Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut...तो इस बार भी कोरोना विस्फोट बनेगी सब्जी मंडी

…तो इस बार भी कोरोना विस्फोट बनेगी सब्जी मंडी

- Advertisement -
0
  • प्रशासन की ढील कोरोना संक्रमण को दे रही बढ़ावा
  • नवीन मंडी में न तो सोशल डिस्टेंसिंग का हो रहा पालन और न ही मास्क लगा रहे व्यापारी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: …तो क्या इस बार भी कोरोना विस्फोट बनेगी सब्जी मंडी! नवीन सब्जी मंडी के हालात बयां कर रहे हैं कि इस बार भी वह शहर में हाहाकार मचाकर रहेगी। सब्जी मंडी में इस वक्त न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है और न ही पूरी तरह मास्क लगाया जा रहा है।

प्रशासन की यह ढील सब्जी मंडी में कोरोना संक्रमण को खुलकर बढ़ावा दे रही है। सुबह के समय हालात ऐसे रहते है कि सब्जी मंडी में पैदल चलना भी जान जोखिम में डालने के समान है। सब्जी मंडी में आने वाले लोग ही नहीं, वहां बैठे आढ़ती भी प्रशासन के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे है।

एक तरफ प्रशासन कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए भरसक प्रयास कर रहा है। वहीं, दूसरी ओर प्रशासन ने नवीन सब्जी मंडी में आढ़तियों को खुली छूट दे रखी है। सब्जी मंडी में सुबह के समय हालात ऐसे होते है कि न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता है न ही अधिकांश लोगों के मुंह पर मास्क होता है।

वहीं सरकार की गाइड लाइन का पालन कराने के लिए एडीजी, आईजी व कमिश्नर समेत तमाम अधिकारी सड़कों पर उतरे हुए है और लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पूरी सख्ती बरत रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद सब्जी मंडी का नजारा देखा जाए तो यहां अनलॉक की तरह लोग सब्जीयां खरीदते हुए दिखाई देते है। यही नहीं आढ़ती व मासाखोर भी बिना किसी नियम के अपना माल बेचने में मशगूल रहते हैं।

ढील बनी मुसीबत

नवीन मंडी में सरकार की गाइड लाइन की खुलेआम उड़ाई जा रही धज्जियां कहीं मुसीबत न बन जाएं। यदि बात पिछले वर्ष की करें तो नवीन सब्जी मंडी में कोरोना विस्फोट ने शहर में हाहाकार मचा दिया था। शायद इस बार भी प्रशासन को इसी का इंतजार है।

जिस कारण अभी तक प्रशासन ने नवीन सब्जी मंडी में आने वाले लोगों व आढ़तियों के लिए किसी तरह कोई गाइड लाइन नहीं बनाई है। जबकि इस बार पिछले वर्ष के मुकाबले चार गुना से भी ज्यादा प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के केस आ रहे है। कोरोना संक्रमित मरीजों की बात करें तो इस बार रोजाना एक हजार से ज्यादा केस आ रहे है। इसके बावजूद प्रशासन नवीन सब्जी मंडी की ओर से आंखे बंद किए हुए है।

कोटला बाजार, खैरनगर और अन्य बाजारों में प्रशासन के नियमों की उड़ाई जा रही धज्जियां

जिला प्रशासन ने व्यापारियों व लोगों को ढील क्या दी कि उन्होंने सरकार की सभी गाइड लाइन को दरकिनार कर दिया। सुबह के समय खोले जा रहे बाजारों में भीड़ का आलम ऐसा रहता है कि खरीदार पूरी तरह बेकाबू रहते है और दुकानों पर एक-दूसरे से सटकर खड़े रहते है। व्यापारियों और प्रशासन की यह अनदेखी कहीं जी का जंजाल न बन जाएं।

कोटला बाजार, खैरनगर व सदर दाल मंडी की बात करते तो यहां प्रशासन ने सुबह 11 बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति दे रखी है। ताकि छोटे दुकानदार व आमजन अपनी जरूरत का सामान खरीद सकें, लेकिन प्रशासन की इस ढील का व्यापारी व आमजन गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। इन बाजारों में हालात ऐसे रहते है कि न तो यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है और न ही ठीक ढंग से मास्क लगाया जाता है।

हालांकि प्रशासन लोगों व व्यापारियों को बार-बार अपील कर रहा है कि वह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बखूबी करें और मास्क का भी इस्तेमाल करें। वैसे पुलिस प्रशासन की गाइड लाइन का उल्लंघन करने वालों के प्रतिदिन चालान भी काट रही है, लेकिन इसके बावजूद व्यापारियों व लोगों पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है। जबकि लोगों व व्यापारियों की यह लापरवाही उनकी जिंदगी को संकट में डाल सकती है।

पुलिस काट कर रही चालान फिर भी कोई असर नहीं

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पुलिस ने लोगों को जागरूक करने के लिए पुलिस थाना, चौकी व चौराहों समेत 66 जगहों पर लाउडस्पीकर लगाए हुए है। इसी के साथ 110 वाहन शहर में घूम रहे है जो लोगों से सरकार की गाइडलाइन का पालन करने के लिए लगातार अपील कर रहे है।

वहीं पुलिस ने शनिवार को धारा 144 का उल्लंघन करने वाले 33 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उनसे 6976 रुपये का जुर्माना वसूला। बिना मास्क लगाने वाले 1805 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 89041 रुपये वसूल किए। वहीं, लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 17 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 10740 रुपये का जुर्माना वसूल किया।

आईजी, एसएसपी ने हापुड़ अड्डे पर निकाला फ्लैग मार्च

लॉकडाउन का सख्ती पालन कराने के लिए आईजी प्रवीण कुमार व एसएसपी अजय साहनी प्रतिदिन सड़क पर उतरकर शहर का जायजा ले रहे हैंं। यही नहीं शनिवार को आईजी व एसएसपी ने पुलिस बल व पीएसी के साथ हापुड़ अड्डा चौराहे से मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में मार्च भी निकाला। इसी के साथ शहर के सीओ व थानेदारों ने भी अपने-अपने क्षेत्रों में सघन चेकिंग अभियान चलाया और लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के चालान काटे।

शनिवार को 11 बजे के बाद शहर की सड़कों पर पुलिस ही पुलिस नजर आई। लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए जहां सीओ और थानेदार अपने-अपने क्षेत्रों में सख्ती दिखाते नजर आए तो वहीं आईजी प्रवीण कुमार व एसएसपी अजय साहनी हापुड़ अड्डा चौराहे पर तैनात रहे। आईजी व एसएसपी ने पीएसी के जवानों के साथ हापुड़ अड्डे से गोला कुअां, भगत सिंह मार्केट व हापुड़ रोड पर फ्लैग मार्च निकाला। इस दौरान पुलिस ने बिना वजह सड़क पर घूम रहे लोगों के चालान काटे और लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह जरुरी काम से ही अपने घरों से बाहर निकले।

उधर, बेगमपुल चौराहे पर थाना प्रभारी सदर बाजार बिजेंद्र राणा ने पुलिस टीम के साथ सघन चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान बेवजह सड़क पर घूम रहे कई लोगों के चालान काटे गए। तेजगढ़ी चौराहे पर भी सीओ सिविल लाइन के नेतृत्व में पुलिस और पीएसी ने जबरदस्त चेकिंग की। इस दौरान सड़क से गुजर रहे वाहन चालकों की क्लास लगाते हुए कई वाहन चालकों के चालान काटे। वहीं बिना मास्क के घूम रहे कई लोगों के भी चालान काटे गए।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments