Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerut31 जनवरी से वाहन पर लगा फास्टैग नहीं करेगा काम

31 जनवरी से वाहन पर लगा फास्टैग नहीं करेगा काम

- Advertisement -
  • केवाईसी पूरी नहीं होगी तो 31 के बाद बंद होगा फास्टैग
  • एनएचएआई निर्देशों के तहत केवाईसी करना जरूरी

जनवाणी संवाददाता |

सरूरपुर: 31 जनवरी की समय सीमा से पहले यदि अपने अपने वहां पर लग फास्टैग की केवाईसी नहीं कराई तो वह निष्क्रिय हो जाएगा। इस पर कार मालिकों के लिए एक बड़ा अपडेट है। यदि आपकी कार की विंडस्क्रीन पर लगाए गए फास्टैग की आपने 31 जनवरी से पहले केवाईसी नहीं कराई तो शेष राशि के बावजूद इसे निष्क्रिय या ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा।

एनएचआई ने वन व्हीकल वन फास्टैग पहल शुरू की है। जिसका उपयोग वाहनों के लिए एक ही फास्टैग का उपयोग करने और एक ही वाहन के लिए कई फास्टैग का उपयोग करने से रोकने के लिए होगा। एनएचएआई ने निर्देश दिए हैं कि अगर फास्टैग की केवाईसी पूरी नहीं है तो उन्हें बैंक की दिशा निर्देशों के मुताबिक ब्लॉक किया जाएगा। नेशनल हाइवे अथॉरिटी आॅफ इंडिया यानी एनएचएआई की तरफ वन व्हीकल वन फास्टैग पहल शुरू की गई है।

एनएचएआई का मकसद कई वाहनों के लिए एक ही फास्टैग का उपयोग करने से रोकने के लिए है। साथ ही एक ही वाहन के लिए कई फास्टैग का उपयोग करने पर रोक लगाने की कोशिश है। एनएचएआई ने निर्देश के मुताबिक जिन फास्टैग की केवाईसी पूरी नहीं है, उन्हें भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा निर्देशों के मुताबिक 31 जनवरी के बाद ब्लॉक कर दिया जाएगा।

Untitled 1 copy 1

अगर आपके फास्टैग की केवाईसी पूरी नहीं है तो उसे बैन या ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। अगर आपको मालूम नहीं है कि आपके फास्टैग की केवाईसी पूरी नहीं है तो उसका आॅनलाइन पता लगा सकते हैं। आप अपने फास्टैग की केवाईसी स्टेटस चेक करने के लिए वेब पोर्टल पर जा सकते हैं।

कैसे केवाईसी करें अपडेट

माय प्रोफाइल पेज में आपको प्रोफाइल सब सेक्शन दिखेगा। जिस पर क्लिक करने के बाद आपको कस्टमर टाइप सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद जरूरी दस्तावेज के तौर पर आईडी एड्रेस प्रूफ डॉक्यूमेंट सब्मिट करना होगा। अपनी एक पासपोर्ट साइज फोटो और एड्रेस प्रूफ सब्मिट करना होगा। इसके बाद केवाईसी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

कैसे फास्टैग केवाईसी स्टेटस करें चेक

सबसे पहले वेब पोर्टल पर जाएं। फिर अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और पासवर्ड से लॉग इन करें या ओटीपी-बेस्ड वेरिफिकेशन करें। एक बार लॉग इन करने के बाद डैशबोर्ड मेनू पर जाएं। डैशबोर्ड के राइट साइड माय प्रोफाइल आॅप्शन सेलेक्ट करें। माय प्रोफाइल पेज पर दिखेगा। जिसमें आपकी अपडेट की जानकारी होगी। यदि आपका केवाईसी पूरी हैं तो उसकी जानकारी मिलेगी।

घनघोर लापरवाही : सांसद सत्यपाल सिंह को बनाया सतपाल मलिक?

रोहटा: क्षेत्र में सांसद के पोस्टर लगे फोटो पर सांसद सत्यपाल सिंह की जगह सतपाल मलिक बदलकर नाम लिखकर सांसद का गौत्र बदल दिया है। जिसको लेकर यह होर्डिंग काफी चर्चाओं में बने हुए हैं। हालांकि होर्डिंग में जिला पंचायत अध्यक्ष का भी फोटो लगा हुआ। दरअसल, क्षेत्र में काफी जगह पर गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं के लिए बागपत सांसद सत्यपाल सिंह और जिला पंचायत अध्यक्ष गौरव चौधरी के बड़े-बड़े होर्डिंग लगे हुए चौधरी चरणसिंह कांवड़ मार्ग पर भी कई जगह पूठखास, भोला झाल, जानी खुर्द पुल पर भी लगाए गए हैं।

06 32

जिसमें बागपत सांसद सत्यपाल सिंह को सांसद सतपाल मलिक कर दिया गया। जबकि उनका गौत्र तोमर है, लेकिन मलिक लिखकर उनके गौत्र बदलने की चर्चा क्षेत्र में काफी फैली हुई है। हालांकि इस संबंध में जिला पंचायत अध्यक्ष गौरव चौधरी के प्रतिनिधि अभिमन्यु सांगवान ने बताया कि उनके समर्थकों की ओर से यह गलत होर्डिंग लगा दिए गए थे। जिन्हें उतरवाकर नए सिरे से लगवाया जा रहा है।

बोर्ड पर एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नेडा, गृहमंत्री अमित शाह और प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ, जबकि दूसरी तरफ जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा, पूर्व क्षेत्रीय अध्यक्ष विवेक बेनीवाल, प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी की फोटो होर्डिंग पर लगाई गई है। पार्टी जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा का कहना है कि क्षेत्रीय अध्यक्ष सतेंद्र सिसोदिया का बोर्ड पर फोटो न लगना ये पार्टी प्रोटोकाल के खिलाफ है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments