Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअप्रैल के महीने में प्रचंड गर्मी का असर

अप्रैल के महीने में प्रचंड गर्मी का असर

- Advertisement -
  • दिन का पारा 40 डिग्री के पार, छूटे पसीने

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: अप्रैल के महीने में प्रचंड गर्मी का असर देखने को मिल रहा है। पारा 40 डिग्री के पार पहुंच गया है। बढ़ती गर्मी के कारण सड़क ों पर सन्नाटा पसर गया है। बाजार भी सुनसान हो गए है। सुबह दिन निकलते ही गर्मी का असर शुरू हो जाता है। दोपहर में चिलचिलाती और तपती गर्मी पड़ने के कारण लोग अभी से ही परेशान हो गए हैं। अप्रैल में ही जून और जुलाई जैसी गर्मी का असर देखने को मिल रहा है। जिसके चलते बढ़ती गर्मी के कारण लोग हलकान हो रहे हैं। ऐसे में अब लोगों ने एसी और कूलर का सहारा लेना शुरू कर दिया है।

बढ़ती गर्मी के कारण लोग बीमारी का भी शिकार होने लगे हैं। बदलता मौसम बीमारी की ओर धकेल रहा है। क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से इस बार अप्रैल के महीने में ही चिलचिलाती गर्मी पड़ रही है। लू चलने का अच्छा खासा असर दोपहर में देखने को मिल रहा है। लोग इस गर्मी से बचने के लिए पेय पदार्थों का सहारा ले रहे हैं। बढ़ती गर्मी लोगों क े लिए परेशानी के साथ-साथ अब लोगों को दिक्कतों में भी डाल रहा है।

राजकीय मौसम वैधशाला पर मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 40.7 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 22.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 39 एवं न्यूनतम आर्द्रता 19 प्रतिशत दर्ज की गई। हवा का रुख सुबह शांत रहा, लेकिन शाम को चार किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चली।

13 18

सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विवि के मौसम वैज्ञानिक डा. यूपी शाही का कहना है कि अप्रैल के महीने में गर्मी का प्रकोप बढ़ेगा। बढ़ती गर्मी के कारण लोग बीमारी का भी शिकार हो सकते है।

गर्मी के साथ धीरे-धीरे फिर से बढ़ा प्रदूषण

अप्रैल के महीने में जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रही है। वैसे प्रदूषण का प्रकोप भी बढ़ रहा है। बढ़ता प्रदूषण लोगों के लिए अब हानिकारक होने लगा है। गर्मी में अक्सर प्रदूषण बढ़ने के कारण लोगों को सांस लेने में भी दिक्कते महसूस होती है। मेरठ में 287, गाजियाबाद में 258, बागपत में 260, मुजफ्फरनगर में 326 दर्ज किया गया। जबकि मेरठ के गंगानगर में 301, पल्लवपुरम में 259, जयभीमनगर में 300 प्रदूषण दर्ज किया गया।

बरते सावधानी, इनसे करें हमेशा परहेज

गर्मी के साथ-साथ मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ रहा है। मच्छरों का प्रकोप बढ़ने से लोग वायरल का शिकार हो रहे हैं। इसलिए इससे बचने के लिए बेहद सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments