Wednesday, May 29, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमकान में आग लगने से दंपति की जलकर मौत

मकान में आग लगने से दंपति की जलकर मौत

- Advertisement -
  • टीला मोड़ थाना क्षेत्र के फरुखनगर में सोमवार की दोपहर हुआ हादसा

जनवाणी संवाददाता |

गाजियाबाद: टीला मोड़ थाना क्षेत्र के फरुखनगर में सोमवार दोपहर बड़ा हादसा हो गया। यहां एक मकान में आग लगने से दंपति की जलकर मौत हो गई। मकान में पटाखे रखे हुए थे। शुरुआती जांच में आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है। पटाखों से फैली आग से घर का सामान भी जलकर राख हो गया। ग्रामीणों और दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

टीला मोड़ थाना क्षेत्र के फरुखनगर में 57 वर्षीय इरफान, 55 साल की पत्नी समरजहां के साथ रहते थे और शादी के अलावा अन्य कार्यक्रमों में आतिशबाजी का कार्य करते थे। उनकी सहारनपुर में पटाखे की फैक्ट्री भी है। पुलिस ने बताया कि सोमवार दोपहर करीब 1:30 बजे सूचना मिली कि इरफान के मकान में आग लग गई है। इसकी जानकारी दमकल विभाग को दी गई। जानकारी मिलने पर दमकल कर्मियों के साथ पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि मकान में आग लगी हुई है और ग्रामीण आग बुझाने में लगे हुए हैं। दमकल कर्मियों ने भी आग पर काबू पाया।

पुलिस ने बताया कि आग बुझाने के बाद मकान में देखा तो इरफान और उनकी पत्नी गंभीर रूप से झुलसे हुए थे। दोनों को तत्काल जीटीबी अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में लगता है कि आग शॉर्ट सर्किट से लगी है और घर में पटाखे रखे हुए थे। इस कारण आग तेजी से फैल गई। जिसमें जलकर दंपति की मौत हो गई। मकान का सामान भी जला है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

18 9

पीडब्ल्यूडी कर्मी ने फांसी लगाकर दी जान

मेरठ: गंगानगर निवासी पीडब्ल्यूडी में कार्यरत एक कर्मचारी ने सोमवार को घर के कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। गंगानगर के राजेन्द्रपुरम इलाके में 27 साल के देवांग सिंह राणा एक रिश्तेदार वीरेन्द्र सिंह, जोकि बरेली में पीडब्ल्यूडी के एकाउंट सेक्शन में में तैनात हैं, के यहां रहता था। यह भी बताया गया है कि वह आजकल उन्हीं के साथ काम भी कर रहा था। आमतौर पर वह सुबह जल्दी कमरे से बाहर आ जाता था, लेकिन सोमवार को जब काफी देर तक वह बाहर नहीं आया तो परिवार के बाकि सदस्यों ने दरवाजा खटखटाया। उसका दरवाज भीतर से लॉक था।

किसी ने भीतर झांक कर देखा तो उसका शव रूम के भीतर रैलिंग में डाली गयी रस्सी से झूल रहा था। यह देखकर वहां हड़कंप मच गया। पुलिस को सूचना दी गयी। आसपड़ोस के काफी लोग भी वहां जमा हो गए। पुलिस के आने के बाद रूम का दरवाजा धक्का देकर तोड़ा गया। उसके बाद भीतर जाकर शव को नीचे उतारा गया। मौके पर पहुंची गंगानगर पुलिस ने देवांग राणा के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस का कहना है कि देवांग नशे का आदी था। उसकी जेब से सूखा नशा, जोकि बहुत ही घातक होता है, वह मिला है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

सप्ताह भर की ली थी छुट्टी

जांच में पता चला कि देवांग सिंह राणा ऋषिकेश जाने की बात कहकर सप्ताह भर की छुट्टी लेकर आया था, लेकिन जिन दोस्तों के साथ वह घूमने जाने की बात कहकर आया था, वह उनके साथ गया ही नहीं था, वह अपने कमरे में ही संभवत रुक गया था। उसकी मौत की खबर साथ रहने वाले रिश्तेदारों ने उसके परिवार वालों को भी दे दी है।

ट्रेन से गिरकर युवक की मौत

दौराला: सकौती अंडरपास के पास सोमवार सुबह एक युवक ट्रेन से गिर गया, जिस कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गई। दौराला थाना प्रभारी उत्तम सिंह राठौर ने बताया कि सोमवार सुबह रेलवे ट्रेक पर एक युवक का शव पड़ा होने की सूचना मिली। युवक चलती ट्रेन से गिर गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। पुलिस ने युवक के शव को मोर्चरी के लिए भेज दिया। शव की शिनाख्त को लेकर पुलिस ने आसपास के जिलों व थानों में मृतक के फोटो को भेज दिया।

उपचार के दौरान मासूम की मौत

मेरठ: उपचार के दौरान मासूम की मौत पर पत्नी ने पति पर गंभीर आरोप लगाए। वह ब्रह्मपुरी पुलिस लेकर पहुंच गयी। हालांकि पुलिस ने जब जांच पड़ताल की तो पति को बेकसूर पाया। तारापुरी निवासी सलीम के घर पर उसकी पत्नी शीवा निवासी लिसाड़ीगेट पुलिस लेकर जा पहुंची। उसने आरोप लगाया कि उसके मासूम बच्चे की मौत का जिम्मेदार उसका पति है। जबकि पति ने सलीम ने आरोप लगाया कि मासूम की मौत की जिम्मेदार जिम्मेदार शीवा है। वह उसको छोड़कर एक माह पूर्व अपने मायके चली गयी थी। जब उसको लेने गए तो उसने अपने मायके वालों से हमला कर दिया। बच्चे का काफी इलाज कराया। उसने पुलिस वालों को इलाज के पेपर भी दिखाए। जिसके बाद पुलिस वाले वहां से लौट गए। सलीम ने आरोप लगाया कि शीवा मासूम के दफीना में भी शामिल नहीं हुई।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments