Wednesday, June 19, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपुलिस लाइन में डेंगू की दस्तक, 28 नए केस

पुलिस लाइन में डेंगू की दस्तक, 28 नए केस

- Advertisement -
  • ओपीडी में बुखार के मरीजों से हालात बेकाबू
  • मेडिकल और जिला अस्पताल के वार्ड में बुखार के मरीजों की भरमार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: स्वास्थ्य विभाग भले ही कुछ भी दावा करे लेकिन हकीकत दावों के उलट है। तमाम कोशिशों के बाद भी डेंगू के मामले थमते नजर नहीं आ रहे। डेंगू की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गुरूवार व शुक्रवार मसलन दो दिन में डेंगू के पचास से ज्यादा केस आए हैं। गुरुवार को 24 नए केस आए थे और शुक्रवार को 28 नए केस डेंगू के आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के जिला सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने आज 28 नए केसों की जानकारी दी है।

उन्होंने बताया कि जिन इलाकों में ये नए केस मिले हैं उनमें ब्रहमपुरी, हस्तिनापुर, जयभीम नगर, जानी, कंकरखेड़ा, कसेरू बक्सर, खरखौदा, लल्लापुरा, माछरा, मलियाना, पल्हैडा, पुलिस लाइन, राजेन्द्र नगर, साबुन गोदाम, सरधना व तारापुरी शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर जिला अस्पताल व एलएलआरएम मेडिकल की ओपीडी में बुखार के मरीजों का आंकडा भी लगातार बढता ही जा रहा है।

बुखार के मरीजों की तेजी से बढ रही संख्या के चलते अब हालात बेकाबू होते नजर आ रहे हैं। जहां तक मेडिकल व जिला अस्पताल के वार्ड की बात है तो दोनों में बुखार के मरीज भरे पडेÞ हैं। इसके बाद भी मरीजों के आने का सिलसिला जारी है। हालांकि अच्छी बात है कि सरकारी स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों में अभी तक डेंगू के नाम पर किसी भी मरीज की मौत दर्ज नहीं की गयी है।

जिला सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि इस सीजन में आमतौर पर डेंगू का प्रकोप रह साल रहता है। स्वास्थ्य विभाग पूरी सजगता से अपने काम में लगा है। मरीजों को पूरा उपचार दिया जा रहा है। दवाओं व डाक्टरों की भी कोई कमी नहीं है।

कपसाड़ में जांच करने पहुंची यूनीसेफ की टीम

सरधना: कपसाड़ गांव को लेकर स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ी हुई है। अधिकारी कपसाड़ में डेरा डाले हुए हैं। शुक्रवार को यूनीसेफ की टीम ने कपसाड़ पहुंच कर हालात का जायजा लिया। स्वास्थ्य विभाग की कैंपिंग और सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। साथ ही घर-घर जाकर ग्रामीणों से बात की। ग्रामीणों के बताने के आधार पर रिपोर्ट तैयार की। वहीं शाम को एसडीएम ने भी कपसाड़ पहुंच कर स्थिति जानी। वहीं कपसाड़ में बुखार व डेंगू के चलते ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

सरधना का कपसाड़ गांव करीब दो महीने से बुखार से तप रहा है। बुखार के साथ डेंगू ग्रामीणों पर कहर बरपा रहा है। जिसके चलते अब दर्जनों लोगों की जान जा चुकी है। इसके अलावा बड़ी संख्या में लोग बुखार व डेंगू की चपेट में हैं। प्रशासन लगातार हालता को काबू करने में लगा हुआ है। मगर लगातार मेहनत के बाद भी हालात सामान्य नहीं हो पा रहे हैं। शासन स्तर तक हालात का जायजा लिया जा रहा है। शुक्रवार को यूनीसेफ की टीम कपसाड़ में स्थिति का जायजा लेने पहुंची। टीम ने सफाई व्यवस्था जानी। साथ ही स्वास्थ्य विभाग के कैंप में जाकर हालात देखे।

इसके अलावा घर घर जाकर ग्रामीणों से बात की। पता लगाने की कोशिश की कि गांव में स्थिति क्या है। उसी के आधार पर टीम ने अपनी रिपोर्ट तैयार की और लौट गई। इसके अलावा एसडीएम पीपी राठौर ने भी शाम को कपसाड़ पहुंच कर स्थिति को देखा। वहीं सीएचसी प्रभारी डा. संदीप गौतम लगातार गांव में डेरा डाले हुए हैं। लगातार गांव में कैंप लगाकर मरीजों की जांच की जा रही है। एंटी लार्वा का छिड़काव, फॉगिंग व सफाई अभियान भी रोजाना चलाया जा रहा है। उधर, बुखार के चलते ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments