Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliएनसीआर के मानकानुसार मांगा किसानों ने मुआवजा

एनसीआर के मानकानुसार मांगा किसानों ने मुआवजा

- Advertisement -
  • इकॉनोमिक कॉरीडोर में प्रस्तावित भूमि पर की आपत्ति

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून इकॉनोमिक कॉरीडोर के लिए शामली जनपद के 21 ग्रामों की 21 लाख, 56 हजार, 768 वर्ग मीटर भूमि अधिग्रहण किया जाना प्रस्तावित है। शुक्रवार को कई गांवों के किसानों ने प्रस्तावित भूमि के अधिग्रहण पर आपत्ति दर्ज कराते हुए एनसीआर के मानकानुसार मुअवजा दिए जाने तथा एक परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी अथवा पांच लाख रुपये अतिरिक्त मुआवजा दिए जाने की मांग की है। साथ ही, किसानों ने जनपद में आधा दर्जन से अधिक स्थानों पर अंडरपास तथा एक खेत से दूसरे खेत तक पानी पहुंचाने के लिए व्यवस्था किए जाने की मांग की।

दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून इकॉनोमिक कॉरीडोर के लिए भूमि अधिग्रहण की आपत्तियों की सुनवाई के लिए जिलाधिकारी जसजीत कौर ने भूमि अधिग्रहण के लिए एसडीएम सदर को प्राधिकारी नामित किया है। शुक्रवार को एसडीएम सदर/ प्राधिकारी संदीप कुमार ने दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून इकॉनोमिक कॉरीडोर के लिए प्रस्तावित भूमि के अधिग्रहण को किसानों की आपत्तियों की सुनवाई की।

इस दौरान गांव ख्यावड़ी, भैंसानी इस्लामपुर, हसनपुर लुहारी आदि गांवों से दर्जनों किसानों ने आपत्तियां दर्ज कराई। ख्यावड़ी के ग्रामीण धर्म सिंह, रमेश, मनोज कुमार, वैरी सिंह, सुरेश, नाथी आदि का कहना था कि शामली जनपद एनसीआर में शामिल है।

एनसीआर के नियमों के अनुसार 15 वर्ष पुराना ट्रैक्टर प्रतिबंधित कर दिया है, भट्ठों पर भी एनसीआर के नियम लागू है। किसानों का कहना था कि उनकों भी उनकी भूमि का मुआवजा एनसीआर के मानकों के अनुसार ही मिलना चाहिए। साथ ही किसानों ने एक किसान परिवार को एक नौकरी अथवा पांच लाख रुपये अतिरिक्त मुआवजा दिए जाने की मांग की।

इस तरह जिले से गुजरेगा कॉरीडोर, जनपद में 34 किमी. निर्माण प्रस्तावित

दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून इकॉनोमिक कॉरीडोर के लिए जनपद में किमी 54 से 88 किमी तक यानी कुल 34 किमी की लंबाई के 2 लेन/ 4 लेन के निर्माण के लिए प्रस्तावित है। इस इकॉनिमिक कॉरीडोर के लिए 21 ग्रामों की 21 लाख, 56 हजार, 768 वर्ग मीटर जमीन अधिग्रहण की जानी प्रस्तावित है। यह कारीडोर जनपद मुजफ्फरनगर में फुगाना क्षेत्र से होते हुए शामली गांव लांक, खेडी पट्टी, खानपुर, कासमपुर से होते हुए नांगल, रायपुर, उमरपुर होते हुए सहारनपुर जनपद की सीमा में प्रवेश करेगा।

आपत्ति दर्ज कर मांगी गई सुविधाएं

किसानों ने आपत्तियां दर्ज कराने के साथ ही कॉरीडोर के सड़क के दोनों ओर खेत पर जाने के लिए अंडर पास की सुविधा और खेत का पानी सड़क पार खेत तक पहुंचाने के लिए अंडरग्राउंड पाइप लाइन सुविधा मुहैया कराने की मांग की। साथ ही, कॉरीडोर पर उतरने और चढ़ने के लिए कट की मांग की गई है।

कॉरीडोर इन गांवों की भूमि होगी अधिग्रहण

अब्दुल्लापुर उर्फ मोर माजरा, बाबरी, बंतीखेड़ा, भैंसानी इस्लामपुर, भाजू, भिक्का माजरा, बुटराड़ा, चूनसा, गोगवान जलालपुर, हसनपुर लुहारी, कैडी, कांजर हेडी, कासमपुर, खानपुर, खेड़ी पट्टी, ख्यावडी, लाडो मजरी, लांक, नांगल, रायपुर, उमरपुर प्रमुख हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments