Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliशामली में फूटा कोरोना बम 696 पॉज़िटिव, छह की मौत

शामली में फूटा कोरोना बम 696 पॉज़िटिव, छह की मौत

- Advertisement -
0
  • वीएसपी पीजी कॉलेज के प्राचार्य की भी अस्पताल में मौत
  • 77 में से 65 गंभीर मरीजों को आॅक्सीजन पर रखा गया

जनवाणी संवाददाता |

शामली: कोरोना संक्रमण का व्यावह रूप दिखने लगा है। शामली जिला संयुक्त चिकित्सालय के एल-2 अस्पताल में भर्ती छह मरीजों की मौत हो गई। मरने वाले सभी लोग कोरोना संदिग्ध थे। इसके अलावा जनपद में बुधवार को 696 मरीज पॉजीटिव मिले हैं से हड़कंप मचा हुआ है। 118 मरीजों ने कोरोना की जंग भी जीती है जो राहत भरी खबर है। वहीं एल-2 में भर्ती 77 में से 65 गंभीर मरीज आक्सीजन पर हैं।

जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि जनपद में बुधवार को 696 कोरोना पॉजीटिव मरीज सामने आए हैं। 118 लोगों को कोरोना जंग जीत लेने पर डिस्चार्ज भी किया गया है। इस प्रकार जिले में कुल एक्टिव केसों की संख्या 1784 हो जाती है।

उधर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय अग्रवाल ने बताया कि कोविड एल-2 चिकित्सालय में भर्ती छह रोगियों की मृत्यु हुई। सभी मरने वाले कोविड संदिग्ध थे। जिनके परिजनों को उनके गंभीर अवस्था के विषय में भली-भांति अवगत करा दिया गया था। सीएमओ ने बताया कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत जनपद में कुल 1784 केस एक्टिव है, जिसमें 1273 होमआइसोलेशन में तथा 77 मरीज एल-2 जिला संयुक्त जिला चिकित्सालय में भर्ती है। भर्ती 77 मरीजों में से 65 मरीज आक्सीजन पर है।

वीएसपी पीजी कॉलेज के प्राचार्य का निधन

कैराना कस्बे में शामली रोड स्थित विजय सिंह पथिक राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डा. चमन लाल (55) बुधवार की दोपहर में निधन हो गया। उन्हें मंगलवार को शामली के कोविड एल-टू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। महाविद्यालय के प्रोफेसर डा. अजय बाबू शर्मा ने बताया कि प्राचार्य डा. चमनलाल मूल रूप से गाजियाबाद के रहने वाले थे। फिलहाल प्राचार्य शामली शहर में रह रहे थे।

पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत खराब चल रही थी। जिस कारण त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी उनकी ड्यूटी नहीं लगाई गई थी। मंगलवार की रात को करीब डेढ़ बजे हालत खराब होने पर उनको शामली के कोविड एल-टू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उनकी कोरोना की रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी। बुधवार की दोपहर करीब एक बजे उनका कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। कोविड प्रोटोकॉल के तहत उनका अंतिम संस्कार कराया जाएगा। वहीं महाविद्यालय के प्राचार्य के निधन के बाद शिक्षकों एवं छात्रों में गम का माहौल है।

दमकलकर्मियों ने कचहरी परिसर को किया सैनिटाइज

मंगलवार को कैराना स्थिति न्यायालय में एक कर्मचारी की रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आ गई थी। जिसके बाद जनपद न्यायाधीश के आदेश पर 48 घंटे के लिए समस्त न्यायालयों को बंद कर दिया गया। वहीं बार एसोसिएशन ने भी कोरोना संक्रमण से अधिवक्ताओं वादकारियों व कर्मचारियों को बचाने के लिए 2 मई तक न्यायालयों में न्यायिक कार्य न करने का निर्णय लिया था। बुधवार को अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों ने कचहरी में न्यायालय परिसरों व अधिवक्ताओं के चेंबरो में सैनिटाइजेशन का कार्य किया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments