Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमहापंचायत में किसानों की जेबें हुई साफ

महापंचायत में किसानों की जेबें हुई साफ

- Advertisement -
  • तीन किसानों की जेब से निकाले रुपये

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: चौधरी चरण सिंह पार्क में आयोजित भाकियू की महापंचायत में हजारों की तादाद में तमाम कि सान शामिल हुए। लेकिन पंचायत में शामिल किसानों की भीड़ में जेबकतरों ने अपने तेवर दिखाये और कई की जेब पर हाथ साफ कर दिए। तीन किसानों की जेब से पर्स चोरी और नकदी चोरी कर ली गई। हालांकि मंच से किसानों की जेब काटे जाने का एनाउन्समेन्ट कर सभी को सतर्क किया गया।

शुक्रवार को चौधरी चरण सिंह पार्क में भाकियू टिकैत की महापंचायत आहूत की गई थी। जिसमें दूर दराज से किसान आये हुए थे। दोपहर के वक्त मंच पर आसीन भाकियू के पदाधिकारी भाषण देने में जुटे थे। हजारों की तादाद में किसान पार्क के अंदर और इर्द गिर्द जमा थे। इसी बीच मंच से किसानों ने एनाउन्समेन्ट से सभी को चेतावनी दी कि किसान सावधान रहेें।

महापंचायत में जटौली निवासी मनोज किसान की जेब से जेबकतरों ने पर्स उड़ा लिया है। पर्स में चार हजार रुपये चोरी होने की सूचना देकर किसानों को सतर्क किया गया। मौके पर किसानों ने एक युवक को संदिग्ध दिखाई देने पर पकड़ लिया। संदिग्ध युवक से किसानों ने पूछताछ की तो वह सही जवाब नहीं दे पाया। किसानों ने युवक को पकड़कर सिविल लाइन पुलिस को सौंप दिया।

मैदान में मिला जेब से निकाला गया पर्स, मंचासीन किसानों को सौंपा

भाकियू की महापंचायत की भीड़ में जटौली के किसान पंकज का पर्स चोरी कर लिया गया था। पर्स में चार हजार रुपये रखे थे। लेकिन कुछ घंटे बाद पंकज का पर्स मैदान में किसानों को पड़ा मिला तो उन्होंने मंच पर बैठे किसानों को सौंप दिया।

15 12

चर्चा रही कि मंच से जेबकतरों के द्वारा जेब काटे जाने की सूचना और सतर्क रहने का एनाउन्समेन्ट जैसे ही किया गया तो पंचायत में मौजूद जेबकतरे डर के चलते पर्स को वहीं छोड़कर निकल गए। दो किसानों की जेब से 80 रुपये और 90 रुपये निकाले जाने की जानकारी किसान नेता बबलू ने दी है। महापंचायत के अंत में किसानों ने पकड़े गए युवक को पुलिस से छुड़वाया।

एसएसपी आवास से हटा दी बैरिकेडिंग

चौधरी चरण सिंह पार्क में आयोजित भाकियू महापंचायत को लेकर पुलिस प्रशासन ने यातायात व्यवस्था बनाये रखने के लिए चार पांच स्थानों पर बैरिकेडिंग की थी। एसएसपी आवास परिसर के सामने रस्सा लगाकर बैरिकेडिंग कर कप्तान आवास को सुरक्षित किया गया था। पंचायत में राकेश टिकैत के साथ किसानों की भीड़ बढ़ी तो पुलिस ने आनन फानन में आवास के सामने लगी बैरिकेडिंग को हटवा दिया।

शुक्रवार सुबह से ही कमिश्नरी के सामने चौधरी चरण सिंह पार्क में भाकियू महापंचायत में दूरदराज से किसानों के जत्थे आने शुरु हो गए थे। जिसके चलते भारी संख्या में किसान टैÑक्टरों व गाड़ियों के काफिले के साथ पंचायत में शामिल होना शुरु हो गए थे। पुलिस ने महापंचायत के लिए चार पांच स्थानों पर बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस को तैनात किया था। वहीं सुबह से ही एसएसपी आवास के सामने आधी सड़क पर बैरिकेडिंग लगाकर रस्सा बांध कर एसपी देहात आवास तक सुरक्षित कर दिया गया था,

लेकिन दोपहर ढाई बजे जब सीओ सिविल लाइन को किसानों ने जानकारी दी कि राकेश टिकैत अपने काफिले के साथ मेरठ पहुंचने वाले हैं तो सीओ ने एसएसपी आवास के सामने लगी बैरिकेडिंग और रस्से को वहां से आनन फानन में हटाने के निर्देश दिए। पुलिस कर्मी हरकत में आये और आवास के सामने लगी बैरिकेडिंग को वहां से चंद मिनटों में हटा दिया गया। महापंचायत मेें किसानों की भीड़ को देखते पुलिस प्रशासन चौकन्ना रहा और किसानों को पंचायत स्थल तक आने दिया गया।

भाकियू महापंचायत के चलते शहर में लगा जाम फंसे रहे लोग

शहर के बीचोंबीच कमिश्नरी के सामने चौधरी चरण सिंह पार्क मेंं आयोजित भाकिूय महापंचायत को लेकर यूँ तो यातायात के लिए तैंतीस ट्रेफिक कर्मियों को लगाया गया था। लेकिन बावजूद इसके महापंचायत में ट्रैक्टरों और गाड़ियों से आई किसानों की भीड़ के चलते शहर में जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई। शहर के बीचोंबीच कई क्षेत्रों में सड़कों पर भीषण जाम लग गया।

लोग आवागमन बाधित होने पर जाम में फंस कर रह गए। शुक्रवार को चौधरी चरण सिंह पार्क में किसानो की विभिन्न समस्याओं के लिए भाकियू की महापंचायत आहूत की गई थी। महापंचायत में राकेश टिकैत सहित तमाम भाकियू पदाधिकारी एवं नेताओं की उपस्थिती दिखाई दी। सुबह से ही किसान ट्रेक्टरों पर पंचायत में पहुंचना शुरु हो गए थे। वहीं कमिश्नरी साकेत इमली चौराहे पर पुलिस ने बैरेकेटिंंग कर किसानों को छोड़कर किसी अन्य लोगों को वाहनों से जाने के लिए मना कर दिया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments