Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपर्यावरण बचाने पर जोर, बिल्डिंग निर्माण की तैयारी तेज

पर्यावरण बचाने पर जोर, बिल्डिंग निर्माण की तैयारी तेज

- Advertisement -
  • खेल विश्वविद्यालय: पाइल टेस्टिंग के बाद बिल्डिंग निर्माण की तैयारी
  • यूनिवर्सिटी के लिए कम से कम पेड़ काटने की कोशिश
  • 850 की जगह 622 पेड़ कटेंगे, पाइल टेस्टिंग की रिपोर्ट आने का इंतजार

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: सलावा में बनने जा रहे मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का सपना बहुत जल्द पूरा होने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले बिल्डिंग का स्ट्रक्चर नजर आने लगेगा। यूनिवर्सिटी बनाने के लिए पर्यावरण को बचाने पर भी जोर दिया जा रहा है। पेड़ों की संख्या कम करके 622 कर दी गई है। मौके पर पेड़ों का कटान युद्धस्तर पर किया जा रहा है। साथ ही भूमि पर खड़ी सिंचाई विभाग की समस्त बिल्डिंग को ध्वस्त कर दिया गया है। इसके अलावा पाइल टेस्टिंग के लिए सैंपल लैब भेज दिए गए हैं। टेस्टिंग रिपोर्ट आते ही बिल्डिंग का कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

26

सरधना के गांव सलावा और कैली गांव के बीच बनने वाले मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय यूपी के सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जा रहा है। करीब 700 करोड़ रुपये के इस मेगा प्रोजेक्ट को 91 एकड़ी भूमि पर उतारा जाएगा। जिसमें युवाओं को खेल डिग्री, डिप्लोमा व पीएचडी करने का मौका मिलेगा। जो अपने आप में बड़ी बात है। यह यूनिवर्सिटी पूरे यूपी की पहली यूनिवर्सिटी है। दो जनवरी 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सलावा पहुंच कर विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया गया था। मगर इसके बाद धरातल पर कोई काम नहीं हुआ।

अब लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही यूनिवर्सिटी का कार्य भी तेज कर दिया गया है। पहले भूमि पर खड़े करीब 850 पेड़ काटे जाने थे। क्योंकि पर्यावरण को कम से कम नुकसान पहुंचाना इस प्रोजेक्ट की प्राथमिकता है तो कटान की संख्या कम करके 622 कर दी गई है। बाकी पेड़ परिसर में ही छोडेÞ जाएंगे। बिल्डिंग इस हिसाब से बनाई जाएगी कि पेड़ों को बचाया जा सके। फिलहाल चिंहित किए गए पेड़ों का कटान जारी है। इसके अलावा पाइल टेस्टिंग का काम किया जा रहा है। जमीन के नीचे तक क्षमता को आंका जा रहा है। टेस्टिंग रिपोर्ट आने के बाद बिल्डिंग का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

25

पीएम मोदी ने किया था शिलान्यास

मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं किया था। पीएम और सीएम योगी आदित्यनाथ दो जनवरी 2022 को सलावा की सरजमीं पर पहुंचे थे।

यूनिवर्सिटी एक, खूबियां अनेक

मेजर ध्यानचंद विश्वविद्यालय प्रदेश की पहले खेल यूनिवर्सिटी है। जिसमें आॅलंपिक स्तर के सभी खेलों के लिए ट्रैक, पूल, मैदान, रैंज आदि तैयार की जाएंगी। यहां खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग दी जाएगी। साथ ही यूनिवर्सिटी से युवाओं को डिप्लोमा, डिग्री और पीएचडी तक करने का मौका मिलेगा।

ये होगी खेल विश्वविद्यालय में सुविधा

खेल विश्वविद्यालय में मिलने वाली सुविधाएं अत्याधुनिक और विश्वस्तरीय होंगी। इसमें 100 व 400 मीटर के लिए एथलेटिक ट्रैक के साथ ही विभिन्न सुविधाएं दी जाएंगी। हॉकी के लिए बड़ा मैदान, चार लॉन टेनिस कोर्ट, चार वालीबॉल कोर्ट, दो बास्केटबॉल कोर्ट, दो हैंडबॉल कोर्ट, योगा हॉल, मल्टीपर्पज हॉल, 100 व 400 मीटर सिंथेटिक ट्रैक भी बनाए जाएंगे। सरकार की मंशा है कि इस विवि को खेल शिक्षा का हब बनाया जाए। जो यूपी ही नहीं पूरे देश का का एक केंद्र बने। इससे मेरठ के खेल कारोबार को भी बढ़ावा मिलेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments