिष्ठ नेता और केंद्र के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे, जिसमें प्रदेश के भीतर संगठन के कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के कार्यक्रम निर्धारित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस बैठक में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रोड मैप तैयार किया जाएगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सेवा ही संगठन कार्यक्रम के तहत कोरोना काल में संगठन कार्यकर्ताओं ने बूथ लेवल से लेकर प्रदेश स्तर तक सक्रिय भूमिका निभाई। उत्तराखंड में 15 कंट्रोल रूम बनाए गए। युवा मोर्चा, महिला मोर्चा के साथ अन्य सभी मोर्चा ने रक्तदान शिविर आयोजित किए।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments